विज्ञापन
Story ProgressBack

MP में विकास 'कछुआ चाल', 10 सालों से नहीं बना एक नर्सिंग कॉलेज

MP Nursing Scam : एक तरफ नर्सिंग को लेकर पूरे प्रदेश में चर्चाएं जोरों पर चल रही हैं... तो वहीं, दूसरी तरफ सीधी जिले में शासकीय नर्सिंग कॉलेज ईमारत का कंस्ट्रक्शन काम कछुआ चाल के चलते चर्चा का विषय बना हुआ है.

Read Time: 3 mins
MP में विकास 'कछुआ चाल', 10 सालों से नहीं बना एक नर्सिंग कॉलेज
MP में विकास 'कछुआ चाल', 10 सालों में नहीं बना एक नर्सिंग कॉलेज

MP News in Hindi : एक तरफ नर्सिंग को लेकर पूरे प्रदेश में चर्चाएं जोरों पर चल रही हैं... तो वहीं, दूसरी तरफ सीधी जिले में शासकीय नर्सिंग कॉलेज ईमारत का कंस्ट्रक्शन काम कछुआ चाल के चलते चर्चा का विषय बना हुआ है. बीते एक दशक से चल रहा कंस्ट्रक्शन का काम अभी तक पूरा नहीं हो सका है. इसके चलते, अंडर कंस्ट्रक्शन ईमारत में ही कक्षाएं चलाई जा रही हैं और हॉस्टल के नाम पर निजी ईमारत मालिकों को लाखों रुपए की पेमेंट की गई है. इससे शासन-प्रशासन की सरकारी राशि को दोगुनी चपत लग रही है.

किस साल हुआ था टेंडर पास ?

बताया गया है कि साल 2014 में नर्सिंग कॉलेज बनाने के लिए 14 करोड़ रुपए पास किए गए थे. रूही कंस्ट्रक्शन कंपनी को कंस्ट्रक्शन का काम सौंपा गया, जिसने पेमेंट लेने के बाद काम को अधूरा छोड़ दिया. इसके बाद फिर से टेंडर हुआ और अब कृष्णा कंस्ट्रक्शन कंपनी को 6 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की गई है. इतनी राशि खर्च होने के बावजूद भी अभी तक बिल्डिंग का कंस्ट्रक्शन का काम पूरा नहीं हो पाया है.

कब होगा कॉलेज का कंस्ट्रक्शन ?

शासकीय नर्सिंग कॉलेज सीधी की प्रिंसिपल कमलेश पटेल ने बताया कि ईमारत निर्माण कार्य पूरा न होने से काफी परेशानी हो रही है. साल 2020-21 का बैच अंडर कंस्ट्रक्शन ईमारत में ही चलाना पड़ा. लैब की भी सुविधा नहीं रही और हॉस्टल के लिए भी निजी ईमारत को किराए पर लिया गया था, जिसका हर महीने डेढ़ लाख रुपए किराया भुगतान होता था. उन्होंने कहा कि अगर ईमारत का निर्माण कार्य पूर्ण हो जाए तो काफी सुविधा मिलेगी. आने वाले दिनों में नर्सिंग की कक्षाएं प्रारंभ होंगी लेकिन अगर हालात ऐसे ही रहे तो काफी मुश्किल होगी.

ये भी पढ़ें :

शहडोल के नर्सिंग कॉलेजों का कुछ ऐसा है हाल, पढ़िए NDTV की पड़ताल

10 सालों से बन रहा नर्सिंग कॉलेज

सीधी नर्सिंग कॉलेज के कंस्ट्रक्शन में हो रही लेटलतीफी से छात्रों और कॉलेज प्रशासन को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. लंबे समय से चल रहे इस कंस्ट्रक्शन काम के कछुआ चाल ने इस जरूरी प्रोजेक्ट को अटका रखा है, जिससे शिक्षा पर भी असर पड़ रहा है. 

ये भी पढ़ें :

MP Nursing Scam : कब जारी होगा रिजल्ट ? अधर में लटका छात्रों का भविष्य

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Railway: ट्रेन का खाना खाते हैं तो यात्रीगण कृपया हो जाएं अलर्ट! जांच में हुआ होश उड़ा देने वाला खुलासा, फूड एजेंसी पर भी लगा जुर्माना
MP में विकास 'कछुआ चाल', 10 सालों से नहीं बना एक नर्सिंग कॉलेज
BJP leader Kailash Vijayvargiya close supporters Suspicious death Indore police starts investigation
Next Article
MP News: इंदौर में एक और बीजेपी नेता की संदिग्ध मौत ! कैलाश विजयवर्गीय का बताया जा रहा है खास
Close
;