विज्ञापन
Story ProgressBack

Ujjain:  महाकाल के जयकारे लगाते हुए जलती आग पर चले श्रद्धालु, जानें क्या है इसकी वजहें 

Madhya Pradesh News: उज्जैन के नीलकंठ महादेव मंदिर में सालों से धधकती आग, अंगारों पर चलने की परम्परा चली आ रही है. हर साल यहां होली के मौके पर यह आयोजन होता है. आइए जानते हैं इसके पीछे क्या है वजहें?  

Read Time: 2 min
Ujjain:  महाकाल के जयकारे लगाते हुए जलती आग पर चले श्रद्धालु, जानें क्या है इसकी वजहें 
फोटो-धधकती हुई चूल और उस पर चलते श्रध्दालु.

Baba Mahakal Mandir Ujjain : होली के अवसर पर जिले के एक गांव में नीलकंठ महादेव मंदिर में पारंपरिक (चूल) धधकती आग का आयोजन हुआ. यहां 100 से ज्यादा श्रद्धालु अपनी मन्नत पूरी होने के बाद बाबा महाकाल (Baba Mahakal)के जयकारे लगाते हुए धधकती चूल पर चले. ये परम्परा कई सालों से चली आ रही है. 

ऐसी है यह परंपरा 

उज्जैन से करीब 70 किलोमीटर दूर भाटपचलाना के समय बालोदा कोरन गांव के नीलकंठ महादेव मंदिर पर सदियों से होली पर चूल का आयोजन होता है. मान्यता है कि लोग अपनी मनोकामना के लिए भोलेनाथजी को खुश करने के लिए या फिर मन्नत पूरी होने पर धन्यवाद देने के लिए चूल पर चलते है. इसी परंपरा के चलते होली के दिन सोमवार को नीलकंठ महादेव मंदिर में विशेष पूजा के बाद चूल जलाई गई. इस धधकती चूल पर 50 से ज्यादा युवती, महिला और इतने ही युवक चले. लेकिन कोई भी नहीं झुलसा.

ये भी पढ़ें Mahakal Mandir में आगजनी के बाद मारपीट का वीडियो आया सामने, रंगों के साथ बरसे घूंसे! कहां गई सुरक्षा व्यवस्था?

200 सालों से चली आ रही है  परंपरा

ग्रामीणों के अनुसार चूल की परंपरा 200 वर्षों से अधिक से निभाई जा रही है. इसके लिए 3 फीट चौड़ा और 15 फीट लंबा गड्ढा खोदा जाता है. फिर होली की दोपहर में नीलकंठ महादेव बाबा की पूजा कर बबुल की लकड़ी से चल जलाई जाती है. बालोदा गांव के किसान दिनेश मोरिया ने बताया कि शाम 5 बजे बाद लोग जय महाकाल और हर महादेव के जयकारे के साथ बारी-बारी से चूल पर चलने लगते हैं. इस दौरान तीन बार में 40 से 45 किलो घी डाला जाता है. उन्होंने कहा कि वे खुद चार बार चूल पर चल चुके हैं. लेकिन कभी पैर नहीं जले. शराब पीकर चूल पर चलने वालो के साथ घटना होती है. 

ये भी पढ़ें Bhopal की सिद्धि मिश्रा ने किया बड़ा कारनामा, महज ढाई साल की उम्र में पहुंची माउंट एवरेस्ट बेस कैंप

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close