विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 03, 2023

सीहोर के जिला अस्पताल का एक्स रे मशीन बना सफेद हाथी, मरीज परेशान

सीहोर के जिला अस्पताल में अव्यवस्थाओं का बोलबाला, अस्पताल में एक्स रे मशीन होने के बावजूद मरीज प्राइवेट एक्स रे करवाने को हो रहे हैं मजबूर

Read Time: 4 mins
सीहोर के जिला अस्पताल का एक्स रे मशीन बना सफेद हाथी, मरीज परेशान
Sehore:

सीहोर के जिला चिकित्सालय में अधिकारियों - कर्मचारियों की मनमानी हावी है. संसाधनों की उपलब्धता के बाद भी जिला चिकित्सालय में मरीजों को इनका लाभ ही नहीं मिल पा रहा है. जिले के कर्मचारियों और अधिकारियों की लापरवाही और मनमानी की वजह से आम जनता को एक्स रे मशीन का फायदा नहीं मिल पा रहा है जिससे जनता को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

सीहोर जिला अस्पताल में लाखों की मशीनें धूल खा रही हैं


जिला अस्पताल में लाखों की एक्स रे मशीन इन अधिकारियों की लापरवाही और मनमानी की वजह से धूल खा रही है जिससे आम जनता परेशान, बेहाल है. पिछले साल ही सीहोर के जिल अस्पताल को डिजिटल मशीन की सौगात मिली थी, तब ये दावा भी किया गया था कि अब सीहोर में एक्स रे संबंधी समस्या नहीं आयेगी लेकिन अस्थि रोग के
मरीजों को इस जिला अस्पताल में एक्स रे की सुविधा नहीं मिल पा रही है.

मोबाइल कैमरे से एक्स रे का फोटो लेने को मजबूर है मरीज
आप लापरवाही और मनमानी की बानगी का अंदाजा इस बात से लगा सकते है कि इतनी आधुनिक मशीन होने के बाद भी अस्थि रोग के मरीजों को अपने मोबाइल के कैमरे से एक्स रे का फोटो लेना पड़ता है उसके बाद ही उनका इलाज हो पाता है.
इस जिला अस्पताल में बड़ी संख्या में मरीज इलाज करवाने के लिए पहुंचते हैं लेकिन केवल पुलिस केस, एमएलसी में ही एक्स रे रील उपलब्ध कराई जाती है जबकि अन्य अस्थि रोग मरीजों को एक्स रे रील नहीं दी जाती है.

सब नियम कानून ताक पर हैं इस अस्पताल में
जबकि नियम ये कहता है कि बीपीएल, आयुष्मान कार्डधारक मरीजों को निशुल्क एक्स रे रील मिलनी चाहिए वहीं सामान्य मरीजों को भी सौ रूपए शुल्क लेकर एक्स रे रील मिलनी चाहिए. लेकिन सीहोर के जिला अस्पताल के कर्मचारी नियम कानूनों को ताक पर रखे हुए है जिससे आम जनता बाहर प्राइवेट लैब में एक्स रे कराने के लिए मजबूर हो रही है.

लिफ्ट भी नहीं है चालू
ऐसा नहीं है कि यहां पर केवल यही समस्या है, जिला ट्रामा सेंटर में मरीजों की सुविधा के लिए चार लिफ्ट लगाई गई थी लेकिन अब लंबे समय से ये लिफ्ट बंद हैं जिससे मरीज और मरीजों के परिजनों को बहुत परेशानी हो रही है.
मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने अपने अस्पताल के दौरे के दौरान वादा किया थी कि जल्दी ही सभी लिफ्ट फिर से चालू हो जायेंगी लेकिन महीनों बीतने के बाद भी अस्पताल और लिफ्ट की हालत जस की तस है.

इस पर क्या कहना है जिला अस्पताल के सिविल सर्जन का
इस संबंध में जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डा प्रवीर गुप्ता ने कहा कि " मरीजों को डिजिटल एक्स रे मोबाइल पर उपलब्ध कराया जा रहा है, दो मशीनों की सुविधा लोगों को मिल रही है, कुछ मरीज गलत मोबाइल नंबर दे देते हैं शायद इसलिए उन्हें एक्स रे उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं. यदि मोनिटर पर फोटो खींचने के लिए बाध्य किया जा रहा है तो कर्मचारियों से बात करूंगा कि क्या समस्या आ रही है."

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सीहोर: असामाजिक तत्वों ने तोड़ी बाबा साहब की प्रतिमा, पुलिस ने दर्ज किया केस
सीहोर के जिला अस्पताल का एक्स रे मशीन बना सफेद हाथी, मरीज परेशान
Big road accident in Sehore, 3 people died in bus and Scorpio collision
Next Article
सिहोर में बड़ा सड़क हादसा, बस और स्कॉर्पियो की टक्कर में 3 लोगों की मौत
Close
;