विज्ञापन
Story ProgressBack

Chhattisgarh: संस्कृत विद्या मंडल का कारनामा,  जिसने परीक्षा ही नहीं दी, वह बन गई 10वीं की टॉपर

Sanskrit Vidya Mandal: छत्तीसगढ़ संस्कृत शिक्षा मंडलम का बड़ा कारनामा सामने आया है. मंडल ने कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा में ऐसी छात्र को टॉपर लिस्ट में शामिल किया गया है, जिसने परीक्षा ही नहीं दी थी. गड़बड़ी सामने आने के बाद अब विभाग लीपापोती में लग गया है.

Read Time: 3 mins
Chhattisgarh: संस्कृत विद्या मंडल का कारनामा,  जिसने परीक्षा ही नहीं दी, वह बन गई 10वीं की टॉपर

Chhattisgarh Sanskrit Vidya Mandal Raipur: बिहार बोर्ड की 12वीं टॉपर बेबी की कहानी तो खूब सुनी होंगी, लेकिन छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्या मंडल के कारनामे जानने के बाद अब आप उसे भूल जाएंगे. दरअसल, छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्या मंडल में इतनी बड़ी गड़बड़ी कर दी है कि अब इसकी चारों ओर चर्चा हो रही है.  यहां हालत ये है कि जिसने परीक्षा ही नहीं दी, वो टॉपर बन गई है. ऐसे सवाल उठ रहे हैं कि जिसने परीक्षा ही नहीं दी, आखिर वह टॉपर कैसे बन गई. छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्या मंडल में ये बड़ी गड़बड़ी सामने आने के बाद यहां की परीक्षा प्रणाली और अधिकारियों पर सवाल उठ रहे हैं.

छत्तीसगढ़ संस्कृत शिक्षा मंडलम का बड़ा कारनामा सामने आया है. मंडल ने कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा में ऐसी छात्र को टॉपर लिस्ट में शामिल किया गया है, जिसने परीक्षा ही नहीं दी थी. गड़बड़ी सामने आने के बाद अब विभाग लीपापोती में लग गया है. अब इस टाइपिंग मिस्टेक बता कर जारी मेरिट सूची को रद्द कर दिया गया है. हालांकि, मामले में एक बड़े रैकेट के काम करने की आशंका जताई जा रही है. हमारे संवाददाता निलेश त्रिपाठी ने संस्कृत शिक्षा मंडल का जायजा लिया, तो उसकी एक-एक कर परतें सामने आने लगी.

छत्तीसगढ़ संस्कृत शिक्षामंडलम में बड़ी गड़बड़ी

  1. कक्षा दसवीं में  777 परीक्षार्थियों ने दी थी परीक्षा
  2. 15 मई को जारी किए गए थे परीक्षा परिणाम
  3. 98.48 प्रतिशत था कक्षा दसवीं का रिजल्ट
  4. 470 विद्यार्थियों ने फर्स्ट डिवीजन से पास की है परीक्षा
  5.  जिसका परीक्षा फॉर्म हुआ था रिजेक्ट, वह बनीं टॉपर

ये भी पढ़ें- CBI Inspector Arrested with Bribe: MP के नर्सिंग कॉलेजों से इतने लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़े गए

आपको बता दें छत्तीसगढ़ संस्कृत शिक्षा मंडलम ने 15 मई को 10वीं कक्षा के परीक्षा परिणाम जारी किए गए थे. इसके मुताबिक, कक्षा दसवीं का रिजल्ट इस बार 98.48 प्रतिशत था. इनमें से 470 विद्यार्थियों ने फर्स्ट डिवीजन से परीक्षा पास की थी. लेकिन, इस परीक्षी परिणाम में सबसे चौंकाने वाली बात ये थी कि  जिसका परीक्षा फॉर्म ही छत्तीसगढ़ संस्कृत शिक्षा मंडलम ने रिजेक्ट कर दिया था, वह टॉपर कैसे बन गई. 

ये भी पढ़ें- Indian Railways: हर सफर में सिर्फ इतने पैसे खर्च कर पाएं 10 लाख रुपये तक का बीमा, यहां जानें पूरी जानकारी

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Yoga Day Special: कौन है सोपोर का फैजान बशीर, जो 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस' पर पीएम मोदी के साथ करेगा योग
Chhattisgarh: संस्कृत विद्या मंडल का कारनामा,  जिसने परीक्षा ही नहीं दी, वह बन गई 10वीं की टॉपर
Loksabha Eelction 2024 MPs Chhattisgarh will join Modi cabinet Cm Vishnu Deo sai BJP NDA New Government Meeting Delhi 
Next Article
Exclusive: CM साय ने खोले पत्ते, बताया- मोदी कैबिनेट में इन्हें मिल सकती है जगह,आज की बैठक में फैसला 
Close
;