विज्ञापन
Story ProgressBack

लुटेरी दुल्हन से सावधान: दो लाख रुपए लेने के बाद शादी कर बनी दुल्हन, फिर 8 दिन बाद ऐसे हो गई फरार

Cheater Gang : कुंवारे लड़कों को ठगने का खेल देवास सहित आसपास के क्षेत्र में लम्बे समय से चल रहा है. इसके लिए एक गैंग सक्रिय है. लेकिन इस बार लूटेरी दुल्हन और उसकी पूरी गैंग के कारनामों का पर्दाफाश हो गया है. जानिए क्या है पूरा मामला..

Read Time: 7 min
लुटेरी दुल्हन से सावधान: दो लाख रुपए लेने के बाद शादी कर बनी दुल्हन, फिर 8 दिन बाद ऐसे हो गई फरार

Robber bride absconds: मध्य प्रदेश के देवास जिले में शादी के नाम पर एक युवक के साथ बड़ी धोखाधड़ी साने आई है. दरअसल, युवक ने 2 लाख देकर जिस लड़की से शादी की थी, वह चकमा देकर 8 दिन के अंदर ही फरार हो गई. इसके बाद एक बड़े गैंग का पर्दाफाश हुआ है. मामला जिले के खोंपियर पिपलिया गांव का है. पुलिस ने इस मामले में 5 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर 4 की गिरफ्तारी कर ली है. हालांकि, लुटेरी दुल्हन अब भी फरार है.  पुलिस जिसकी तलाश कर रही है. पुलिस का कहना है कि राधिका इसी तर्ज पर कई लोगों को ठगी का शिकार बना चुकी है. बता दें कि ये केवल एक मामला नहीं है. मालवा- निमाड़ में ऐसे दर्जनों गैंग सक्रिय है. यह ऐसे परिवार को निशाना बनाते हैं, जहां बेटों की शादी उनके समाज में नहीं हो पाती है. 

गैंग ने ऐसे अपने जाल में फंसाया

दरअसल देवास जिले के खोनपीर पिपलिया गांव के रहने वाले रवि के पिता की मौत करीब साल भर पहले हो गई थी. दो बहनों की शादी हो चुकी है. रवि की शादी के लिए भी घर के लोग लड़की की तलाश कर रहे थे. रवि ने शादी के लिए रिश्तेदारों के साथ दोस्तों को भी रिश्ते तलाश करने के लिए कहा था. एक दिन उसके दोस्त धर्मेंद्र सोलंकी ने उसे इंदौर के त्रिवेणी नगर में रहने वाले राजेश सुनहरे नाम के व्यक्ति का नंबर दिया कर यहां से वह इस गैंग की जाल में फंसने लगा. 

 एक दिन लड़की दिखाई, दूसरे दिन शादी का फैसला

राजेश सुनहरे ने 10 जनवरी को रवि को फोन किया और एक रिश्ते के बारे में बताया. 11 जनवरी को देवास के प्रशांत होटल में मिलने के लिए बुलाया. रवि अपने जीजा के साथ होटल पहुंचा. राजेश सुनहरे  मोहन सिंह और राधिका यादव नाम की लड़की के साथ पहले से मौजूद था . राधिका वो लड़की थी जिसे देखने रवि आया था और मोहन सिंह को उसके रिश्तेदार के रूप में पेश किया.  राधिका के बारे में जानकारी दी की वह उज्जैन की रहने वाली है. मां-बाप का निधन हो चुका है. केवल एक बहन है. रवि ने राधिका को देखते ही उससे शादी के लिए हामी भर दी. उसके बारे में ज्यादा पूछताछ करना मुनासिब नहीं समझा . इसी बैठक में ये भी तय हो गया कि दूसरे ही दिन देवास कोर्ट में शादी हो जाएगी. दुल्हन पक्ष की तरफ से 2 लाख रुपए की डिमांड की गई . जिसे रवि और उसके जीजा ने मान लिया. 

ये भी पढ़ें ढोल बजाते हुए शिकायत करने पहुंचे ग्रामीण, आरईएस विभाग में भ्रष्टाचार का आरोप, अनोखा प्रदर्शन

रवि ने बाजार से उठाया कर्ज

12 जनवरी को दूल्हा और दुल्हन पक्ष के लोग कोर्ट पहुंचे. दुल्हन पक्ष की तरफ से राजेश सुनहरे और मोहन सिंह के अलावा दो लोग और थे. एक हिना यादव और बहनोई के रूप में कराया गया. दूल्हे की तरफ उसके जीजा और बहन मौजूद थे ,गैंग के सदस्यों ने एक नोटरी से शपथपत्र बनाया और इसे रजिस्टर्ड मैरिज बता दिया . शादी के लिए जो दो लाख रुपए की शर्त रखी थी उसे पूरा करने के लिए रवि ने बाजार से महंगी ब्याज पर डेढ़ लाख रुपए का कर्जा लिया था. इसके बाद दूल्हा दुल्हन देवास के बिलावली शिव मंदिर पहुंचे! यहां दोनो ने एक दूसरे को वरमाला पहनाई! इसके बाद रवि  दुल्हन बनी राधिका को लेकर अपने गांव खोनपीर पिपलिया पहुंचा. यहां पहुंचते ही रवि ने बचे हुए 50 हजार ऑनलाइन अलग अलग खातों में ट्रांसफर कर दिए. 

मौक़ा देखकर भागी दुल्हन 

रवि के मुताबिक 20 जनवरी की रात 11:00 बजे तक सब कुछ सामान्य था. वे लोग सो गए थे! आधी रात को राधिका उठी और एक किलोमीटर तक अकेले चलते हुए देवास इंदौर एक्सप्रेस वे पर पहुंची. यहां एक कार में उसकी कथित बहन हिना और एक ड्राइवर अखिलेश इंतजार कर रहे थे. वह कार में बैठी और फरार हो गई. रवि के मुताबिक फरार होने से पहले उसने पूरे घर की तलाशी ली थी. उसे कोई कीमती सामान नहीं मिला. 

पैसे मांगे तो दी धमकी 

दूसरे दिन 21 जनवरी को जब राधिका की तलाश की गई तो वो नहीं मिली. उसे गांव के लोगों ने हाइवे तक जाते हुए देखा था. रवि को तब पता चला कि वह ठगी का शिकार हो गया है. लोकलाज के डर से उसने पहले तो पुलिस को शिकायत नहीं की. उसने दलाल राजेश सुनहरे को कॉल किया, रवि ने उससे 2 लाख रुपए वापस मांगे , तो राजेश ने उल्टा आरोप लगाया कि तुमने ही लड़की की हत्या कर दी होगी. उसने रवि को रेप और हत्या का केस दर्ज कर फंसाने की धमकी दी. 

ये भी पढ़ें हरदा हादसा: प्रशासन है गुनहगार ! 11 गड़बड़ियां मिलने के बावजूद क्यों बनने दिए पटाखे?

दुल्हन का पता निकला  फर्जी 

पुलिस उज्जैन के उस पते पर पहुंची जो रवि को बताया गया था ,तो यह फर्जी निकला.  पुलिस में इसके बाद इंदौर के दलाल राजेश सुनहरे, खरगोन के अखिलेश और महेश, खलघाट की हिना और शाजापुर के धर्म सिंह को पकड़ा. पुलिस में जब उनसे पूछताछ की तो यह पता चला कि राधिका बनी दुल्हन ने 2 लाख में से 50 हजार अपने पास रखे हुए हैं. रकम बाकी सदस्यों ने बांट ली.  

लुटेरी दुल्हन की जल्द होगी गिरफ्तारी 

भौरासा थाना  के जांच अधिकारी ए.एम.पठान ने बताया कि  उन्होंने ज्यादातर रकम खर्च कर दी है. इसलिए पूरी रकम बरामद नहीं हुई है. थाना प्रभारी संजय मिश्रा ने बताया कि इस मामले में 5 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. 4 आरोपियों की गिरफ्तारी हो गई है. लुटेरी दुल्हन अब भी फरार है. इसकी तलाश की जा रही है. जल्द ही गिरफ्तारी होगी. 

ये भी पढ़ें हरदा विस्फोट के बाद एक्शन में MP प्रशासन, 'मौत के कारखानों' पर छापेमारी के बाद भारी विस्फोट बरामद

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close