विज्ञापन
Story ProgressBack

अवध में आए राम..., दीपों से सजा नर्मदा तट, देर रात तक जबलपुर में चलता रहा रामोत्सव

Ram lala celebration Narmada Ghat: 22 जनवरी को अयोध्या की पावन धरा पर श्री रामलला की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की गई. इस मौके जबलपुर के ग्वारीघाट स्थित मां नर्मदा तट पर भव्य आरती के साथ दीपोत्सव मनाया गया.

Read Time: 4 min
अवध में आए राम..., दीपों से सजा नर्मदा तट, देर रात तक जबलपुर में चलता रहा रामोत्सव
नर्मदा तट दीपों से 'जय श्री राम' व हिन्दू धर्मानुसार सभी शुभचिन्हों को बनाकर मंदिर सजाया गया.

Ram lala celebration in Jabalpur: रामोत्सव पर जबलपुर (Jabalpur) के ग्वारीघाट (Gwarighat) स्थित मां नर्मदा तट (Narmada) पर दीपावली मनाई गई, जिससे पूरा नर्मदा तट श्रीराम के रंग में सज गया. ग्वारीघाट के सभी घाटों को 51 हजार दीपों की आकर्षक आकृति सजाया गया. मां नर्मदा की शंखनाद के साथ महाआरती का समापन किया गया. दीपोत्सव के साथ ही नर्मदा तट पर प्रदूषण रहित भव्य आतिशबाजी भी की गई. 

Ram lala celebration in Jabalpu

नर्मदा की महाआरती और शंखनाद के साथ ही लोगों ने दीपों को प्रज्वलित किया.

मां नर्मदा तट पर राम-राम 

ये दीपोत्सव लोक निर्माण मंत्री राकेश सिंह के आह्वान पर किया गया. वहीं जबलपुर की जनता पूरे उत्साह के साथ दीपोत्सव में शामिल होकर दीप प्रज्ज्वलित किए और पूरा नर्मदा तट जयश्रीराम के उद्घोष से गुंजायमान हो गया. राकेश सिंह ने पूज्य संतजनों, जनप्रतिनिधियों, जबलपुर के गणमान्य जनों, पार्टी पदाधिकारियों और प्रशानिक अधिकारियों के साथ मां नर्मदा की महाआरती की और शंखनाद के साथ ही लोगों ने दीपों को प्रज्वलित किया.

500 साल के बाद भगवान राम अपने मंदिर में विराजे

इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री राकेश सिंह ने कहा आज अयोध्या में 500 साल के बाद भगवान श्री राम अपने मंदिर में विराजमान हुए हैं और इस श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम आपने सीधे प्रसारण के माध्यम से देखा है.

Ram lala celebration in Jabalpu

नर्मदा तट दीपों से 'जय श्री राम' व हिन्दू धर्मानुसार सभी शुभचिन्हों को बनाकर मंदिर सजाया गया.

राकेश सिंह ने कहा, 'जब भगवान लंका विजय कर अयोध्या पहुंचे थे, तो उस समय देश में सभी लोगों ने दीपोत्सव मनाकर खुशी मनाई थी और हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आह्वान किया है कि आज के इस पुण्य दिवस को दीवाली की तरह मनाया जाए और हमने भी मां नर्मदा के पावन तट में जबलपुर के जनमानस के साथ दीपोत्सव मनाया है.

राकेश सिंह ने कहा, 'आज देश के हर नागरिक के लिए उत्साह, उमंग गौरव के साथ ही भावुक भी क्षण है, क्योंकि आज सैकड़ों वर्षों की प्रतीक्षा के बाद भगवान अपने भव्य भवन में विराजमान हुए है. यह हमारे पूर्वजों की तपस्या, बलिदान का प्रतिफल है, क्योंकि राम मंदिर के लिए हजारों लोगों ने अपना बलिदान दिया और हम सौभाग्यशाली है कि हमने प्रभु राम को मंदिर में विराजित होते देखा है.

राम नाम के उद्घोष से देश पवित्र हो रहा

उन्होंने कहा जब पूरा विश्व आज अयोध्या धाम की ओर देख रहा है, राम नाम के उद्घोष से पवित्र हो रहा है, तो मां भारती की सेवा के लिए हमारा समर्पण मजबूत संकल्प में तब्दील हो रहा है. हम विविधता से परिपूर्ण होने के बावजूद एक ऐसे नेतृत्व पर एकमत होकर, एकजुट हो जाते हैं, जो हमारे भारत को विकसित भारत में तब्दील कर रहा है.

ये भी पढ़े: पीएम मोदी बोले-'राम विवाद नहीं राम समाधान है, राम वर्तमान नहीं, राम अनंत काल हैं'

उन्होंने कहा अयोध्या धाम के परम वैभव से पहले श्री काशी विश्वनाथ, श्री महाकाल जी में सांस्कृतिक पुनर्स्थापना के हम साक्षी बन चुके हैं. अयोध्या धाम के बाद भी यह यात्रा अनवरत जारी रहेगी और देश के सभी प्रमुख स्थलों को उनका परम वैभव प्रदान करते हुए गतिमान रहेगी. इस यात्रा का नेतृत्व पीएम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं और हम सभी इसमें प्रण-प्राण से सहभागी बने हैं, यही हमारा सौभाग्य है.

राकेश सिंह ने इस मौके पर जबलपुर सहित पूरे प्रदेशवासियों को अयोध्या में भगवान श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा की शुभकामनाए दी.

ये भी पढ़े: अंबिकापुर हुआ राममय...सुबह निकाली गई भगवान की झांकियां, शाम को राम के नाम के आकार में जलाए गए एक लाख दिए

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close