विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 23, 2023

चांद पर 'जय हो'.... चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला चौथा देश बन गया भारत

आखिरकार वो घड़ी आ गई जिसका इंतजार पूरी दुनिया सांसें थाम कर रही थीं. भारत ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना लैंडर लॉन्च कर न सिर्फ इतिहास रच दिया बल्कि ऐसा करने वाला वो दुनिया का पहला देश भी बन गया. प्रधानमंत्री मोदी ने इसे देश के 140 करोड़ लोगों की धड़कनों का सामर्थ्य बताया है.

चांद पर 'जय हो'.... चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला चौथा देश बन गया भारत

आखिरकार वो घड़ी आ गई जिसका इंतजार पूरी दुनिया सांसें थाम कर रही थीं. भारत ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना लैंडर लॉन्च कर न सिर्फ इतिहास रच दिया बल्कि ऐसा करने वाला वो दुनिया का पहला देश भी बन गया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organization) के चंद्रयान-3 का लैंडर विक्रम (Lander Vikram)मॉड्यूल बुधवार को शाम 6 बजकर 4 मिनट पर चांद की धरती पर उतरा. इसके साथ ही भारत अमेरिका, चीन और पूर्व सोवियत संघ के बाद चंद्रमा की सतह पर ‘सॉफ्ट लैंडिंग' करने वाला दुनिया का चौथा देश बन गया.  चंद्रयान 3 को 14 जुलाई 2023 को दोपहर 2.30 बजे लॉन्च किया गया था. पीएम मोदी ब्रिक्स समिट के लिए साउथ अफ्रीका में हैं. लेकिन चंद्रयान-3 की लैंडिंग देखने के लिए वे इसरो के साथ वर्चुअली जुड़े. लैंडिंग की सफलता पर उन्होंने कहा कि ये क्षण जीत के चंद्रपथ पर चलने का है. ये क्षण 140 करोड़ धड़कनों के सामर्थ्य का है. ये क्षण भारत के उदयमान भाग्य के आह्नवान का है. अमृतकाल की प्रथम प्रभा में सफलता की ये अमृतवर्षा हुई है. भारत में हम सभी लोग धरती को मां कहते हैं और चंद्रमा को मामा. अब हम चंदा मामा दूर के नहीं कहेंगे बल्कि कहेंगे चंदा मामा अब एक टूर के हैं. 
चंद्रयान-3 के आखिरी 19 मिनट सांसें रोक देने वाले रहे. लैंडिंग शुरू होते समय इसकी गति 6,048 किमी/घंटा थी लेकिन चांद को छूते समय यह 10 किमी/घंटे से भी कम हो गई. अहम ये है कि चांद पर उतरने के लिए स्थान का चुनाव ISRO कमांड सेंटर से नहीं हुआ बल्कि लैंडर ने ही अपने कंप्यूटर से इस जगह का चुनाव किया. 

चंद्रयान-3 मिशन को पूरा करने में 700 करोड़ रुपये से भी कम लागत आई है. ये मिशन 615 करोड़ रुपये में फाइनल हो गया है. ये रकम हाल ही में रिलीज हुई फिल्म Oppenheimer के बजट से भी कम है. Oppenheimer फिल्म बनाने में करीब 830 करोड़ रुपये की लागत आई. वहीं, फिल्म Barbie तो चंद्रयान 3 की लागत से करीब दोगुने 1200 करोड़ रुपये में बनी है. 
 

ये भी पढ़ें: 'चंदा मामा' से मिलने पहुंचा भारत, मध्यप्रदेश के इन 'तीन नायकों' का है अहम योगदान

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NGT का निर्देश- MP के सभी कलेक्टर ग्रीन पटाखा फर्जीवाडे पर दंडात्मक एक्शन लें, QR कोड भी जांचें
चांद पर 'जय हो'.... चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला चौथा देश बन गया भारत
Odisha gets new Chief Minister after 24 years, Mohan Charan Majhi takes oath as CM
Next Article
ओडिशा को 24 साल के बाद मिला नया मुख्यमंत्री, BJP के मोहन चरण माझी ने ली सीएम पद की शपथ
Close
;