विज्ञापन
Story ProgressBack

Chhattisgarh: मंत्रालय में नौकरी लगवाने के बहाने अपने ही रिश्तेदार को लूटा, पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार

Robbed for government Job: छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर लूटपाट और धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. खास बात यह है कि धोखाधड़ी करने वाला शख्स पीड़ित का रिश्तेदार है.

Read Time: 3 mins
Chhattisgarh: मंत्रालय में नौकरी लगवाने के बहाने अपने ही रिश्तेदार को लूटा, पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार
अंबिकापुर पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरा आरोपी अभी भी फरार है.

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर (Ambikapur) से सरकारी नौकरी लगवाने (To Get Government Job) के बहाने धोखाधड़ी व लूटपाट का मामला सामने आया है. आरोपी ने अपने ही रिश्तेदार की बेटियों की नौकरी लगवाने का झांसा देकर लूटपाट को अंजाम दिया है. मामले में पुलिस (Ambikapur Police) ने दो आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है. इसके साथ ही पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत (Police Arrested Accused) में ले लिया जबकि दूसरा आरोपी अभी भी फरार बताया जा रहा है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

यह पूरा मामला छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर का है, जहां के मिशन चौक निवासी विनोद गुप्ता अपनी दो बेटियों की नौकरी लगवाने चाहते थे. इसी संबंध में अंबिकापुर के ही उनके परिचित व रिश्तेदार संजय गुप्ता और किशोर गुप्ता से इस बात को लेकर चर्चा हुई. इन दोनों ने विनोद गुप्ता से दोनों बेटियों की नौकरी लगवाने की बात कही और उन्हें बताया कि राजधानी रायपुर स्थित मंत्रालय में उनके अधिकारियों की बीच अच्छी पकड़ है. जिससे वे उनकी बेटियों की नौकरी लगवाने में मदद कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें - नक्सलियों ने पिता को मार डाला, भाई को अगवा किया...अब बस्तर में विदेश से डॉक्टर साहब आए चुनाव लड़ने

10 लाख की धोखाधड़ी का है आरोप

दोनों आरोपियों ने विनोद गुप्ता से 7 लाख रुपये नकद और 3 लाख रुपये बैंक में ट्रांसफर कराते हुए ले लिए. विनोद गुप्ता की दोनों बेटियों की नौकरी जब नहीं लगी तो उन्होंने रकम वापसी के लिए आरोपियों से कहा. लेकिन, आरोपियों ने पैसे देने से मना कर दिया. इसके बाद विनोद गुप्ता ने फरवरी महीने में गांधीनगर थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई. पुलिस इस मामले में जांच करते हुए दोनों आरोपियों संजय गुप्ता व किशोर से पूछताछ करते हुए और उनके बैंक अकाउंट की जांच की, जिसमें रुपये के लेनदेन की पुष्टि हुई. इसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 420 और 34 के तहत अपराध दर्ज किया और एक आरोपी संजय गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया, जबकि दूसरा आरोपी किशोर गुप्ता अभी फरार बताया जा रहा है.

इस मंत्रालय में नौकरी लगाने का दिया झांसा

बता दें कि आरोपियों ने राजधानी रायपुर स्थित मंत्रालय में पहुंच होने का झांसा अपने ही रिश्तेदार से नौकरी लगवाने के नाम पर पैसे लिए. पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपियों ने पीड़ित को महिला एवं बाल विकास विभाग के पद पर नौकरी लगाने का  प्रलोभन दिया था.

यह भी पढ़ें - CG News: छत्तीसगढ़ में नहर की जमीन पर कब्जा, लोगों ने बनाए मकान बसा दी कॉलोनी, किसानों को नहीं मिल रहा पानी

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
पूर्व कांग्रेस विधायक अग्नि चंद्राकर के निधन पर दिग्गज नेताओं ने जताया शोक, आज होगा अंतिम संस्कार
Chhattisgarh: मंत्रालय में नौकरी लगवाने के बहाने अपने ही रिश्तेदार को लूटा, पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार
Balodabazar Violence Arson in Collector-SP office Ruckus during demonstration of Satnami Samaj Section 144 imposed
Next Article
Baloda Bazar के कलेक्ट्रेट में आगजनी, 100 से अधिक गाड़ियां भी फूंकी... जानें छत्तीसगढ़ में क्यों भड़की हिंसा?
Close
;