विज्ञापन
Story ProgressBack

खजुराहो-सूरत जैसा न हो जाए खेला ! इसलिए कांग्रेस ने BJP के सामने बदली रणनीति, जानिए इनकी राजनीति?

Lok Sabha Polls 2024: कांग्रेस अब कोई भी मौका छोड़ने के मूड में नहीं है. मध्य प्रदेश के निमाड़-मालवा अंचल की सीटों पर नजर डाले तो इंदौर, खंडवा, खरगोन और अन्य जगहों पर कांग्रेस में इस तरह का प्रयोग किया है.

Read Time: 4 mins
खजुराहो-सूरत जैसा न हो जाए खेला ! इसलिए कांग्रेस ने BJP के सामने बदली रणनीति, जानिए इनकी राजनीति?

लोकसभा 2024 का चुनाव जैसे-जैसे परवान चढ़ रहा है, वैसे-वैसे सियासी दल भी अपने पक्ष में घेराबंदी करते नजर आ रहे हैं. कांग्रेस (Congress Party) ने सूरत (Surat Lok Sabha Seat) और खजुराहो (Khajuraho Lok Sabha Seat) की घटना के बाद अब अपनी रणनीति में बदलाव किया है. कांग्रेस ने सतर्कता बरतते हुए चौथे चरण (Lok Sabha 4th Phase Election) में होने वाले चुनाव में अपने सभी घोषित प्रत्याशियों के साथ ही कांग्रेस के डमी कैंडिडेट के नामांकन फार्म (Nomination Form) जमा कराए हैं. कांग्रेस अब कोई भी मौका छोड़ने के मूड में नहीं है. मध्य प्रदेश के निमाड़-मालवा अंचल की सीटों पर नजर डाले तो इंदौर, खंडवा, खरगोन और अन्य जगहों पर कांग्रेस में इस तरह का प्रयोग किया है. 

खजुराहो-सूरत में क्या हुआ था?

खजुराहो लोकसभा क्षेत्र और सूरत लोकसभा क्षेत्र में जिस तरह से विपक्षी प्रत्याशियों को लेकर घटनाएं घटित हुई हैं, उस से ही घबरा कर कांग्रेस ने अपनी नई रणनीति बनाई है.

कांग्रेस का कहना है कि यह सब इसलिए करना पड़ रहा है क्योंकि आज BJP जिस तरह से सत्ता चल रही है वो निर्वाचन आयोग का लाभ लेने का फायदा भी लेते है. जैसे खजुराहो और सूरत में उन्होंने फॉर्म रिजेक्ट कर दिए. एक पार्टी के उम्मीदवार को चुनाव लड़ने से वंचित किया है. इस प्रकार की घटिया हरकत को देखते हुए हमने डमी फॉर्म डलवाए हैं.

इंदौर में इन्हें बनाया डमी

मालवा क्षेत्र की बड़ी सीट यानी इंदौर लोकसभा क्षेत्र (Indore Lok Sabha Seat) से कांग्रेस ने डॉक्टर अक्षय कांति बम (Dr Akshay kanti bam) को प्रत्याशी बनाया है, जिन्होंने अपना नामांकन फार्म जमा किया है. वहीं 25 अप्रैल गुरुवार को कांग्रेस पार्टी की ओर डमी प्रत्याशी के तौर पर इंदौर दुग्ध संघ के अध्यक्ष किसान नेता मोती सिंह पटेल ने नामांकन फार्म जमा किया है.

खंडवा सीट पर इन पर है हाथ

खंडवा में भी 25 अप्रैल यानी चौथे चरण के नामांकन के आखिरी दिन गुरुवार को कांग्रेस प्रत्याशी नरेंद्र पटेल ने दो नाम निर्देशन पत्र और कांग्रेस के डमी केंडिडेट के रूप में किशोर महाजन ने भी एक नाम निर्देशन फार्म जमा कराया. अंतिम दिन कुल 10 नाम निर्देशन फार्म जमा हुए. अब तक 20 फार्म जमा हुए हैं. 29 अप्रैल की नाम वापसी के बाद मैदान में बचे प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट होगी. वहीं भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी ज्ञानेश्वर पाटिल ने भी चार सेट नामांकन जमा करा चुके हैं.

गुरुवार को कलेक्टर ऑफिस पहुंचे कांग्रेस प्रत्याशी नरेंद्र पटेल से जब मीडिया ने पूछा कि दोबारा नामांकन जमा कराने की नौबत क्यों आई है? तो उनका कहना था कि इस समय जो घटनाक्रम चल रहे हैं, उसके चलते एहतियात के रूप में नामांकन जमा कराया है. कांग्रेस प्रत्याशियों के नामांकन रिजेक्ट किए जा रहे हैं, उनमें कई त्रुटियां बतायी जा रही हैं. इसलिए ऐसा किया. साथ ही डमी कैंडीडेट के रूप में भी एक नामांकन जमा कराया है.

खरगोन में कौन?

इधर खरगोन लोकसभा में भी 19 अप्रैल को कांग्रेस के अधिकृत प्रत्यशी पोरलाल खरते ने अपना नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किया था. उसके बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी गजेन्द्र सिंह पटेल ने 24 अप्रैल को दो नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किये. 24 अप्रैल को कांग्रेस की और से अनिल दरबार रावत का भी डमी नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किया गया है.

यह भी पढ़ें : दूसरे चरण में MP की इन 6 सीटों पर आज हो रही है वोटिंग, जानिए इनका गणित, कांग्रेस-BJP कौन किस पर भारी

यह भी पढ़ें : क्या शरिया कानून से देश चलना चाहिए? गुना-राजगढ़ में कांग्रेस पर अमित शाह का हमला, कहा-हम लागू करेंगे UCC

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
23 जून को राज्य सेवा एवं राज्य वन सेवा का Prelims Exam, जानिए समय
खजुराहो-सूरत जैसा न हो जाए खेला ! इसलिए कांग्रेस ने BJP के सामने बदली रणनीति, जानिए इनकी राजनीति?
6 people died and 11 injured in road accidents in Sehore Neemuch and Balaghat
Next Article
एमपी में तीन अलग-अलग सड़क हादसे में 6 लोगों की मौत, 11 हुए घायल
Close
;