विज्ञापन
Story ProgressBack

छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण रोकने के लिए सरकार बनाएगी कानून, निशाने पर रही है ईसाई मिशनरी

छत्तीसगढ़ के शिक्षा और संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि राज्य की डेमोग्राफी को बर्बाद करने के लिए बहुत सारी शक्तियां काम कर रही हैं. ऐसे लोगों के लिए यह कानून लाया जा रहा है, ताकि वैध धर्मांतरण के अतिरिक्त जो भी अवैध तरीके से धर्मांतरण किए जा रहे हैं, उन्हें रोका जा सके.

छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण रोकने के लिए सरकार बनाएगी कानून, निशाने पर रही है ईसाई मिशनरी

Religious Conversions: छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण के मुद्दे पर राजनीति करने वाली भाजपा (BJP) सत्ता में आने के बाद अब धर्मांतरण रोकने के लिए  ‘धर्म स्वतंत्र विधेयक' लाने जा रही है. विष्णु देव (Vishnu Dev) सरकार में शिक्षा और संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल (Brijmohan Agrwal) ने बुधवार को विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) में इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की डेमोग्राफी को बर्बाद करने के लिए बहुत सारी शक्तियां काम कर रही हैं. ऐसे लोगों के लिए यह कानून लाया जा रहा है, ताकि वैध धर्मांतरण के अतिरिक्त जो भी अवैध तरीके से धर्मांतरण किए जा रहे हैं, उन्हें रोका जा सके.

भाजपा-कांग्रेस में होती रही है राजनीति

 ग़ौरतलब है कि विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण को लेकर कांग्रेस की सरकार को घेर रही थी. भाजपा का आरोप था कि छत्तीसगढ़ के आदिवासी अंचल में मिशनरियों के जरिए धर्मांतरण का खेल चल रहा है.  हालांकि, इस पर कांग्रेस पार्टी भी भाजपा को आईना दिखाती रही है. छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने कहा था कि आरोप लगाने के बजाय प्रदेश में कितने चर्च है और ये चर्च किसकी सरकार में कितने बने हैं, इस पर सरकार को श्वेत पत्र जारी करना चाहिए. 

मुख्यमंत्री ने मिशनरियों पर लगाए थे ये आरोप

गौरतलब है कि अब से कुछ दिन पहले खुद मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने भी ईसाई मिशनरियों पर स्कूल और अस्पताल के ज़रिए धर्मांतरण करने का आरोप लगाया था. मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने प्रदेश में धर्मांतरण कराने वाले मिशनरियों को आड़े हाथों लेते हुए कई गंभीर आरोप लगाए थे. साय ने राजधानी रायपुर में एक निजी शिक्षण संस्थान के कार्यक्रम में कहा था कि ईसाई मिशनरी शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में हावी है. इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया था कि ये मिशनरी इसकी आड़ में धर्मांतरण ज्यादा करते हैं. उन्होंने कहा था कि जब ये सब रुकेगा, तो हिंदुत्व को ताकत मिलेगी.  

ये भी पढ़ें- विधानसभा सत्र के बाद विष्णुदेव मंत्रिमंडल करेगा रामलला के दर्शन, CM साय ने किया ऐलान

कांग्रेस ने किया था पलटवार

मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रभारी सुशील आनंद शुक्ला ने भाजपा और सीएम साय पर धर्मांतरण के मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाया था. शुक्ला ने आरोप लगाया था कि लोकसभा चुनाव है, इसलिए मुख्यमंत्री साय ऐसे बयान देकर राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहा था कि अगर सच में प्रदेश में धर्मांतरण हो रहा है, तो सरकार कार्रवाई करे. तब शुक्ला ने बताया था कि भाजपा की पिछली रमन सरकार के 15 साल में सबसे ज्यादा चर्चों का निर्माण राज्य में हुआ था. इसके साथ ही कांग्रेस ने सरकार से प्रदेश में चर्चों की संख्या पर श्वेत पत्र जारी कर जानकारी सार्वजनिक करने की मांग की थी, ताकि सबको पता चल सके कि राज्य में किसके शासन काल में कितने चर्चों का निर्माण हुआ है. 

ये भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ में 3100 रुपये प्रति क्विंटल धान का समर्थन मूल्य देकर फंसी BJP, किसान आंदोलन पर बघेल ने ऐसे घेरा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
रात में की लूट, सुबह मिली लाश ! बेटे की मौत के बाद माँ ने कहा- "पुलिस वालों की... "
छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण रोकने के लिए सरकार बनाएगी कानून, निशाने पर रही है ईसाई मिशनरी
Baloda Bazar Big action by the government's food department, substandard food items chicken found in shops and hotels notice issued to shopkeepers, awareness campaign started
Next Article
Baloda Bazar में बड़ा एक्शन, दुकानों-होटलों में मिली अमानक खाद्य सामग्री, Food डिपार्टमेंट से नोटिस जारी
Close
;