विज्ञापन
Story ProgressBack

Dog Bite Case in Bhopal : इनाम घोषित होने के बाद, महापौर ने ली बैठक, कहा-इंटरनल व्यवस्था करेंगे मजबूत

MP News : कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में आवारा कुत्तों का ऐसा आतंक दिखा था कि यहां डेढ़ घंटे में 21 लोगों को इन कुत्तों का शिकार बनना पड़ा. घटना शहर के प्रमुख इलाके एमपी नगर की थी. यहां कुत्तों के हमले से घायल लोगों की भीड़ अस्पताल में जुट गई थी. आलम यह था कि अस्पताल में रखे एंटी रेबीज इंजेक्शन (Anti Rabies injection) ही कम पड़ गए थे.

Read Time: 6 mins
Dog Bite Case in Bhopal : इनाम घोषित होने के बाद, महापौर ने ली बैठक, कहा-इंटरनल व्यवस्था करेंगे मजबूत

Bhopal Street Dog Bite : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्ट्रीट डॉग्स का आंतक दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है. कुछ दिनों पहले ही भोपाल के अयोध्या नगर क्षेत्र में मजदूरी करने आए परिवार के सात महीने के बच्चे को कुत्तों ने नोच-नोचकर मार डाला. इस घटना के बाद प्रशासन एक बार फिर एक्टिव हुआ और एक्शन लेना शुरु किया. स्ट्रीट डॉग्स को लेकर आज भोपाल नगर निगम की महापौर ने बैठक बुलाई थी. डॉग बाइट्स के मामले को लेकर इस बार प्रशासन पेट लवर्स के खिलाफ भी सख्त है. कई पशु प्रेमियों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जा चुकी है. 

भोपाल में डॉग बाइट्स के मामले

भोपाल में डॉग बाइट्स के मामले

आंकड़े डरावने हैं

एक रिपोर्ट के अनुसार भोपाल शहर में हर दिन 60 से ज्यादा डॉग बाइटिंग के मामले होते हैं. सालभर में यह आंकड़ा 21 हजार के पार पहुंच जाता है. पिछले 5 सालों में आवारा कुत्तों ने शहर में चार मासूमों तो नोंच-नोचकर मार डाला. 2018 में डेढ़ साल के रजा को डॉग्स ने अपना शिकार बनाया तब से लेकर 2024 में 6 माह के केशव की मौत तक यह सिलसिला जारी है. जान गंवा चुके मासूमों के घावों का दर्द उनके परिजनों के मन और मस्तिष्क में हमेशा के लिए रह जाता है. 

कुछ दिनों पहले राजधानी भोपाल में आवारा कुत्तों का ऐसा आतंक दिखा था कि यहां डेढ़ घंटे में 21 लोगों को इन कुत्तों का शिकार बनना पड़ा. घटना शहर के प्रमुख इलाके एमपी नगर की थी. यहां कुत्तों के हमले से घायल लोगों की भीड़ अस्पताल में जुट गई थी. आलम यह था कि अस्पताल में रखे एंटी रेबीज इंजेक्शन (Anti Rabies injection) ही कम पड़ गए थे. 

राजधानी भोपाल में डॉग्स सबसे ज्यादा बच्चों को अपना शिकार बना रहे हैं. अगस्त 2022 में राजधानी के बांसखेड़ी इलाके में एक सात साल की बच्ची को कुत्ते ने नोंच दिया था. उसकी आंख और मुंह बुरी तरह से जख्मी हो गया था. इसके तीन दिन पहले उसकी बड़ी बहन को भी कुत्ते ने काटा था. तब बच्ची करीब 15 दिन तक हॉस्पिटल में भर्ती रही थी. अशोका गार्डन में भी घटना हो चुकी है. यहां घर के बाहर खेल रही 6 साल की मासूम को कुत्तों ने नोंच दिया था. बाग सेवनियां इलाके में भी चार साल की नन्हीं बच्ची पर 5 आवारा कुत्तों ने हमला कर दिया था. हाल ही में चौकी इमामवाड़ा कॉलोनी में 4 लोगों को कुत्तों ने काट लिया.

7 माह के बच्चे की मौत के बाद महापौर पर 1100 रुपए का इनाम

7 माह के बच्चे की मौत के बाद बीते शनिवार को बच्चे का शव निकलवाकर पोस्टमॉर्टम कराया गया तो इस मामले ने तूल पकड़ लिया. भोपाल नगर निगम की नेता प्रतिपक्ष शबिस्ता जकी ने महापौर मालती राय पर 1100 रुपए का इनाम घोषित कर दिया था. उनका कहना था कि आवारा कुत्तों का आतंक है और महापौर गायब हैं. वे आम लोगों की पहुंच से दूर हो गई हैं.

महापौर हेल्पलाइन में 300 से ज्यादा शिकायतें

भोपाल नगर निगम की मेयर मालती राय ने आज मंगलवार को महापौर हेल्पलाइन पर सुनवाई की, बता दें कि इस हेल्पलाइन में कुत्तों को लेकर कुल 300 से ज्यादा शिकायतें सामने आ चुकी हैं. शिकायतों को देखते हुए महापौर ने नगर निगम अधिकारियों को डॉग्स को पकड़ने के लिए टीम बढ़ाने को कहा है.

पेट लवर्स पर फोड़ा ठीकरा, व्यवस्था को मज़बूत करने की बात कही

आवारा कुत्तों को पकड़ने में बाधा बनने पर महापौर ने पेट लवर्स पर ठीकरा फोड़ा है. बैठक में उन्होंने वीडियो दिखाते हुए बताया कि पेट लवर्स कैसे नगर निगम की कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं. उन्होंने जानकारी दी कि कार्रवाई में बाधा बनने वाले सात लोगों पर FIR  भी दर्ज की गई है. उन्होंने कहा कि पेट लवर्स इसमें सहयोग नहीं करते हैं. हमने हर तरह से कोशिश कर ली कि सामंजस्य बिठाया जाए, लेकिन वो लोग (पेट लवर्स) मानते ही नहीं हैं.

महापौर ने कहा कि आगे जाकर एरिया को चिन्हित किया जाएगा. कुछ ऐसा बनाने का प्रयास करेंगे, जहां के जो डॉग प्रेमी हैं, वहां जाकर वे अपने पेट्स को लेकर पालें, जिससे भोपाल की जनता को नुक़सान ना पहुंचे. जितने भी संसाधन हैं उसके साथ लगातार हम डॉग्स की नसबंदी कर रहे हैं. नगर निगम के पास पूरा अमला है. फिलहाल पांच गाड़ियों पर आठ कर्मचारी जाते हैं. हमने उनकी व्यवस्था बनायी है, इसके अलावा इंटरनली हम व्यवस्था को और मज़बूत करेंगे.

कहां-कहां है ज्यादा आतंक?

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोलार रोड़ की बात करें तो नयापुरा, बीमाकुंज, गेहूंखेड़ा, ललितानगर में कुत्तों के झुंड दिखाई देते हैं. यहां वे लोगों के पीछे दौड़ लगाते हैं. शहर के बांसखेड़ी, अशोका गार्डन, कटारा हिल्स, वर्धमान ग्रीन पार्क, और करोंद इलाकों में भी स्ट्रीट डॉग्स का आतंक है. वहीं अवधपुरी, बीडीए कॉलोनी, करोंद, बैरागढ़, अयोध्या बायपास, जेके रोड, जिंसी, जहांगीराबाद, शाहजहांनाबाद समेत अन्य इलाकों में भी झुंड नजर आते रहते हैं.

यह भी पढ़ें : Cooch Behar Trophy : जबलपुर में जन्में कर्नाटक के 'प्रखर' ने युवराज सिंह का 24 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सीहोर में भगवान भैरव की प्रतिमा के साथ छेड़छाड़, बजरंग दल ने जताई नाराज़गी
Dog Bite Case in Bhopal : इनाम घोषित होने के बाद, महापौर ने ली बैठक, कहा-इंटरनल व्यवस्था करेंगे मजबूत
CM Mohan Yadav big decision regarding Simhastha 2028 Religious Trust and Religious Affairs Department will be shifted from Bhopal to Ujjain
Next Article
सिंहस्थ 2028 को लेकर CM मोहन यादव का बड़ा फैसला, उज्जैन शिफ्ट होगा धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग
Close
;