विज्ञापन
Story ProgressBack

खजुराहो से क्या निर्विरोध जीतेंगे BJP के VD शर्मा? अब रिटायर्ड IAS व लोकसभा प्रत्याशी ने ECI को लिखा पत्र

Lok Sabha Election: रिटायर्ड IAS ने लिखा कि कृपया उचित जांच के लिए निर्देशित करें और जांच के बाद कार्रवाई करने के लिए निर्देशित करें. ऐसी परिस्थिति में चुनाव के दौरान या चुनाव के बाद मेरे जीवन में कोई अप्रिय घटना घट सकती है और ऐसे तत्व मेरे साथ कोई खेल खेल सकते हैं. जैसा कि इन व्यक्तियों की बातचीत से निष्कर्ष निकला है, अन्य उम्मीदवारों पर भी अपनी उम्मीदवारी वापस लेने का दबाव डाला जा सकता है.

Read Time: 5 mins
खजुराहो से क्या निर्विरोध जीतेंगे BJP के VD शर्मा? अब रिटायर्ड IAS व लोकसभा प्रत्याशी ने ECI को लिखा पत्र

MP News: खजुराहो लोकसभा सीट (Khajuraho) मध्य प्रदेश की वीआईपी सीटों (VIP Seat) में से एक है. इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा (VD Sharma) चुनावी मैदान पर हैं. वहीं विपक्ष की ओर से यह सीट इंडी गठबंधन I.N.D.I.A. (I.N.D.I Alliance) के खाते में गई थी. जिस पर समाजवादी पार्टी की तरफ से मीरा यादव (SP Candidate Meera Yadav) को चुनावी मैदान में उतारा गया था. लेकिन 5 अप्रैल शुक्रवार को मीरा यादव का नामांकन रद्द (Nomination Canceled) हो गया जिससे यह सीट विपक्ष विहीन हो गई. अब खजुराहो से बीजेपी प्रत्याशी बीडी शर्मा निर्विरोध चुनाव जीतने के रास्ते पर आते हुए दिख रहे हैं. क्योंकि खजुराहो से रिटायर्ड आईएएस (Retired IAS) राजा भैया प्रजापति (Raja Bhaiya Prajapati) ने चुनाव आयोग (Election Commission) से भी शिकायत की है कि उनका फॉर्म वापस करने के लिए लगातार उन पर दबाव बनाया जा रहा है.

पहले देखिए Retired IAS का शिकायती पत्र

Lok Sabha Election 2024: खजुराहो लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे रिटायर्ड IAS का शिकायती पत्र

Lok Sabha Election 2024: खजुराहो लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे रिटायर्ड IAS का शिकायती पत्र

Election Commission of India को ये लिखा है...

खजुराहो से रिटायर्ड IAS राजाभैया प्रजापति प्रत्याशी ने की चुनाव आयोग से शिकायत कर लिखा है कि उपर फार्म बापस लेने के लिए लगातार दवाब बनाया जा रहा है. उन्होंने पत्र में लिखा है कि

प्रति,

मुख्य चुनाव आयुक्त,
भारत चुनाव आयोग
निर्वाचन सदन,

अशोक रोड, नई दिल्ली पिन-110001

विषय- मध्य प्रदेश राज्य, 08 खजुराहो लोकसभा (लोगों का सदन) से उम्मीदवारी वापस लेने के दबाव के संबंध में 

आदरणीय महोदय,

मैंने ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक द्वारा गठित उम्मीदवार के रूप में अपने दो नामांकन पत्र रिटर्निंग ऑफिसर 08 खजुराहो (कलेक्टर पन्ना) के समक्ष 03.04.2024 को दाखिल किए, लेकिन 05 अप्रैल 2024 को स्क्रूटनी के दिन और 05 अप्रैल 2024 को स्क्रूटनी के बाद श्री राम विशाल बाजपेयी निवासी ग्राम कटरा एवं पूर्व अध्यक्ष, जनपद पंचायत गौरिहार, जिला-छतरपुर ने मुझे दोपहर 1.36 बजे अपने मोबाइल फोन नंबर 9754427020 से मेरे मोबाइल नंबर 9752068493 पर फोन किया और 16 मिनट 04 सेकंड बात की और मुझ पर पर्चा वापस लेने का दबाव डाला. खजुराहो लोकसभा से उम्मीदवारी और मध्य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) में किसी भी बोर्ड या निगम से अध्यक्ष पद की पेशकश की, लेकिन मैंने किसी की भी पेशकश से इनकार कर दिया. श्री राम विशाल बाजपेयी भाजपा कार्यकर्ता हैं और उसके बाद दोपहर 1:55 बजे राजा द्विवेदी (स्थानीय नाम) निवासी ग्राम खड्डी ने मुझे अपने मोबाइल नंबर 9617488948 से फोन किया, जो एक भाजपा कार्यकर्ता (BJP Worker) हैं और उनका इरादा वही था जो श्री राम विशाल बाजपेयी का था और उन्होंने 50 सेकंड बात की और फिर मैंने बात करने से इनकार कर दिया. इस मामले पर उनसे और उसके बाद दोपहर 2:26 बजे श्री अमित बाजपेयी उपाध्यक्ष, जनपद पंचायत (मध्यवर्ती पंचायत) गौरिहार, जिला छतरपुर ने मुझे अपने मोबाइल नंबर 9753574342 से फोन किया और 04 मिनट बात की और उन्होंने मुझ पर उम्मीदवारी वापस लेने का दबाव डाला. 08 खजुराहो लोकसभा और सरकार में किसी भी बोर्ड या निगम की अध्यक्षता के लिए किसी भी पद की पेशकश की, लेकिन मैंने उनके प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया और उनसे कहा कि मैं चुनाव (Election) लड़ूंगा. ये सभी लोग भाजपा से हैं और इस दबाव के पीछे कौन है यह जांच का विषय है. पिछले दो व्यक्तियों ने मुझसे मेरे घर पर व्यक्तिगत रूप से संपर्क करने का आग्रह किया लेकिन मैंने उन्हें किसी भी व्यक्तिगत संपर्क के लिए मना कर दिया.

रिटायर्ड IAS ने लिखा कि कृपया उचित जांच के लिए निर्देशित करें और जांच के बाद कार्रवाई करने के लिए निर्देशित करें. ऐसी परिस्थिति में चुनाव के दौरान या चुनाव के बाद मेरे जीवन में कोई अप्रिय घटना घट सकती है और ऐसे तत्व मेरे साथ कोई खेल खेल सकते हैं. जैसा कि इन व्यक्तियों की बातचीत से निष्कर्ष निकला है, अन्य उम्मीदवारों पर भी अपनी उम्मीदवारी वापस लेने का दबाव डाला जा सकता है.

आपरेशन खजुराहो शुरू, VD शर्मा ने डाला डेरा

छतरपुर जिले की खजुराहो लोकसभा सीट पर उसे समय अफरा-तफरी हो गई. जब इंडी गठबंधन की तरफ से मध्य प्रदेश में इकलौती सीट सपा के खाते में पहुंची और सपा ने अपना प्रत्याशी मीरा दीप नारायण यादव को बनाया अचानक ही उनका शुक्रवार को फॉर्म निरस्त हो गया और इसके बाद ही भारतीय जनता पार्टी एक्शन मोड में नजर आने लगी. खजुराहो से लोकसभा प्रत्याशी एवं भाजपा विजय प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा संगठन के एक माहिर खिलाड़ी हैं और सूत्र बताते हैं कि उन्होंने कल से ही खजुराहो में अपना डेरा जमा लिया और उठा फटक की खबरों ने जोर पकड़ लिया, साम-दाम-दंड-भेद के आधार पर अब यह कयास लगाए जा रहे हैं कि इन सभी आधारों पर जिनके द्वारा खजुराहो लोकसभा में अपना निर्वाचन के लिए फॉर्म भर गया है उनके वापस करवाने का भी कम शुरू हो गया है, भाजपा के लोग सक्रिय भूमिका में हैं कि किसी भी कीमत पर अब विष्णु दत्त शर्मा को खजुराहो लोकसभा से निर्विरोध सांसद चुने जाना चाहिए. खजुराहो से रिटायर्ड आईएएस राजा भैया प्रजापति ने चुनाव आयोग से भी शिकायत की है कि उनका फॉर्म वापस करने के लिए लगातार उन पर दबाव बनाया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: 

** Lok Sabha चुनाव प्रचार के दौरान आदिवासी महिलाओं के साथ गाना गाते नजर आए पूर्व CM शिवराज, लाडली बहनों के साथ बिताया समय

** PM ने कहा-मोदी ने तय कर लिया कि सरकार जो घर देगी वो महिलाओं के नाम पर होगा, कांग्रेस के घोषणा पत्र पर ये कहा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
जबलपुर में गोवंश का सिर मिलने से सनसनी, जांच के दायरे में 4 युवक
खजुराहो से क्या निर्विरोध जीतेंगे BJP के VD शर्मा? अब रिटायर्ड IAS व लोकसभा प्रत्याशी ने ECI को लिखा पत्र
MP News: Despite CM's instructions, Excise Commissioner gave three days' time to Som Group
Next Article
CM के निर्देश के बावजूद आबकारी आयुक्त ने सोम ग्रुप को दिया तीन दिन का समय, बाल श्रम मामले में 4 अधिकारी हो चुके हैं सस्पेंड
Close
;