विज्ञापन
Story ProgressBack

SBI Report: FY 14 से 23 के बीच भारत में पैदा हुए 12.5 करोड़ नए रोजगार, MSME में 20 करोड़ का आंकड़ा पार

RBI Data: SBI के मुख्य आर्थिक सलाहकार, सौम्य कांति घोष ने कहा कि ईपीएफओ और आरबीआई के केएलईएमएस डेटा (Capital, Labour, Energy, Materials and Service Data) की तुलना करने पर एक काफी अच्छा ट्रेंड निकल कर आ रहा है.

Read Time: 3 mins
SBI Report: FY 14 से 23 के बीच भारत में पैदा हुए 12.5 करोड़ नए रोजगार, MSME में 20 करोड़ का आंकड़ा पार

Employment Opportunities: भारत में वित्त वर्ष 14 (FY 14)  से लेकर वित्त वर्ष (FY 23) 23 के बीच 12.5 करोड़ रोजगार (Employment ) के अवसर पैदा हुए हैं, जो कि वित्त वर्ष 4 से वित्त वर्ष 14 (FY 04-14) के मुकाबले 4.3 गुना ज्यादा है. यह जानकारी भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) की रिपोर्ट (SBI Report) से मिली है. एसबीआई रिपोर्ट में बताया गया कि भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) यानी आरबीआई (RBI) के दशकीय नियुक्तियों के आंकड़े को देखा जाए तो वित्त वर्ष 14 से 23 के बीच 12.5 करोड़ नौकरियां (Jobs) पैदा हुईं, जबकि वित्त वर्ष 4 से लेकर वित्त वर्ष 14 के बीच यह आंकड़ा 2.9 करोड़ पर था. अगर कृषि से जुड़े रोजगार को अलग कर दिया जाए तो वित्त वर्ष 14 से वित्त वर्ष 23 के बीच मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर में 8.9 करोड़ रोजगार पैदा हुए. वहीं, वित्त वर्ष 4 से वित्त वर्ष 14 के बीच 6.6 करोड़ नए रोजगार के अवसर पैदा हुए.

SBI Report में और क्या कुछ कहा गया है?

SBI रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि एमएसएमई मंत्रालय (Ministry of Micro, Small and Medium Enterprises) के पास पंजीकृत सूक्ष्म, लघु और मध्यम एंटरप्राइजेज (MSME) में रोजगार का आंकड़ा 20 करोड़ को पार कर गया है.

एमएसएमई मंत्रालय (MSME Ministry) के उद्यम पोर्टल पर 4 जुलाई तक के आंकड़े के अनुसार, 4.68 करोड़ पंजीकृत एमएसएमई में 20.20 करोड़ लोगों को रोजगार मिल रहा है. इसमें से 2.3 करोड़ नौकरियां जीएसटी (GST) से छूट वाले अनौपचारिक सूक्ष्म इकाइयों में मिल रहा है. एमएसएमई में पिछले साल जुलाई के मुकाबले नौकरियों में 66 प्रतिशत का इजाफा हुआ है.

किसने क्या कहा?

एसबीआई के मुख्य आर्थिक सलाहकार, सौम्य कांति घोष ने कहा कि ईपीएफओ और आरबीआई के केएलईएमएस डेटा (Capital, Labour, Energy, Materials and Service Data) की तुलना करने पर एक काफी अच्छा ट्रेंड निकल कर आ रहा है.

ईपीएफओ का डेटा जो कि कम आय की नौकरियों के डेटा को संकलित करता है, उसका शेयर नौकरियों में घटकर वित्त वर्ष 24 में 28 प्रतिशत रह गया है, जो कि पिछले 5 वर्ष की अवधि (वित्त वर्ष 19 से लेकर वित्त वर्ष 23) में औसत 51 प्रतिशत था. यह दिखाता है कि लोगों को आसानी से अच्छी नौकरियां मिल रही हैं.

रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि सरकार द्वारा इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस किए जाने के कारण कंस्ट्रक्शन सेक्टर में रोजगार के अवसर में काफी इजाफा हुआ है.

यह भी पढ़ें : Job Alert: फ्रेशर्स के लिए अच्छी खबर... तेजी से बढ़ रही हैं ये तीन नौकरियां, जानिए कहां हैं करियर के अवसर

यह भी पढ़ें : Recruitment Scam: जबलपुर के बैंक में बड़ा भर्ती घोटाला, कलेक्टर ने 27 नियुक्तियों को किया निरस्त

यह भी पढ़ें : MPPSC Topper: वन सेवा परीक्षा में टॉप कर रीवा के शुभम शर्मा रेंजर के बाद एसीएफ के पद पर चयनित

यह भी पढ़ें : Poshan Tracker App: डाटा में गड़बड़ी का आरोप, नाराज आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा, जानिए पूरा मामला

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP में अवैध चेक पोस्ट खत्म करने पर ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने पुडुचेरी से कहा- थैंक यू CM मोहन
SBI Report: FY 14 से 23 के बीच भारत में पैदा हुए 12.5 करोड़ नए रोजगार, MSME में 20 करोड़ का आंकड़ा पार
Adani Group Latest News The first mother ship arrived at Vizhinjam port of Adani Group, created history, Adani Ports and SEZ Ltd
Next Article
Adani Group के विझिनजाम पोर्ट पर आयी पहली मदर शिप, रच दिया इतिहास, मिली ग्लोबल पहचान
Close
;