विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 01, 2023

शाजापुर में बसों की टाइमिंग को लेकर हुआ विवाद: जमकर चली लाठियां, कई घायल

इस पूरे विवाद के बाद एहतियातन बस स्टैंड पर पुलिस जवान तैनात किए गए हैं. कोतवाली थाना प्रभारी संतोष बाघेला ने बताया कि यह पूरा विवाद बसों की टाइमिंग को लेकर हुआ था.

शाजापुर में बसों की टाइमिंग को लेकर हुआ विवाद: जमकर चली लाठियां, कई घायल

शाजापुर जिला मुख्यालय के बस स्टैंड पर आज बसों की टाइमिंग को लेकर जमकर बवाल हुआ और दो पक्ष आपस में भिड़ गए. दोनों पक्षों के बीच हुए इस विवाद में जमकर लाठी डंडे चले. जिसके चलते काफी देर तक बस स्टेंड पर अफरा तफरी का माहौल दिखा. विवाद की जानकारी मिलते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची. अतिरिक्त बल और वज्र वाहन बुलवाकर विवाद शांत किया गया. लाठी डंडों के साथ जमकर हुए इस विवाद में दो लोग घायल हो गए हैं, जिन्हे सिर पर गंभीर चोट के बाद उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया. जहां उनका उपचार जारी है.

जानकारी के मुताबिक बस स्टेंड पर दो पक्षों के बीच बस संचालक के बीच काफी समय से यह विवाद चल रहा था. इसको लेकर दोनों पक्षों को थाने भी बुला कर दोनों पक्षों को समझाया गया. इसके बावजूद दोनों पक्ष आपस में फिर से भीड़ गए.

बसों की टाइमिंग को लेकर आए दिन होता है विवाद

शाजापुर जिला मुख्यालय से इंदौर, भोपाल, उज्जैन, गुना, ग्वालियर आगरा, कोटा सहित कई महानगरों और बेरछा शुजालपुर आगर मालवा मोहन बड़ोदिया जैसे कई रूटों पर बसों का संचालन होता है, परिवहन विभाग द्वारा परमिट जारी करते समय बस के संचालन का समय निर्धारित किया जाता है. लेकिन निर्धारित समय पर स्टैंड पर ना पहुंचने या स्टेंड से ना  रवाना होने पर और सवारियां बिठाने को लेकर बस संचालकों के बीच आए दिन विवाद होता है कई बार बसों की टाइमिंग मिलाने के लिए ड्राइवर तेज रफ्तार में बसे चलाते हैं जिससे हादसे की आशंका बनी रहती है. इसके अलावा बस स्टैंड क्षेत्र में बसों के संचालन को लेकर कई एजेंट भी सक्रिय रहते हैं.

परिवहन विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल 

इस पूरे विवाद के बाद एनडीटीवी ने जब जिला परिवहन अधिकारी से संपर्क साधा तो उनका मोबाइल बंद आया,  उसके बाद परिवहन विभाग के ही बाबू जगदीश कौशल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि परमिट जारी करते समय बसों का समय निर्धारित किया जाता है. हम समय-समय पर जांच करते हैं कि बसे समय पर चल रही है या नहीं.. हालांकि परिवहन विभाग को इतने बड़े विवाद की जानकारी ही नहीं थी स्टाफ की कमी बताकर परिवहन विभाग की कार्यप्रणाली हमेशा सुस्त रही.

कोतवाली पुलिस मामले की जांच में जुटी

इस पूरे विवाद के बाद एहतियातन बस स्टैंड पर पुलिस जवान तैनात किए गए हैं. कोतवाली थाना प्रभारी संतोष बाघेला ने बताया कि यह पूरा विवाद बसों की टाइमिंग को लेकर हुआ था. इस घटना में जो भी घायल हुए हैं उनका मेडिकल करवाया जा रहा है, बयान दर्ज कर इस मामले में आवश्यक कार्रवाई की जाएगी !

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
शाजापुर : 7 साल के मासूम बच्चे का शव तालाब में मिला, रविवार से ही था लापता
शाजापुर में बसों की टाइमिंग को लेकर हुआ विवाद: जमकर चली लाठियां, कई घायल
Shajapur: X-rays are being done on paper in the district hospital! CMO refuses even after seeing the evidence
Next Article
शाजापुर: जिला अस्पताल में कागज पर हो रहे हैं एक्स-रे ! सबूत देखकर भी CMO का इनकार
Close
;