विज्ञापन
Story ProgressBack

सरकार ध्यान दे! छत्तीसगढ़ में 800 से ज्यादा MBBS डॉक्टर कर रहे हैं नियुक्ति का इंतजार

छत्तीसगढ़ में डॉक्टरों की नियुक्ति में अनदेखी का मामला सामने आया है. यहां के ग्रामीण क्षेत्र में डॉक्टरों की बेहद कमी (Shortage of Doctors)है उसके बावजूद राज्य के 800 से ज़्यादा MBBS डॉक्टर रूरल सर्विस बॉण्ड भरने का इंतज़ार कर रहे हैं. इसका मतलब है कि इतने डॉक्टरों की राज्य में सीधे-सीधे कमी है. इन डॉक्टरों का कहना है तीन महीने पहले ही उनकी इंटर्नशिप पूरी हो चुकी है फिर भी उनके बॉण्ड की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है.

सरकार ध्यान दे! छत्तीसगढ़ में 800 से ज्यादा MBBS डॉक्टर कर रहे हैं नियुक्ति का इंतजार

Chhattisgarh News: शिक्षा और स्वास्थ्य मूलभूत आवश्यकता है लेकिन छत्तीसगढ़ में डॉक्टरों (Chhattisgarh Health Service)की नियुक्ति में अनदेखी का मामला सामने आया है. यहां के ग्रामीण क्षेत्र में डॉक्टरों की बेहद कमी (Shortage of Doctors)है उसके बावजूद राज्य के 800 से ज़्यादा MBBS डॉक्टर रूरल सर्विस बॉण्ड (Rural Service Bond)भरने का इंतज़ार कर रहे हैं. इसका मतलब है कि इतने डॉक्टरों की राज्य में सीधे-सीधे कमी है. इन डॉक्टरों का कहना है तीन महीने पहले ही उनकी इंटर्नशिप पूरी हो चुकी है फिर भी उनके बॉण्ड की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है. जिससे ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधा पर खासा असर पड़ रहा है. परेशानी ये है कि जिन छात्रों को PG करना है उनका समय भी ख़राब हो रहा है. उनका कहना है कि बॉण्ड में देरी होगी तो उनका नुक़सान भी होगा क्योंकि इससे आगे की पढ़ाई पर असर पड़ेगा. 

Latest and Breaking News on NDTV

क्या है रूरल सर्विस बॉण्ड?

दरअसल छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधा बेहतर करने के मक़सद से डॉक्टरों की भर्ती योजना शुरू की थी. परेशानी ये थी कि डॉक्टर ग्रामीण क्षेत्र में सेवा देना नहीं चाहते थे. इसलिए सरकार ने रूरल सर्विस बॉण्ड शुरू किया.इस बॉण्ड के तहत राज्य के संसाधनों से चल रहे गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज से जो भी MBBS करेगा उसे ग्रामीण क्षेत्र में दो साल की सेवा देना अनिवार्य कर दिया गया. इस प्रक्रिया में नियम बनाया गया जो छोड़ कर जाएगा उसे बॉण्ड की राशि सरकार को देनी होगी.बता दें कि साल 2013 तक बॉण्ड की राशि पांच लाख थी. राशि ज़्यादा नहीं होने की वजह से कई डॉक्टर पाँच लाख बॉण्ड राशि देकर चले जाते थे. जिसे देखते हुए सरकार ने सुधार किया और फिर 2014 में ये राशि बढ़ा कर 25 लाख कर दी. इसके बाद हालात में सुधार आए हैं.

छत्तीसगढ़ में जल्द होगी 750 डॉक्टरों की भर्ती

दूसरी तरफ राज्य के स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने कहा है कि प्रदेश में जल्द ही 750 डॉक्टरों की भर्ती होगी. इसमें से 500 डॉक्टरों की भर्ती आगामी 10 दिनों में ही कर दी जाएगी. ये भर्तियां रूरल सर्विस बॉन्ड के जरिए की जाएंगी. इसके अलावा बाकी 250 डॉक्टरों की भर्ती पीएससी के जरिए होगी. यदि ये ऐलान पूरे होते हैं तो राज्य में डॉक्टरों की कमी कुछ हद तक पूरी हो जाएंगी. 

ये भी पढ़ें: CG News: शराब पीकर नेतागिरी करना पड़ा भारी, दुर्ग में पार्षद पति की लोगों ने कर दी ये दुर्गत

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
छत्तीसगढ़ में कैसे होगा शिक्षा का विकास ? जब बिना टीचर के चलेंगे स्कूल
सरकार ध्यान दे! छत्तीसगढ़ में 800 से ज्यादा MBBS डॉक्टर कर रहे हैं नियुक्ति का इंतजार
Chhattisgarh  Weather Updates today less than average water fall in 20 districts when Badra will rain heavily rains have increased the worries of farmers
Next Article
बारिश ने बढ़ाई किसानों की चिंता... छत्तीसगढ़ के 20 जिलों में औसत से कम गिरा पानी, जानें कब तेज बरसेगा बदरा?
Close
;