विज्ञापन
Story ProgressBack

Chhattisgarh Liquor Scam: सुप्रीम कोर्ट में ED नहीं साबित कर पाई 2000 करोड़ रुपये का घोटाला, इसलिए मामला हुआ रद्द

Chhattisgarh Liquor Scam News: सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ में 2,000 करोड़ रुपये के कथित शराब घोटाले में भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के पूर्व अधिकारी अनिल टुटेजा और उनके बेटे यश के खिलाफ धन शोधन का मामला सोमवार को रद्द करते हुए कहा कि अपराध से कोई संपत्ति अर्जित नहीं की गई.

Read Time: 3 mins
Chhattisgarh Liquor Scam: सुप्रीम कोर्ट में ED नहीं साबित कर पाई 2000 करोड़ रुपये का घोटाला, इसलिए मामला हुआ रद्द

Chhattisgarh Liquor Scam Supreme Court: देश में इन दिनों दिल्ली शराब घोटाले (Delhi liquor scam) की गूंज है. इसके आरोप में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने जेल में डलवा रखा है. ईडी (ED) मामले को गंभीर बता रही है. वहीं, दिल्ली सरकार (Delhi Government) के मुखिया अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी AAP इसे राजनीतिक साजिश करार दे रहे हैं. इस बीच ऐसे ही शराब घोटाले के छत्तीसगढ़  (Chhattisgarh) के एक मामले में ईडी को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने बड़ा झटका दिया है.

दरअसल, उच्चतम न्यायालय ने छत्तीसगढ़ में 2,000 करोड़ रुपये के कथित शराब घोटाले में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के पूर्व अधिकारी अनिल टुटेजा और उनके बेटे यश के खिलाफ धन शोधन का मामला सोमवार को रद्द करते हुए कहा कि अपराध से कोई संपत्ति अर्जित नहीं की गई.

कोर्ट ने कहा कोई मामला ही नहीं बनता है

न्यायमूर्ति अभय एस ओका और न्यायमूर्ति उज्जल भुइयां की पीठ ने यह उल्लेख करते हुए पिता-पुत्र के खिलाफ शिकायत रद्द कर दी कि उनपर मुख्य अपराध का कोई मामला नहीं है और न ही धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत कोई मामला बनता है. पीठ ने कहा, ‘‘चूंकि कोई अपराध नहीं हुआ है, इसलिए पीएमएलए की धारा 2 (यू) के तहत परिभाषित अपराध से संपत्ति अर्जित नहीं हो सकती. यदि अपराध से कोई संपत्ति अर्जित नहीं की गई है, तो पीएमएलए के तहत अपराध का मामला ही नहीं बनता है.'' आपको बता दें कि इससे पहले शीर्ष अदालत ने पांच अप्रैल को संकेत दिया था कि यह पिता-पुत्र के खिलाफ धन शोधन के मामले को रद्द कर सकती है.

ईडी नए सिरे से जुटाएगी सबूत

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से न्यायालय में पेश हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने संकेत दिया कि जांच एजेंसी अपनी पड़ताल के दौरान अतिरिक्त सामग्री बरामद होने के मद्देनजर आरोपियों के खिलाफ एक नई शिकायत दर्ज कर सकती है. पीठ ने कहा कि यह कार्यवाही में हस्तक्षेप नहीं करने जा रही, जिसके शुरू होने की संभावना है.

ये भी पढ़ें- छिंदवाड़ा में आंधी के बीच शिवराज की सभा, कहा-कांग्रेस का फ्यूल खत्म, राहुल टेक ऑफ नहीं होने वाले मैडम सोनिया

ईडी ने लगाए थे ये गंभीर आरोप

विशेष पीएमएलए अदालत में दाखिल अभियोजन के आरोपपत्र में ईडी ने कहा था कि पूर्व आईएएस अधिकारी अनिल टुटेजा छत्तीसगढ़ में अवैध शराब आपूर्ति में लिप्त गिरोह के सरगना हैं. धन शोधन का यह मामला, दिल्ली की एक अदालत में आयकर विभाग द्वारा दाखिल एक आरोपपत्र से उपजा था. संघीय एजेंसी ने आरोप लगाया था कि राज्य में शराब बनाने वालों से रिश्वत ली गई थी.

ये भी पढ़ें- Rewa Lok Sabha: जनार्दन मिश्रा नाम के दो उम्मीदवार, एक का चुनाव चिन्ह कमल फूल तो दूसरे का गोभी का फूल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
System का शर्मनाक चेहरा! रेप के आरोपी ने रसूख के दम पर पीड़िता और उसके परिवार पर ही दर्ज करा दिए आठ FIR, हाईकोर्ट ने दिया बड़ा झटका
Chhattisgarh Liquor Scam: सुप्रीम कोर्ट में ED नहीं साबित कर पाई 2000 करोड़ रुपये का घोटाला, इसलिए मामला हुआ रद्द
PM Oath Ceremony LIVE Updates | PM Modi Oath Ceremony LIVE | PM Narendra Modi LIVE
Next Article
PM Modi Shapath Grahan Samaroh LIVE: इन 71 मंत्रियों के साथ नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार ली पीएम पद की शपथ
Close
;