विज्ञापन
Story ProgressBack

Good News: हमारे सैनिकों को जल्द मिलेगा वर्ल्ड क्लास इलाज, AI-ड्रोन-नैनो टेक्नोलॉजी का होगा इस्तेमाल

Indian Army News: रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) ने कहा कि समझौते के अनुसार, सहयोग के जिन प्रमुख क्षेत्रों पर चर्चा की गई है, उनमें ड्रोन-आधारित रोगी परिवहन, टेलीमेडिसिन इनोवेशन, चिकित्सा क्षेत्र में एआई का अनुप्रयोग और नैनो टेक्नोलॉजी में प्रगति कार्यक्रम शामिल हैं.

Read Time: 3 mins
Good News: हमारे सैनिकों को जल्द मिलेगा वर्ल्ड क्लास इलाज, AI-ड्रोन-नैनो टेक्नोलॉजी का होगा इस्तेमाल

Indian Army News: भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों (Army Soldiers) और अधिकारियों (Army Officers) को जल्द ही दुनिया की बेस्ट टेक्नोलॉजी आधारित इलाज (World Class Treatment) मिल सकेगा. इसमें ड्रोन-आधारित रोगी परिवहन (Drone Based Patient Transport), टेलीमेडिसिन (Telemedicine), आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) यानी एआई (AI) और नैनो टेक्नोलॉजी (Nanotechnology) शामिल हैं. इन सभी नई पहल, रिसर्च और ट्रेनिंग में सहयोग के उद्देश्य से सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा (Armed Forces Medical Services) यानी एएफएमएस (AFMS) ने आईआईटी हैदराबाद (IIT Hyderabad) के साथ एक समझौता किया है.

MOU में क्या है?

इस समझौता ज्ञापन (MOU) का उद्देश्य नए चिकित्सा उपकरणों के विकास में इनोवेशन एवं अनुसंधान को बढ़ावा देना है. साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में सेवारत सैनिकों के लिए विशिष्ट स्वास्थ्य सुविधाओं का समाधान के साथ विस्तार करना है.

इसके अंतर्गत सशस्त्र बलों के सामने आने वाली विविध चिकित्सा चुनौतियों से निपटने के लिए आईआईटी हैदराबाद अपने जैव प्रौद्योगिकी, जैव चिकित्सा अभियांत्रिकी और जैव सूचना विज्ञान जैसे विभागों के साथ आवश्यक तकनीकी विशेषज्ञता प्रदान करेगा.

Defence Ministry का क्या कहना है?

रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) ने कहा कि समझौते के अनुसार, सहयोग के जिन प्रमुख क्षेत्रों पर चर्चा की गई है, उनमें ड्रोन-आधारित रोगी परिवहन, टेलीमेडिसिन इनोवेशन, चिकित्सा क्षेत्र में एआई का अनुप्रयोग और नैनो टेक्नोलॉजी में प्रगति कार्यक्रम शामिल हैं.

इनके अलावा समझौता ज्ञापन के अंतर्गत विद्यार्थी विनिमय कार्यक्रमों, स्नातक विद्यार्थियों के लिए अल्पकालिक पाठ्यक्रम और फैकल्टी विनिमय गतिविधियों की सुविधा दी जाएगी. सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल दलजीत सिंह और आईआईटी हैदराबाद के निदेशक प्रोफेसर बीएस मूर्ति ने इस एमओयू पर हस्ताक्षर किए.

लेफ्टिनेंट जनरल दलजीत सिंह ने दूसरे और तीसरे स्तर की देखभाल यानी दोनों ही स्थितियों में सैनिकों को व्यापक चिकित्सा देखभाल देने के लिए सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा की प्रतिबद्धता पर बल दिया. उन्होंने इस तथ्य का भी जिक्र किया कि अपनी अत्याधुनिक तकनीक के लिए मशहूर आईआईटी हैदराबाद जैसे संस्थान के साथ साझेदारी करना अनुसंधान एवं प्रशिक्षण को बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.

प्रोफेसर बीएस मूर्ति ने सशस्त्र बलों द्वारा बताई जाने वाली समस्याओं के निपटान के लिए आईआईटी हैदराबाद की प्रतिबद्धता व्यक्त की. उन्होंने कहा कि इससे उनके सामने आने वाली चुनौतियों का तत्काल एवं प्रभावी समाधान सुनिश्चित होगा.

यह सहयोग सैन्य कर्मियों के स्वास्थ्य एवं कल्याण को बढ़ाने के लिए एडवांस टेक्नोलॉजी व अनुसंधान का लाभ उठाने में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है.

यह भी पढ़ें : सेना को किया शर्मसार... पूर्व सैनिक ने दोस्त के साथ बनाया अपनी ही फर्जी हत्या का प्लान, पुलिस परेशान

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ की बेटी ने रचा इतिहास! NEET की असफलता से Army में लेफ्टिनेंट डॉक्टर बनने तक, ऐसी है जोया की कहानी

यह भी पढ़ें : भारतीय सेना की बेटी का कमाल... UN महासचिव का ऐलान, राधिका को मिलेगा संयुक्त राष्ट्र का प्रतिष्ठित सम्मान

यह भी पढ़ें : हे सूर्य देव सुन लो हमारी पुकार! भीषण गर्मी से बचने के लिए MP में हुआ हवन

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Lok Sabha Elections 2024: 75 दिन में ताबड़तोड़ 80 इंटरव्यू, 180 रोड शो-रैलियां, ये है PM मोदी का चुनावी अभियान
Good News: हमारे सैनिकों को जल्द मिलेगा वर्ल्ड क्लास इलाज, AI-ड्रोन-नैनो टेक्नोलॉजी का होगा इस्तेमाल
Indian Army Agniveer Result 2024: Online exam result for army recruitment declared, candidates of Bhopal-Mhow-Gwalior-Jabalpur can check their result here
Next Article
सेना भर्ती के लिए ऑनलाइन परीक्षा परिणाम घोषित, भोपाल-महू-ग्वालियर-जबलपुर के कैंडिडेट यहां देखिए रिजल्ट
Close
;