विज्ञापन
Story ProgressBack

बेटी के इलाज के लिए जमीन जायदाद सब लगा दिया दांव पर, सरकार से टूटी आस, अब कौन...

CG News: बेटी के इलाज के लिए जनकपुर से लेकर एम्स तक का चक्कर काट चुके मां-बाप अब थक चुके हैं. घर की जमीन जायदाद सब दांव पर लगा दिए, पर इलाज नहीं हो पाया. सरकार से भी आस टूट गई. अब इनकी मदद कौन करेगा ये एक बड़ा सवाल है? दरअसल ये मामला छत्तीसगढ़ के मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले का है. जहां एक बैगा परिवार इलाज को लेकर परेशान है.

Read Time: 4 mins
बेटी के इलाज के लिए जमीन जायदाद सब लगा दिया दांव पर, सरकार से टूटी आस, अब कौन...
बेटी के इलाज में जमीन जायदाद सब लगा दिया दांव पर, अब मदद की है दरकरार

Chhattisgarh Hindi News: छत्तीसगढ़ के मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले में एक बैगा परिवार ने अपनी बच्ची के इलाज के लिए पूरी संपत्ति दांव पर लगा दी है. जैसे-जैसे बच्ची बड़ी हो रही है, वैसे-वैसे इसकी बीमारी भी बढ़ रही है, जिसे देखकर माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है. परिवार ने बच्ची के इलाज के लिए अपनी पूरी संपत्ति दांव पर लगा दी है. हालात यह है कि खाने के लाले पड़ने लगे हैं. माता-पिता जब इस बच्ची को देखते हैं, तो उनकी आत्मा भी तड़प उठती है.  

 दाने-दाने के लिए मां-बाप हुए मोहताज

ग्रामीण आपस में सहयोग कर उसे एम्स हॉस्पिटल रायपुर तक भेजे पर इतनी कम राशि में उसका इलाज नहीं हो सका. मजबूरन बैगा परिवार को अपने घर के मवेशियों और अपनी जमीन गिरवी रखकर बच्ची का इलाज शुरू कराना पड़ा. लेकिन अब परिवार सारी संपत्ति को दांव पर लगाकर दाने-दाने का मोहताज हो गया है.

सवाल यह है कि आखिर कब तक शासन-प्रशासन ऐसे गरीब परिवार की अनदेखा करता रहेगा. करोड़ों अरबों रुपये के विकास कार्यों का दावा करने वाले जनप्रतिनिधि उन ग्रामीण क्षेत्रों में शायद ही पहुंच पाते हैं. इस बैगा परिवार का भरण पोषण कैसे होता है और ये कैसी जिंदगी जीते हैं. इससे किसी को कोई मतलब नहीं है. 

अब बच्ची का इलाज कैसे कराएं?

बच्ची की मां गणेशिया ने कहा कि मैं जनकपुर हॉस्पिटल से लेकर राजधानी के एम्स हॉस्पिटल तक अपनी बच्ची को लेकर गई, लेकिन वहां भी यह कह दिया गया कि अभी बच्ची कमजोर है. इसे खिलाओ-पिलाओ. इसकी देखरेख करो, लेकिन मेरे पास खुद के खाने के पैसे नहीं हैं. रोज कमाने और रोज-खाने में अपनी इस नन्ही बच्ची का इलाज कैसे कराएं. गांव वाले ने मेरी मदद की. मुझे आपस में सहयोग कर रायपुर तक बच्चों के इलाज के लिए भेजा, लेकिन आज तक कोई भी जनप्रतिनिधि सामने नहीं आया.

 कोई सुनने वाला नहीं है

बच्ची के पिता सुखराम ने बताया कि मैं अपनी बच्ची के लिए अपने मवेशी और जमीन तक को दांव पर लगा दिया हूं. लेकिन अब तक मेरी बच्ची का इलाज नहीं हो पाया. जनप्रतिनिधि के दरवाजे भी खटखटा चुका हूं. लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है.

बच्ची के पिता सुखराम ने बताया कि मैं अपनी बच्ची के लिए अपने मवेशी और जमीन तक को दांव पर लगा दिया हूं. लेकिन अब तक मेरी बच्ची का इलाज नहीं हो पाया. जनप्रतिनिधि के दरवाजे भी खटखटा चुका हूं. लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है. कोई देखने वाला नहीं है.आज जिस हालात में मेरी बच्ची है, उसे देख देखकर आत्मा भी रोने लगती है. क्या करूं किसके पास जाऊं? कौन मदद करेगा समझ नहीं आ रहा है.

ये है बीमारी: बच्ची के सिर में है काफी सूजन

गांव के सरपंच राजेंद्र सिंह का कहना है कि मेरे पास बैगा परिवार अपनी बच्ची की समस्या लेकर आया था. उसके जन्म से ही सिर में सूजन है. इसके इलाज के लिए कोई जनप्रतिनिधि अब तक सामने नहीं आया है. जैसे-तैसे यह बच्ची के इलाज के लिए भटक  रहे हैं, लेकिन आज तक इसका इलाज नहीं हो पाया है.

रायपुर एम्स अस्पताल में इलाज के लिए भेजा था

डॉक्टर का कहना है कि बच्ची की बीमारी जन्म से है. बच्ची को लेकर उसके माता-पिता मेरे पास आए थे, जांच कर एक बार हमने इसे रायपुर एम्स अस्पताल में इलाज के लिए भेजा था. जहां बच्ची का वजन कम होना पाया गया, जिस वजह से उसे एनेस्थीसिया देना उचित नहीं था. इसलिए बच्ची का वजन बढ़ाने के लिए मां-बाप को बोला गया था,बच्ची का वजन बढ़ जाएगा तब ही उसका इलाज हो पाएगा.

ये भी पढ़ें- Exit Poll Live: पूर्व सीएम शिवराज ने खरगे के दावे पर ली चुटकी, कहा- दो-तीन दिन कह लेने दो, फिर EVM पर फोड़ेंगे ठीकरा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
New Electricity Tarrif: चुनाव खत्म होते ही सरकार ने दिया बड़ा झटका, इतने रुपये महंगी हुई बिजली
बेटी के इलाज के लिए जमीन जायदाद सब लगा दिया दांव पर, सरकार से टूटी आस, अब कौन...
Exit Poll Results 2024 BJP Wins Lok Sabha Election Congress Leader Charandas Mahant allegedly Says Manipulation of EVM
Next Article
Exit Poll Results 2024 में भाजपा की जीत, कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री महंत ने EVM पर किया ये बड़ा खुलासा
Close
;