विज्ञापन
Story ProgressBack

Mohan Cabinet Expansion: 6 बार के MLA, पढ़ाई में गोल्ड मेडलिस्ट... जानें मोहन सरकार में कैबिनेट मंत्री बने ओबीसी नेता रामनिवास रावत के बारे में

MP Cabinet Expansion: मोहन यादव सरकार का दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार आज हुआ. ओबीसी नेता रामनिवास रावत ने राजभवन में कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली.

Read Time: 3 mins

Mohan Cabinet Expansion: रामनिवास रावत ने राजभवन में मंत्री पद की शपथ ली. (फोटो - IANS)

Mohan Yadav Cabinet Expansion: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मोहन सरकार (Mohan Yadav Government) का दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार सोमवार सुबह 9 बजे हुआ. श्योपुर के विजयपुर से 6 बार के विधायक रामनिवास रावत (Ramniwas Rawat) ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ले ली है. खास बात यह है कि रावत हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे. हालांकि, अभी भी उन्होंने कांग्रेस विधायक के रूप में विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है. रविवार को मुख्यमंत्री कार्यालय (Madhya Pradesh CMO) से फोन आने के बाद से ही रामनिवास रावत के समर्थकों और शुभचिंतकों में बधाई देने का तांता शुरू हो गया था. रावत रविवार रात को ही अपने पूरे काफिले के साथ भोपाल के लिए रवाना हो गए थे. आइए जानते हैं मोहन सरकार में कैबिनेट मंत्री बनने वाले रामविलास रावत के बारे में...

Latest and Breaking News on NDTV

ऐसा रहा राजनीतिक सफर

रामनिवास रावत ने अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत 1986 में की थी. तब वे युवा कांग्रेस से जुड़े थे. इसके बाद उन्होंने 1990 में विजयपुर से पहली बार विधायकी का चुनाव लड़ा, जिसमें उन्हें जीत मिली. इसके बाद 1993 में भी वे विजयपुर से विधायक चुने गए. दूसरी बार विधायक बनने के साथ ही उन्हें दिग्विजय सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया. इसके बाद रावत 2003, 2008 और 2013 में भी विजयपुर से विधायक बने. रामनिवास रावत ने 2018 का विधानसभा चुनाव भी लड़ा, लेकिन इस बार उन्हें बहुत ही छोटे मार्जिन से हार का सामना करना पड़ा. इसके बाद रावत ने मुरैना लोकसभा सीट से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा. उन्हें बीजेपी के दिग्गज नेता नरेंद्र सिंह तोमर ने हरा दिया था.

पिछले साल के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट से वे छठी बार विजयपुर से विधायक बने. हालांकि, लोकसभा चुनाव के बीच ही उन्होंने कांग्रेस को बड़ा झटका देते हुए बीजेपी का दामन थाम लिया. रावत इसी साल 30 अप्रैल को मुख्यमंत्री मोहन यादव की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुए हैं. रामनिवास रावत मध्य प्रदेश की राजनीति का बड़ा ओबीसी चेहरा हैं.

विधानसभा चुनाव में हार के बाद बने थे कार्यकारी अध्यक्ष

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में करारी हार झेलने के बाद कांग्रेस में उथल-पुथल थी. कांग्रेस नेता कमलनाथ के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद रामनिवास रावत को कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया था. हालांकि, जीतू पटवारी के पीसीसी चीफ बनते ही उन्होंने मध्य प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था.

रामनिवास रावत का व्यक्तिगत जीवन 

रामनिवास रावत का जन्म 21 जनवरी 1960 को विजयपुर के सुनवई तहसील में हुआ था. उनके पिता का नाम गणेश प्रसाद रावत और मां का नाम भंती बाई है. रावत ने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद विज्ञान स्नातक की डिग्री हासिल की. इसके बाद उन्होंने इतिहास और एलएलबी में मास्टर्स की डिग्री हासिल की. खास बात यह है कि वे दोनों में ही गोल्ड मेडलिस्ट रहे. रावत की शादी उमा रावत से हुई और उनके दो बेटे और दो बेटियां हैं.

यह भी पढ़ें - BJP Meeting: बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में हारे हुए बूथों को जीतने पर दिया जोर, दो प्रस्ताव हुए पारित

यह भी पढ़ें - MP Weather: आज भी मध्य प्रदेश में भारी बारिश, IMD का अलर्ट; बिजली गिरे तो कैसे करें खुद का बचाव? यहां जानें

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP Weather: आज भी मध्य प्रदेश में भारी बारिश, IMD का अलर्ट; बिजली गिरे तो कैसे करें खुद का बचाव? यहां जानें
Mohan Cabinet Expansion: 6 बार के MLA, पढ़ाई में गोल्ड मेडलिस्ट... जानें मोहन सरकार में कैबिनेट मंत्री बने ओबीसी नेता रामनिवास रावत के बारे में
10 years ago 26 files of land scam worth crores missing in GDA no action taken even after FIR
Next Article
12 साल पहले GDA में हुए करोड़ों रुपये की जमीन घोटाले की 26 फाइल गायब, FIR के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई
Close
;