विज्ञापन
Story ProgressBack

MP में हाय गर्मी ! एक तरफ 48° का टॉर्चर तो दूसरी तरफ पानी के लिए हाहाकार

MP Weather Today, Heat Wave : गर्मी बढ़ने के साथ पानी की भी मांग बढ़ी है. पीने के अलावा कूलर आदि में भी ज्यादा मात्रा में पानी का उपयोग हो रहा है. राज्य में बढ़ती गर्मी की स्थिति पर गौर किया जाए तो पारा 47 डिग्री सेल्सियस को पार कर चुका है.

Read Time: 3 mins
MP में हाय गर्मी ! एक तरफ 48° का टॉर्चर तो दूसरी तरफ पानी के लिए हाहाकार
MP में हाय गर्मी ! एक तरफ 48° का टॉर्चर तो दूसरी तरफ पानी के लिए हाहाकार

Madhya Pradesh Ki Garmi : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में गर्मी बढ़ रही है. लू के थपेड़े झुलसाने वाले हैं और इसके साथ ही कई हिस्सों में जल संकट की आहट सुनाई देने लगी है. सरकार की ओर से इन हालातों से निपटने के प्रयास किए जा रहे हैं. वहीं, बारिश के पानी को सहेजने की तैयारी भी है. राज्य के कई इलाके ऐसे हैं, जिन्हें गर्मी के मौसम में खासकर मई और जून महीने में पानी के संकट से जूझना होता है. इस बार भी धीरे-धीरे जल संकट की आहट सुनाई देने लगी है. जल संकट को दूर करने के लिए कई कदम उठाए गए हैं. इसी कड़ी में सतना, मैहर, मऊगंज, कटनी, जबलपुर, छतरपुर, सिंगरौली सहित लगभग एक दर्जन जिलों को जल अभाव ग्रस्त क्षेत्र घोषित किया जा चुका है. इन स्थानों पर नलकूप के लिए बोरिंग करने और पानी के दुरुपयोग पर पूरी तरह रोक लगी हुई है.

प्यास की कितनी है कीमत ?

राज्य के कई हिस्सों में बढ़ते जल संकट को कुछ इस तरह समझा जा सकता है कि यहां 16 लीटर का घरेलू उपयोग के लिए पानी का केन पांच रुपए में मिल रहा है.वहीं इतनी ही मात्रा में पेयजल 30 से 40 रुपए में मिलने लगा है. गर्मी बढ़ने के साथ पानी की भी मांग बढ़ी है. पीने के अलावा कूलर आदि में भी ज्यादा मात्रा में पानी का उपयोग हो रहा है. राज्य में बढ़ती गर्मी की स्थिति पर गौर किया जाए तो पारा 47 डिग्री सेल्सियस को पार कर चुका है.

लू के थपेड़ों से जीना मुहाल

वहीं, राज्य के ज़्यादातर हिस्सों में लू का भी कहर बना हुआ है.बढ़ती गर्मी के चलते बीमारियों के भी पैर पसारने की आशंका सताने लगी है. गर्मी और लू के कारण भी कई लोग बीमार पड़ चुके हैं. वहीं मौत तक होने की बात सामने आ रही है. इतना ही नहीं, ज़्यादातर हिस्सों के जल स्रोतों में भी पानी बहुत कम बचा है. कई इलाकों से तो जल स्रोत सूख चुके हैं और वो खुले मैदान में बदल गए हैं. राज्य में लोगों को पानी की समस्या से दो-चार न होना पड़े, इसके लिए राज्य सरकार की ओर से भी कदम उठाए जा रहे हैं.

मदद में जुटी MP सरकार

पेयजल की आपूर्ति बगैर किसी बाधा के जारी रखने के प्रयास किए गए हैं, वहीं नगरीय निकायों और पंचायत को आमजन की जरूरत का ख्याल रखने की हिदायत दी गई है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने आगामी 5 जून से प्रदेश में जल संरक्षण के लिए विशेष अभियान चलाने का ऐलान किया है. इस अभियान के दौरान जल स्रोतों का संरक्षण किया जाएगा और उनमें बरसात का ज्यादा से ज्यादा पानी पहुंचे, इसके भी प्रयास किए जाएंगे.

यह भी पढ़ें - Heat Wave: छ्त्तीसगढ़ में जारी है गर्मी का कहर, अधिकांश जिलों में पारा 45 से ऊपर

यह भी पढ़ें - MP Today Weather: MP में 48 डिग्री का टॉर्चर, लू के थपेड़ों से जीना हुआ मुहाल

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
23 जून को राज्य सेवा एवं राज्य वन सेवा का Prelims Exam, जानिए समय
MP में हाय गर्मी ! एक तरफ 48° का टॉर्चर तो दूसरी तरफ पानी के लिए हाहाकार
6 people died and 11 injured in road accidents in Sehore Neemuch and Balaghat
Next Article
एमपी में तीन अलग-अलग सड़क हादसे में 6 लोगों की मौत, 11 हुए घायल
Close
;