विज्ञापन
Story ProgressBack

Madhya Pradesh News: डायरिया की जद में आया पूरा गांव, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में मचा हड़कंप

Diarrhea in Mandla: मंडला जिले का ठारका गांव डायरिया की चपेट में बूरी तरह से आ गया है. यहां मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है. जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी लगातार मामले की निगरानी कर रहे हैं.

Madhya Pradesh News: डायरिया की जद में आया पूरा गांव, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में मचा हड़कंप
पूरे गांव में फैली डायरिया

Diarrhea Spreads in MP: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मंडला (Mandla) जिले के ग्राम ठारका में फैली डायरिया की बीमारी के बाद हड़कंप मच गया है. इसके बाद से पीएचई, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासनिक अमला पूरे मामले की लगातार मॉनिटरिंग कर रहा है. वहीं, उल्टी -दस्त के मरीजों की संख्या में इजाफा ही होता जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) का अमला गांव में कैंप किये हुए है. जरूरी दवाइयों का वितरण लगातार किया जा रहा है. ग्रामीणों का कहना है कि दूषित पानी (Polluted Drinking Water) ही संक्रमण की वजह है. फिलहाल ग्रामीणों की जांच, पानी के सैंपल ओर प्रशासनिक जांच पड़ताल की औपचारिकता की जा रही है.

ग्राम ठरका प्रदेश के कैबिनेट और पीएचई की मंत्री सम्पतिया उइके का गांव है. जंहा पीएचई विभाग की लापरवाही देखने को मिली है.

नल जल योजना से आता है गंदा पानी

ग्रामीण लोगों का कहना है कि बीमारी की वजह प्रदूषित पानी ही है. ग्रामीण यह भी बताते है कि नल जल योजना से जो पानी उनके घरों तक आता है, वह गंदा ओर मटमैला होता है. जबकि पानी की टंकी ओर पाइप लाइनों की सफाई आज ही कराई जा रही है, जब उक्त घटना सामने आई है. ग्रामीण परेशान है और बीमारों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है.

अधिकारियों ने किया गांव में भ्रमण

अधिकारियों ने किया गांव में भ्रमण

सफाई देने में जुटे है अधिकारी

पीएचई के EE ग्रामीणों के सामने नल जल योजना का पानी पीकर सफाई देने और यह बताने की कोशिश कर रहे है कि पानी में किसी तरह का संक्रमण नहीं है. इतना ही नहीं, पीएचई विभाग ने तो पानी का सैम्पल लेकर अपने ही विभाग की लैब से टेस्ट कर पानी को स्वच्छ बता दिया.

ये भी पढ़ें :- Road Accident: एमपी के सतना में दो बसों की टक्कर से मचा हाहाकार, इतने की मौत और 30 से ज्यादा हुए घायल

मैजिस्ट्रेट ने गांव का किया भ्रमण

पूरे मामले के बाद अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी ने ग्राम का भ्रमण किया. ग्रामीणों से बात की ओर अस्पताल में भर्ती पीड़ितों से बात की और बताया कि प्रथम दृष्टया बीमारी की वजह पानी हो सकता है. फिर भी जांच रिपोर्ट आने के बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकेगा.

ये भी पढ़ें :- Negligence: एक माह के नवजात के पैर से अलग हुआ पंजा, मां-बाप ने लगाए जिला अस्पताल के डॉक्टरों पर आरोप

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
गौसेवकों के लिए खुशखबरी: CM मोहन यादव का ऐलान, अब MP में दस से अधिक गाय पालने वालों को मिलेगा अनुदान
Madhya Pradesh News: डायरिया की जद में आया पूरा गांव, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में मचा हड़कंप
Beggars Free Campaign: Bhopal will be beggar free, team formed on the instructions of the collector, action will also be taken against those who give alms
Next Article
Beggars Free Campaign: भिखारी मुक्त होगा भोपाल, कलेक्टर के निर्देश पर टीम गठित, भीख देने वालों पर भी होगी कार्रवाई!
Close
;