विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 07, 2023

Raipur News : पूर्व CM डॉ. रमन सिंह ने PM नरेन्द्र मोदी को लिखा पत्र, CGPSC में हुए भ्रष्टाचार की CBI जांच कराने का किया आग्रह

रमन ने लिखा है कि छत्तीसगढ़ के काबिल युवाओं का भविष्य अंधकार में डूबने से बचाने के लिए आपसे आग्रह है कि सीबीआई (CBI) द्वारा इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाकर छत्तीसगढ़ के युवाओं को न्याय दिलवाने में सहायता करें.

Read Time: 5 mins
Raipur News : पूर्व CM डॉ. रमन सिंह ने PM नरेन्द्र मोदी को लिखा पत्र, CGPSC में हुए भ्रष्टाचार की CBI जांच कराने का किया आग्रह
रायपुर:

Chhattisgarh News : छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह (Ex CM Dr Raman Singh) ने सीजीपीएससी घोटाले (CGPSC Scam) की सीबीआई जांच (CBI Investigation) करवाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को पत्र लिखकर आग्रह किया है. संबंधित दस्तावेजों को संलग्न कर उन्होंने अपने पत्र (Letter to PM) में लिखा कि छत्तीसगढ़ की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा लोक सेवा आयोग (CGPSC) में प्रतिवर्ष करीब डेढ़ लाख युवा प्रतिभागी (Young Candidates) शामिल होते हैं, इस परीक्षा (CGPSC Exam) में प्रदेश के प्रमुख पदों पर भर्ती की जाती है. जिसमें अधिकांश मध्यम वर्गीय परिवारों के अभ्यर्थी भाग लेते हैं. इस परीक्षा के इतिहास में पहली बार छत्तीसगढ़ में पारदर्शिता को समाप्त कर एक बड़े घोटाले से भाई-भतिजावाद शामिल किया गया है, जिससे प्रदेश के युवाओं में भारी निराशा और आक्रोश है.

रमन सिंह ने पत्र में उठाए सवाल

डॉक्टर रमन सिंह ने अपने पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित राज्य सेवा परीक्षा 2021 के परिणाम को देखें तो शीर्ष 18 नाम, कांग्रेस नेताओं, सीजीपीएससी के तत्कालीन अध्यक्ष (CGPSC Chairman) तथा बड़े अधिकारियों के बच्चों और रिश्तेदारों के हैं. उच्च पदों पर उनका ही चयन हुआ है.

Add image caption here

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह द्वारा प्रधानमंत्री को लिखा गया पत्र

इसके विरुद्ध युवाओं में निराशा और आक्रोश को देखते हुए पूर्व गृह मंत्री एवं वर्तमान में रामपुर विधायक श्री ननकीराम कंवर जी ने माननीय उच्च न्यायालय में याचिका दायर की जिसे स्वीकार करते हुए माननीय उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को फटकार लगायी और चयनित कुल 18 अभ्यर्थियों की नियुक्ति पर रोक लगाने को कहा, चूंकि उनमें से 5 की नियुक्ति हो चुकी थी अतः वर्तमान में कुल 13 की नियुक्ति पर रोक लगी है.

रमन सिंह ने लिखा है कि छत्तीसगढ़ लोक सेवा द्वारा आयोजित राज्य सेवा परीक्षा 2022 के मुख्य परीक्षा के मूल्यांकन तथा साक्षात्कार में भी की गई धांधली उजागर हुई है, जिसमें किसी अभ्यर्थी को बिना उत्तर लिखे अंक देना, किसी को कम अंक आने पर भी चयनित तथा किसी को अधिक अंक आने पर भी बाहर करना आदि शामिल है.


रमन सिंह ने आगे लिखा है कि प्रदेश के युवाओं को राज्य सरकार की जांच पर भरोसा नहीं है. उनका आरोप है कि राज्य सरकार के संरक्षण में पैसे लेकर सत्ता पक्ष के नेताओं, बड़े अधिकारीयों तथा सीजीपीएससी के तत्कालीन अध्यक्ष के बच्चों और रिश्तेदारों का चयन किया गया है, युवाओं का राज्य सरकार पर विश्वास न होने का एक प्रमुख कारण यह भी है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह झूठ कहकर इसकी जांच नहीं करवाई कि युवाओं ने इसकी शिकायत नहीं की है जबकि प्रदेश के युवाओं ने इसकी लिखित शिकायत मुख्यमंत्री से की थी जिसकी प्रति संलग्न है तथा उन्होंने आन्दोलन भी किया था.

Latest and Breaking News on NDTV

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह द्वारा प्रधानमंत्री को लिखा गया पत्र

पारदर्शिता की कमी भी बताई

रमन सिंह ने पत्र में लिखा है कि इसके अलावा लोक सेवा आयोग द्वारा दिनांक 19/03/2021 को अधिसूचना क्रमांक 2268/पेड/2014/ जारी कर प्रारंभिक परीक्षा में दावा आपत्ति के पश्चात दिए जाने वाले मॉडल आंसर के नियमों में संशोधन(56.13) किया गया जिससे पारदर्शिता में कमी आयी है. लोक सेवा आयोग द्वारा निविदा सूचना जारी कर दिनांक 5/06/2023 तथा 27/06/2023 को अनुपयोगी प्रश्न पत्र (Question Paper), ओएमआर उत्तरशीट (OMR Answer Sheet), कोरी उत्तरपुस्तिका एवं अन्य प्रपत्रों को विक्रय किए जाने हेतु टेंडर (Tender) निकाला गया जिससे लोक सेवा आयोग पर अभ्यर्थियों के दस्तावेजों को नष्ट करने का आरोप लगा जिसके पश्चात् इसके स्पष्टीकरण में लोक सेवा आयोग द्वारा दिनांक 13/06/2023 को एक सूचना( 258/50/परीक्षा/2020) जारी गई, जिसमें यह बताया गया कि यह टेंडर दस्तावेज को नष्ट करने के लिये नहीं बल्कि पुराने उत्तर पुस्तिका (Old Question Paper), अनुपयोगी प्रश्नपत्र, कोरी उत्तर पुस्तिका और प्रपत्र एवं लिफ़ाफ़े आदि के विक्रय हेतु जारी किया है.

निष्पक्ष जांच की बात उठाई

रमन ने लिखा है कि छत्तीसगढ़ के काबिल युवाओं का भविष्य अंधकार में डूबने से बचाने के लिए आपसे आग्रह है कि सीबीआई (CBI) द्वारा इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाकर छत्तीसगढ़ के युवाओं को न्याय दिलवाने में सहायता करें.

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़: BJP की 'वायरल लिस्ट' पर भारी बवाल, पूरे राज्य में शुरू हुई प्रेशर पॉलिटिक्स

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Negligence: नगर निगम की बसें रखे-रखे हो गई कबाड़, बजट का हो रहा सालों से इंतजार 
Raipur News : पूर्व CM डॉ. रमन सिंह ने PM नरेन्द्र मोदी को लिखा पत्र, CGPSC में हुए भ्रष्टाचार की CBI जांच कराने का किया आग्रह
Congress start investigation of Defeat in lok Sabha Election of Chhattisgarh Fact Finding Committee listen congress leaders
Next Article
CG News: ...तो कांग्रेस को इसलिए छत्तीसगढ़ में मिली थी हार, मोइली कमिटी के सामने नेताओं ने खोल दी पोल
Close
;