विज्ञापन
Story ProgressBack

सरकारी दावों की पोल खोलती तस्वीर, MP में खटिया से एम्बुलेंस तक पहुंची गर्भवती

MP News in Hindi : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल (Betul) जिले से सरकारी दावों को पोल खोलती तस्वीर सामने आई है. जिले के भयपुर गांव में एक महिला को प्रसव के बाद अस्पताल ले जाने के लिए खटिया पर 7 किलोमीटर तक ले जाना पड़ा.

Read Time: 3 mins
सरकारी दावों की पोल खोलती तस्वीर, MP में खटिया से एम्बुलेंस तक पहुंची गर्भवती
सरकारी दावों की पोल खोलती तस्वीर, MP में खटिया से एम्बुलेंस तक पहुंची गर्भवती

MP News in Hindi : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल (Betul) जिले से सरकारी दावों को पोल खोलती तस्वीर सामने आई है. जिले के भयपुर गांव में एक महिला को प्रसव के बाद अस्पताल ले जाने के लिए खटिया पर 7 किलोमीटर तक ले जाना पड़ा. महिला को भीमपुर शासकीय अस्पताल लेकर जाय जा रहा था. लेकिन गांव में पक्की सड़कों के आभाव के चलते एम्बुलेंस पहुंच नहीं पाई. यह घटना सरकार के विकास के दावों की पोल खोलती है, जहां जिले के पांच विधायक और एक सांसद होने के बावजूद यह स्थिति बनी हुई है.

एम्बुलेंस के लिए नहीं थी सड़क

मिली जानकारी के मुताबिक, भवानीपुर गांव में सोनाए बाई नामक महिला ने भारी बारिश के दौरान दो बच्चों को जन्म दिया. बारिश के कारण सभी रास्ते बंद हो गए थे, जिसके चलते गांव की महिलाओं ने मिलकर घर पर ही उसका प्रसव कराया. महिला और उसके नवजात शिशुओं को अस्पताल पहुंचाने के लिए एंबुलेंस बुलाने की कोशिश की गई. लेकिन गांव तक पक्की सड़क न होने के कारण एंबुलेंस वहां नहीं पहुंच सकी.

खटिया खोल रही विकास की पोल

आखिर में आस-पास के लोगों ने लकड़ियों और खटिया की सहायता से महिला को कंधे पर उठाकर 7 किलोमीटर तक चलकर चिल्लौर पहुंचाया, जहां से उसे एंबुलेंस उपलब्ध कराई गई. भीमपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के बाद महिला को जिला चिकित्सालय रेफर किया गया. जानकारी के लिए बता दें कि यह दूसरी बार है जब भवानीपुर गांव में इस तरह के हालात देखने को मिले हैं. गांव में पक्की सड़क न होने के चलते पहले भी कई बार माताओं और बच्चों को जान गंवानी पड़ी है.

विकास के दावों की जमीनी हकीकत

यह घटना सरकार के विकास के खोखले वादों का सच सामने लाती है. बैतूल जिले में पांच विधायक और एक सांसद हैं, बावजूद इसके गांव की सड़कें अब तक नहीं बन सकी हैं. सरकार जहां एक तरफ विकास के ढोल पीट रही है, वहीं दूसरी ओर बैतूल जिले में विकास की यह तस्वीर सरकार को उनके झूठे विकास का आईना दिखा रही है.

ये भी पढ़ें : 

50 लाख का गबन ! खुलासा होने पर BMO समेत 4 पर गिरी गाज, FIR दर्ज

क्या सिर्फ कागज़ों पर सरकारी वादे ?

यह घटना एक बार फिर से यह सवाल खड़ा करती है कि क्या सच में विकास का लाभ गांवों तक पहुंच पा रहा है? क्या सरकारी योजनाएं और वादे सिर्फ कागजों तक ही सीमित रह गए हैं? यह घटना सरकार के दावों और वास्तविकता के बीच की खाई को स्पष्ट रूप से दिखाती है. यह स्थिति सरकार के लिए एक गंभीर चेतावनी है कि विकास के वास्तविक मायने क्या होते हैं और आम जनता को इन सुविधाओं से वंचित नहीं रहना चाहिए.

ये भी पढ़ें : 

दहेज कानून के लपेटे में पटवारी, बीवी ने दर्ज कराया मारपीट का मामला

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Crime: 170 करोड़ की ठगी करने वाला हुआ गिरफ्तार, शेयर मार्केट में 84 प्रतिशत रिटर्न के नाम पर कराते थे इंवेस्टमेंट
सरकारी दावों की पोल खोलती तस्वीर, MP में खटिया से एम्बुलेंस तक पहुंची गर्भवती
Now Khargon will be green, women are preparing seed balls to save the environment...will be thrown in empty places in the rains
Next Article
अब खरगोन होगा हरा- भरा, पर्यावरण को बचाने के लिए महिलाएं तैयार कर रही हैं सीड बॉल... खाली जगह जाएंगे डाले
Close
;