विज्ञापन
Story ProgressBack

मेडिकल कॉलेज का कुप्रबंधन! भीषण गर्मी में पानी को लेकर मरीज-परिजन परेशान, प्रबंधन बन रहा अनजान

Water Crisis in Ambikapur Medical College Hospital: गर्मी बढ़ती जा रही है और लोगों की परेशानी भी. अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में लोगों को पीने का पानी बहुत नसीब से ही मिल रहा है. प्रबंधन भी मामले में बहुत एक्टिव नहीं दिख रहा है.

Read Time: 3 mins
मेडिकल कॉलेज का कुप्रबंधन! भीषण गर्मी में पानी को लेकर मरीज-परिजन परेशान, प्रबंधन बन रहा अनजान
पीने के पानी के लिए लोगों को हो रही हैं बहुत परेशानी

Ambikapur News: गर्मी बढ़ते ही छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) प्रदेश के कई जिलों में लोगों को पानी की समस्या होनी शुरू हो गई है. सरगुजा (Surguja) जिले में इन दिनों भीषण गर्मी पढ़ रहा है. अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल (Ambikapur Medical College Hospital) इस दौरान पेयजल की परेशानी से जूझ रही है. पानी की समस्या का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अस्पताल के चौथे फ्लोर में एडमिट मरीजों के परिजनों को पानी के लिए ग्राउंड फ्लोर पर आना पड़ रहा है. इसके बावजूद पानी मिले इसकी कोई गारंटी नहीं होती है. हालांकि, पूरे मामले में प्रबंधन का कहना है कि जल्द ही पेयजल व्यवस्था (Drinking Water System) को दुरुस्त किया जाएगा.

पैकिंग वाटर खरीदने के लिए हैं मजबूर

पेयजल की परेशानी से जूझ रहे लोग पैकिंग वाटर खरीदने के लिए मजबूर हैं क्योंकि उनके पास कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है. हालांकि, निगम के द्वारा अस्पताल में वाटर एटीएम बूथ लगाया गया है, लेकिन अफसोस की बात यह है कि अब यह केवल देखने वाली चीज बनकर रह गई है. दूसरी ओर, एयर कंडीशनर ऑफिस में बैठे मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधिकारी यह दावा करते नजर आए कि अभी समस्या कम है, जिसे समय रहते दूर लिया जाएगा.

दूसरे सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज की यह है हाल

दरअसल, अम्बिकापुर स्थिति राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंह देव स्मृति मेडिकल कॉलेज छत्तीसगढ़ प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा मेडिकल कॉलेज है. इसके अंतर्गत संचालित मेडिकल कॉलेज अस्पताल भी आता है. इस अस्पताल में लगभग चार सौ मरीजों का उपचार एक साथ किया जाता है. जबकि, ओपीडी में प्रतिदिन सरगुजा संभाग के 6 जिलों के मरीज यहां आते हैं. इनकी संख्या भी पांच सौ से ज्यादा आम दिनों में दर्ज की जाती हैं. इन मरीजों में अधिकांश ग्रामीण क्षेत्रों से होते हैं जिनकी आर्थिक स्थिति इतनी नहीं होती कि वे हर समय 20 रुपये की पैकिंग वाटर खरीद सकें.

ये भी पढ़ें :- लंदन से पढ़ाई कर 'महराज' के प्रचार में उतरे 'युवराज', BJP को लेकर यह कहा...

समस्या का समाधान नहीं हर बार आश्वासन मिला है

मेडिकल कॉलेज अस्पताल प्रबंधन पहले से ही इस समस्या से भली भांति अवगत है. अस्पताल प्रबंधन ने स्वास्थ्य मंत्री के प्रथम आगमन पर उन्हें मेडिकल कॉलेज अस्पताल में समुचित पेयजल व्यवस्था करने की मांग की थी. जिस पर स्वास्थ्य मंत्री ने उन्हें 8 दिन के अंदर व्यवस्था दुरुस्त करने का आश्वासन भी दिया था. लेकिन, हर बार की तरह इस बार भी आश्वासन अधुरा ही रहा और अब भीषण गर्मी के इन दिनों में इसका खामियाजा मरीजों और उनके परिजनों को भुगतना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें :- Lok Sabha 1st Phase Election: एमपी की 6 सीटों पर 13588 मतदान केंद्र, यहां एयर एंबुलेंस तैनात, CEO ने ये कहा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Illegal Liquor: शराब के हैं शौकीन तो हो जाएं सावधान, यहां बिक रही हैं ब्रांडेड के नाम पर नक्ली शराब
मेडिकल कॉलेज का कुप्रबंधन! भीषण गर्मी में पानी को लेकर मरीज-परिजन परेशान, प्रबंधन बन रहा अनजान
Bus full of devotees overturns on Agra-Lucknow Expressway 40 injured 3 Death
Next Article
Chhattisgarh: श्रद्धालुओं से भरी बस आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर पलटी; 3 की मौत, 40 घायल
Close
;