विज्ञापन
Story ProgressBack

Dhar: बीत गए 39 साल... अबतक नहीं मिल पाया न्याय, समाजसेवी ने शुरू किया अनिश्चितकालीन उपवास 

MP News: ग्रामीणों की 39 साल पुरानी मांग भी आज तक पूरी नहीं हुई है. इनकी मांग को पूरा कराने के लिए समाजसेवी मेधा पाटकर अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठ गई. 

Dhar: बीत गए 39 साल... अबतक नहीं मिल पाया न्याय, समाजसेवी ने शुरू किया अनिश्चितकालीन उपवास 
अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठी मेधा पाटकर

Indefinite Fast: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के धार (Dhar) जिले में कुछ लोगों की 39 साल पुरानी परेशानी का समाधान आज तक नहीं हो पाया है. जिले में नर्मदा (Narmada) किनारे आखरी छोर पर बैठे, सरदार सरोवर बांध (Sardar Sarovar Dam) से प्रभावित, पिछले 39 सालों से अपने हक और अधिकार की लड़ाई लड़ते आए, लेकिन आज भी दर-दर भटकने को मजबूर हैं. 2017 में भी इसी प्रकार डूब प्रभावितों के साथ उनके हक और अधिकार के लिए मेधा पाटकर (Medha Patkar) सहित डूब क्षेत्र के हजारों प्रभावितों के साथ अनिश्चित कालीन उपवास शुरू किया था. इस बार भी मेधा पाटकर ने अनिश्चितकालीन उपवास (Indefinite Fast Strike) शुरू किया है.

2017 में हुआ था धरने का असर

साल 2017 में भी समाजसेवी मेधा पाटकर ने डूब प्रभावितों के लिए अनिश्चितकालीन उपवास किया था. जिसके बाद मध्य प्रदेश सरकार के तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा प्रत्येक पट्टा धारी को 5 लाख 80 हजार रूपए की राशि मंजूर की गई थी. साथ ही जिन प्रभावितों के पास मकान बनाने के लिए प्लॉट नहीं थे, उनके लिए 30*50 =1500 स्केयर फिट का प्लॉट उपलब्ध करना था. मगर जब क्षेत्र में अधिकारियों ने पात्र-अपात्र के चक्कर में सैकड़ों प्रभावितों को इस लाभ से वंचित रख दिया. 

ये भी पढ़ें :- Illegal Plotting: भू-माफिया और रेवेन्यू इंस्पेक्टर के खिलाफ ग्रामीणों ने खोला मोर्चा, लगाए अवैध प्लॉटिंग के आरोप

साथ में आए सैकड़ों लोग

फिर से 8 साल बाद 'नर्मदा बचाओ आंदोलन' के बैनर तले समाज सेवी मेधा पाटकर के साथ सैकड़ों प्रभावितों ने अपने अधिकार के लिए चिखल्दा के खेड़ा में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू कर दिया. साथ ही कई प्रभावित मेधा पाटकर के समर्थन में क्रमिक अनशन भी कर रहे है. अब देखना होगा की आखिर नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण इन बचे हुए प्रभावितों के साथ कब न्याय करता है. 

ये भी पढ़ें :- MP News: इंदौर को सीएम मोहन यादव ने दिए कई सौगात, पर्यावरण के लिए खर्च किए जाएंगे लाखों रुपए

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
भाजपा पार्षद पर आर्थिक सहायता के बहाने महिला से दुष्कर्म का लगा आरोप, एक्टिव हुई पुलिस
Dhar: बीत गए 39 साल... अबतक नहीं मिल पाया न्याय, समाजसेवी ने शुरू किया अनिश्चितकालीन उपवास 
167 year old tradition was followed in Rewa Tajia was taken out on the day of Moharram know the history of Moharram month of islam religion
Next Article
रीवा में निभाई गई 167 साल पुरानी परंपरा, मोहर्रम के दिन निकाली गई ताजिया, जानें इन दिन का इतिहास
Close
;