विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Nov 24, 2023

आचार संहिता के दौरान बेमेतरा में हुई ताबड़तोड़ कार्रवाई, चुनाव के दिन नहीं आई एक भी शिकायत

जिले में पुलिस की कड़ाई और लगातार पेट्रोलिंग के चलते चुनाव के दिन एक भी वाद-विवाद और एफआईआर दर्ज नहीं की गई. आदर्श आचार संहिता के दौरान जिले में अब तक 779 प्रकरण में 1,442 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई और मोटर व्हीकल एक्ट के तहत 2,319 वाहन चालकों पर चालानी कार्रवाई कर 9 लाख 86 हजार 200 रुपये वसूले गए.

आचार संहिता के दौरान बेमेतरा में हुई ताबड़तोड़ कार्रवाई, चुनाव के दिन नहीं आई एक भी शिकायत
फाइल फोटो

Chhattisgarh Assembly Election 2023: छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) समाप्त हो चुका है. एक ओर जहां प्रदेश के नक्सल प्रभावित इलाकों (Naxalites Area in Chhattisgarh) में शांतिपूर्ण मतदान कराना चुनौतीपूर्ण रहा, वहीं दूसरी ओर प्रदेश में कुछ ऐसे भी जिले हैं जिन्होंने चुनाव के दौरान एक मिसाल कायम की. हम बात कर रहे हैं छत्तीसगढ़ के बेमेतरा (Bemetara) जिले की. बेमेतरा में मतदान के दिन एक भी शिकायत दर्ज नहीं की गई. बेमेतरा के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है.

जिले में पुलिस की कड़ाई और लगातार पेट्रोलिंग के चलते चुनाव (Voting Day) के दिन एक भी वाद-विवाद और एफआईआर दर्ज नहीं की गई. आदर्श आचार संहिता के दौरान जिले में अब तक 779 प्रकरण में 1,442 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई और मोटर व्हीकल एक्ट के तहत 2,319 वाहन चालकों पर चालानी कार्रवाई कर 9 लाख 86 हजार 200 रुपये वसूले गए.

केंद्रीय सुरक्षा बल और पुलिस की रही प्रमुख भूमिका

विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न कराने में पुलिसकर्मियों और केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवानों ने मतदान दल के साथ अहम भूमिका निभाई. वहीं आचार संहिता के दौरान जिले में 1,442 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई हुई. मतदान के एक दिन पहले तक असामाजिक तत्वों और बदमाशों की कड़ी निगरानी की गई. जिले में आदर्श आचार संहिता के दौरान 142 वारंटियों को न्यायालय में पेश किया गया. इससे पहले जून महीने के बाद करीब 648 वारंटियों को ऑपरेशन ईगल के तहत अलग-अलग जिलों और दूसरे राज्यों से लाकर न्यायालय में पेश किया गया. इस कार्रवाई का सीधा असर चुनाव में देखने को मिला.

पूरे जिले में चुनाव के दिन एक भी वाद-विवाद का मामला सामने नहीं आया और किसी भी प्रकार की कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई. लगातार पेट्रोलिंग कर पुलिस टीम ने तत्परता के साथ विवाद रोकने का काम किया.

चेकपोस्ट पर रही जबरदस्त चौकसी

विधानसभा चुनावों में किसी भी प्रकार की अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए चुनाव आयोग के निर्देश के पर चेकपोस्ट के अलावा प्रमुख चौक-चौराहों पर निगरानी दल की तैनाती की गई थी. इस दौरान किसी संदिग्ध के मिलने पर उसकी वीडियोग्राफी कराई गई. एसपी भावना गुप्ता ने जिले में स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण और पारदर्शिता के साथ संपन्न हुए मतदान के लिए सभी अधिकारी-कर्मचारियों, केंद्रीय सुरक्षा बल के जवानों, पुलिस प्रशासन के अधिकारियों और चुनाव कार्य में लगी टीमों का आभार माना. इसके साथ ही कलेक्टर पीएस एल्मा ने भी चुनाव के लिए तैनात सभी कर्मियों का आभार जताया है. बता दें कि बेमेतरा में दूसरे चरण के तहत 17 नवंबर को मतदान हो चुका है. अब 3 दिसंबर को चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे.

ये भी पढ़ें - चुनाव के दौरान सुरक्षाबलों को निशाने पर लेने के लिए IED बम किया गया था प्लांट, 2 मजदूरों की मौत, एक घायल

पकड़ी गई लाखों की सामग्री

2023 के चुनावों में अब तक 967 प्रकरण में 989 व्यक्तियों से 1682 लीटर अवैध शराब के साथ पकड़ा गया है. जिसकी कीमत लगभग 9 लाख 10 हजार 562 रुपये है. इसके साथ ही बेमेतरा 8 लाख 64 हजार 400 रुपये नगदी और 69 लाख 67 हजार 742 रुपये की साड़ियां, वाहन और अन्य सामग्री जब्त की गई हैं.

ये भी पढ़ें - CG News: पहले अपने दोस्त का किया कत्ल फिर अंतिम संस्कार में हुआ शामिल! पुलिस ने किया खुलासा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सड़क पर लुढ़कते हुए केंद्रीय मंत्री गडकरी के आवास में घुसा सरपंच, अब छत्तीसगढ़ से लेकर दिल्ली तक हो रही चर्चा..
आचार संहिता के दौरान बेमेतरा में हुई ताबड़तोड़ कार्रवाई, चुनाव के दिन नहीं आई एक भी शिकायत
EOW registered a new case against jailed suspended IAS Ranu Sahu Sameer Vishnoi and Saumya Chaurasia under new law BNS and Prevention of Corruption Act
Next Article
Coal Scam: निलंबित IAS रानू साहू, समीर विश्नोई और सौम्या चौरसिया की बढ़ी मुश्किलें, EOW ने नया मामला किया दर्ज
Close
;