विज्ञापन
Story ProgressBack

Satna में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए शुरू हुई निशुल्क कोचिंग, इस साल 100 लड़कियां हुईं चयनित

Free Coaching For Competitive Exams: सतना कलेक्टर अनुराग वर्मा ने जिले में बच्चियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए दी जा रही निशुल्क कोचिंग की गुरुवार को शुरुआत की. इस साल कोचिंग के लिए 100 बच्चियों का चयन किया गया है.

Read Time: 3 mins
Satna में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए शुरू हुई निशुल्क कोचिंग, इस साल 100 लड़कियां हुईं चयनित

Free Coaching For Girls in Satna: महिला एवं बाल विकास विभाग (Women and Child Development Department) के बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ अभियान (Beti Bachao Beti Padhao Abhiyan) के तहत मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना जिले (Satna) में बेटियों को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है. इसके लिए बेटियों को परीक्षा तैयारी के लिए निशुल्क कोचिंग दी जा रही है. जिला कलेक्टर अनुराग वर्मा (Satna Collector Anurag Verma) ने गुरुवार को 12वें सीजन की निशुल्क कोचिंग (Free Coaching For Competitive Exams) की शुरुआत की. स्क्रीनिंग के लिए पहुंची ढाई सौ बेटियों में से 100 बेटियों का चयन प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग के लिए किया गया है. इन बेटियों को ट्रेन्ड टीचर्स मैथ्स, रीजनिंग और जीके जैसे विषयों की तैयारी कराएंगे. इसके साथ ही आने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं में इन बेटियों को शामिल कराया जाएगा, ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें,

वहीं इस संबंध में डीपीओ सौरभ सिंह ने बताया कि गुरुवार को आयोजित हुए कार्यक्रम में यह तय किया गया है कि टीचरों के अलावा बीच-बीच में शासकीय सेवकों के द्वारा भी आवश्यक टिप्स दिए जाएंगे, ताकि लड़कियां प्रोत्साहित हो सकें.

Free Coaching For Girls in Satna

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने गुरुवार को निशुल्क कोचिंग की शुरुआत की.

10 बेटियों का हो चुका है चयन

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत चलाए जा रहे इस अभियान में निशुल्क कोचिंग प्राप्त करने वाली 10 बेटियां विभिन्न सरकारी नौकरियों में पहुंच चुकी हैं. कोचिंग में मुख्य तौर पर फोकस पुलिस और मिलिट्री के एग्जाम में होता है. ऐसे में मार्शल आर्ट अकादमी भी होमगार्ड भी फिजिकल ट्रेनिंग के लिए सहयोग कर रहा है.

नारी निकेतन कैंपस में चलेगी कोचिंग

डीपीओ के मुताबिक, इससे पहले निशुल्क कोचिंग की शुरुआत एमएलबी से हुई थी, अब इसे जवाहर नगर के नारी निकेतन परिसर में शिफ्ट किया गया है. जहां पर लड़कियों के बैठने की समुचित व्यवस्था है और उन्हें आवागमन में भी किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी. इसके अलावा इस कोचिंग पर प्रशासनिक अधिकारियों की भी नजर रहेगी.

कलेक्टर बोले- अच्छे नतीजे आ रहे

एनडीटीवी से चर्चा करते हुए कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा कि महिला बाल विकास विभाग और टीचरों के द्वारा छात्राओं को बेहतर कोचिंग दी जा रही है, जिससे काफी सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे हैं. हर बैच में लगभग 100 लड़कियों को निशुल्क कोचिंग दी जा रही है. जिससे उन्हें काफी फायदा मिल रहा है. कलेक्टर वर्मा ने अपने अनुभव का जिक्र करते हुए कहा कि यह काफी अच्छा प्रयास है कि हम लोग बच्चियों की इस प्रकार से मदद कर पा रहे हैं.

छात्रों में खुशी का माहौल

कक्षा 12वीं पास करने के बाद हर कोई चाहता है कि वह आगे जो भी पढ़ाई करें, वह उसके करियर निर्माण में सहायक साबित हो. सतना में निशुल्क कोचिंग का यह प्रयास छात्राओं के लिए काफी मददगार साबित हो रहा है. एनडीटीवी से बातचीत के दौरान छात्रा द्रौपदी कुशवाहा ने बताया कि कलेक्टर सर का मार्गदर्शन और विभाग की पहल काफी सराहनीय है. इससे हम सभी छात्राओं को आत्मनिर्भर बनने में सहयोग मिल रहा है.

यह भी पढ़ें - PM Awas Yojana के तहत चुनाव से पहले आनन-फानन में दी गई चाबियां, अब तक लोगों को नहीं मिला घर का स्वामित्व

यह भी पढ़ें - सब्जियों पर महंगाई की मार से किचन का बिगड़ा 'तड़का', टमाटर का दाम 80 पार, आलू-प्याज ने भी निकाले 'आंसू'

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Adani Group के विझिनजाम पोर्ट पर आयी पहली मदर शिप, रच दिया इतिहास, मिली ग्लोबल पहचान
Satna में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए शुरू हुई निशुल्क कोचिंग, इस साल 100 लड़कियां हुईं चयनित
Beneficiaries of Mukhyamantri Bal Ashirwad Yojana are helpless, the blessings of the scheme have not reached their accounts for 10 months
Next Article
मुख्यमंत्री बाल आशीर्वाद योजना के लाभार्थी हुए 'लाचार', खातों में 10 महीने से नहीं पहुंचा योजना का 'आशीर्वाद'
Close
;