विज्ञापन
Story ProgressBack

नौकरी के अवसर... PLI Scheme से आ सकता है 4 लाख करोड़ रुपये तक का निवेश, पैदा होंगी 2 लाख नौकरियां

Job Opportunities: रेटिंग एजेंसी आईसीआरए का कहना है कि मजबूत मांग और कंपनियों द्वारा आपूर्ति को बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के कारण मेटल, स्पेशलिटी केमिकल और ऑटोमोटिव सेक्टर में तेजी देखने को मिल सकती है.

नौकरी के अवसर... PLI Scheme से आ सकता है 4 लाख करोड़ रुपये तक का निवेश, पैदा होंगी 2 लाख नौकरियां

Employment News:  प्रोडक्शन-लिंक्ड इनिशिएटिव (Production Linked Incentives) यानी पीएलआई (PLI) स्कीम के जरिए आने वाले कुछ वर्षों में भारत में 3 से 4 लाख करोड़ रुपये तक का निवेश आ सकता है. भारत में मैन्युफैक्चरिंग और निर्यात बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के नेतृत्व में 14 सेक्टरों के लिए 1.97 लाख करोड़ रुपये की पीएलआई स्कीम चलाई जा रही है. इस निवेश से सेमीकंडक्टर (Semiconductor), सोलर मॉड्यूल (Solar Moudule) और फार्मा सेक्टर (Pharma Sector) में करीब 2 लाख नए रोजगार (Job Opportunities) पैदा हो सकते हैं. रेटिंग एजेंसी आईसीआरए (ICRA) का कहना है कि अर्थव्यवस्था में तेजी के साथ मध्यम अवधि में निजी सेक्टर के पूंजीगत खर्च में बढ़ोतरी होगी. इसकी वजह पीएलआई जैसी स्कीम का आना है.

ICRA का क्या कहना है?

आईसीआरए का कहना है कि मजबूत मांग और कंपनियों द्वारा आपूर्ति को बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के कारण मेटल, स्पेशलिटी केमिकल और ऑटोमोटिव सेक्टर में तेजी देखने को मिल सकती है.

सरकार द्वारा अब तक 14 सेक्टरों के लिए पीएलआई स्कीम शुरू की जा चुकी है. इसमें मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग और विशेष इलेक्ट्रॉनिक पार्ट्स, एपीआई और ऑटोमोबाइल और ऑटो पार्ट्स, टेलीकॉम और नेटवर्किंग प्रोडक्ट्स, इलेक्ट्रॉनिक/आईटी प्रोडक्ट्स, उच्च दक्षता वाले सोलर पीवी मॉड्यूल और अन्य सेक्टर शामिल है.

सरकार की ओर से कहा गया कि पीएलआई का उद्देश्य मुख्य सेक्टर में निवेश और नई टेक्नोलॉजी को आकर्षित करना है. साथ ही घरेलू स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देना है.

केंद्रीय मंत्री का क्या कहना है?

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री, पीयूष गोयल भी अपने मंत्रालय के अधिकारियों से कह चुके हैं कि पीएलआई और मुक्त व्यापार समझौते जैसे इनिशिएटिव लाने होंगे, जिससे घरेलू स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग और निर्यात को बढ़ावा दिया जा सके.

पीएलआई स्कीम से भारत में मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग को बड़ा सहारा मिला है. एप्पल इसका चमकता हुआ उदाहरण है.

एप्पल की ओर से वित्त वर्ष 2024 में कुल 14 अरब डॉलर के आईफोन का प्रोडक्शन किया गया है. इंडस्ट्री डेटा के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष के शुरुआती दो महीनों में करीब 2 अरब डॉलर के आईफोन का निर्यात किया गया है.

यह भी पढ़ें : Job Alert: फ्रेशर्स के लिए अच्छी खबर... तेजी से बढ़ रही हैं ये तीन नौकरियां, जानिए कहां हैं करियर के अवसर

यह भी पढ़ें : MPPSC Mains 2022 Result घोषित, इतने स्टूडेंट्स का हुआ इंटरव्यू के लिए चयन, यहां देखें अपना रोल नंबर

यह भी पढ़ें : TET: नेता प्रतिपक्ष ने भर्ती प्रक्रिया को लेकर मोहन सरकार को घेरा, कहा-काउंसलिंग के बाद देर क्यों?

यह भी पढ़ें : IT प्रोफेशनल्स के लिए खुशखबरी, इंदौर में तैयार हो रहे हैं दो नए IT Park, जानें- कैसी है तैयारी

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
संसद में गूंजेगा NEET Exam का मामला, विपक्ष ने की CBI जांच की मांग, सरकार ने भ्रष्टाचार से किया इनकार
नौकरी के अवसर... PLI Scheme से आ सकता है 4 लाख करोड़ रुपये तक का निवेश, पैदा होंगी 2 लाख नौकरियां
MPPSC Result 2024 Topper: Ragini Mishra of Rewa district topped MPPSC Veterinary exam, know her success story
Next Article
MPPSC 2024 Topper: वेटरनरी परीक्षा में रीवा की रागिनी मिश्रा बनीं MP Topper, जानिए इनकी सक्सेस स्टोरी
Close
;