विज्ञापन
Story ProgressBack

खुद को सरकारी बाबू बताकर लोगों को लगाते थे चूना, पुलिस ने शातिर ठगों के गिरोह का किया भंडाफोड़ 

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में ठगी करने वाले एक गिरोह का राजफास हुआ है. इस गिरोह के ठग खुद को सरकारी अधिकारी बताकर लोगों के साथ ठगी करते थे. पुलिस ने मामले का खुलासा होते ही तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है. खबर के मुताबिक, बीते एक साल में तीनों ठगों ने आस-पास के राज्यों से करीब 150 लोगों को ठगी का शिकार बनाया है.

खुद को सरकारी बाबू बताकर लोगों को लगाते थे चूना, पुलिस ने शातिर ठगों के गिरोह का किया भंडाफोड़ 

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में शातिर तरीके से ठगी करने वाले एक गिरोह का राजफास हुआ है. इस गिरोह के ठग खुद को सरकारी अधिकारी बताकर लोगों के साथ ठगी करते थे. पुलिस ने मामले का खुलासा होते ही तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है. खबर के मुताबिक, बीते एक साल में तीनों ठगों ने आस-पास के राज्यों से करीब 150 लोगों को ठगी का शिकार बनाया. सभी आरोपी पुलिस को चकमा देने के लिए अपने ठिकानों को बदल-बदल कर ठगी किया करते थे. जब अंबिकापुर थाने में इस गिरोह के बारे में खबर मिली तो पुलिस अलर्ट हो गई. जिसके बाद पुलिस ने शातिर आरोपियों को धर-दबोचा. आरोपियों के पास से 2 बाइक, 3 मोबाइल, 1 कंप्यूटर और करीब 24 हज़ार रुपये ज़ब्त हुए हैं. जानिए पूरा मामला: 

सरकारी अफसर बताकर लोगों से करते थे ठगी 

दरअसल, अंबिकापुर पुलिस को खबर मिली थी कि तीन युवक खुद को केंद्र सरकार के अधिकारी बताकर भोले-भाले लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं. पुलिस ने तफ्तीश का दायरा बढ़ाते जब छानबीन की तो इस गिरोह का भंड़ाफोड़ हो गया. गिरफ्तार हुए आरोपियों की पहचान रोहित तिवारी (25), कृष्णा कुमार पाण्डेय (35) और गौतम पाण्डेय (30) के तौर पर हुई है. सभी के पास से 2 बाइक, 3 मोबाइल, 1 कंप्यूटर और करीब 24 हज़ार रुपये बरामद हुए हैं. आरोप है कि इस सिंडिकेट के ठगों ने अभी तक 30 लाख से ज़्यादा की ठगी की है. जालसाजों ने अब तक धनबाद, रांची, गुमला, बोकारो, जशपुर, पत्थलगांव में घूम-घूम कर ऐसे करीब 150 लोगों से ठगी की है. पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने ठगी की वारदात को कबूल किया है. मामले का खुलासा होते ही पुलिस ने आरोपियों को काबू करते हुए कोर्ट में पेश किया है. 

ये भी पढ़े: MP: कमलनाथ के BJP में जानें की अटकलों के बीच करीबी सज्जन सिंह ने दिया बड़ा इशारा

जालसाज ऐसे देते थे ठगी की वारदात को अंजाम 

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि किस तरह से सभी प्लानिंग के तहत ठगी किया करते थे. सभी आरोपी बड़े ही शातिर तरीके से आसपास के अंडर-कंस्ट्रक्शन वाली जगहों पर जाते थे. वहां पर जाकर खुद को  आवास योजना के तहत पर्यवेक्षण अधिकारी बताकर लोगों को निर्माण कार्य में गड़बड़ी की बात कहकर डराते थे. इसके बाद आरोपी मामले को रफा-दफा करने के नाम पर उनसे  20-30 हजार रूपये की ठगी कर लेते थे. लोगों को शक न हो इसके लिए आरोपी मौके पर चल रहे कंस्ट्रक्शन और आस-पास की तस्वीरें भी क्लिक करते थे. आरोपियों के खिलाफ Indian Penal Code की धारा 420, 34, के तहत मामला दर्ज करते हुए जेल भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी है. 

ये भी पढ़े: MP में भी कांग्रेस को बड़ा झटका? अपने बेटे के साथ कमलनाथ के BJP में शामिल होने की अटकलें तेज

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Chhattisgarh News: दो भाईयों ने मिलकर चचेरे भाई की कर दी हत्या, फिर पुलिस से बचने के लिए शव नदी में फेंका...हुए गिरफ्तार
खुद को सरकारी बाबू बताकर लोगों को लगाते थे चूना, पुलिस ने शातिर ठगों के गिरोह का किया भंडाफोड़ 
Is there a delay in cabinet expansion due to factionalism in Chhattisgarh BJP? Know what CG CM said?
Next Article
CG Cabinet Expansion: क्या छत्तीसगढ़ भाजपा में गुटबाजी के कारण मंत्रिमंडल विस्तार में देरी हो रही है? जानिए CG CM ने क्या कहा?
Close
;