विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 03, 2023

सतना : गले में रस्सी बांधकर छत पर चढ़ गया उप सरपंच, मांग पूरी ना होने से था नाराज

फिल्मी स्टाइल में जनपद की छत पर चढ़े उप सरपंच विनोद यादव को देखने के लिए जनपद कार्यालय के बाहर भीड़ जमा हो गई. हालांकि इस दौरान जनपद कार्यालय का कोई कर्मचारी उसकी बात सुनने के लिए नहीं पहुंचा.

Read Time: 4 mins
सतना : गले में रस्सी बांधकर छत पर चढ़ गया उप सरपंच, मांग पूरी ना होने से था नाराज

जनपद पंचायत मैहर में गुरूवार की दोपहर गुगड़ी ग्राम पंचायत के उप सरपंच ने हडकंप मचा दिया. शिकायत पर जांच न होने से नाराज उप सरपंच गले में रस्सी बांधकर जनपद कार्यालय की बिल्डिंग में चढ़ गया. दूसरी मंजिल में ताला डालकर उप सरपंच फांसी में झूलने की कोशिश करने लगा. हालांकि वहां मौजूद लोगों की नजर जब उस पर पड़ी तो वह रुक गया. काफी देकर तक लोगों ने उसे बातों में उलझाए रखा. इसके बाद मौके पर भीड़ एकत्र हो गई. सूचना के बाद एसडीएम सुरेश जाधव, तहसीलदार और मैहर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई. उप सरपंच को समझाइश देकर नीचे उतार लिया गया. जिसके बाद उसने आरोप लगाया कि उसके आवेदन पर कोई जांच कराई नहीं हो रही है.

उप सरपंच ने आरोप लगाया कि ग्राम पंचायत गुगड़ी में वर्ष 2019 से सचिव रावेन्द्र और दूसरी पंचायत का एक व्यक्ति भ्रष्टाचार कर रहा है. कई बार जनपद सीईओ, जिला पंचायत सीईओ और कलेक्टर कार्यालय में लिखित शिकायत की गई, लेकिन कोई जांच नहीं हुई. इसके अलावा आरटीआई का आवेदन करने पर सचिव रावेन्द्र गौतम के द्वारा वापस करा दिया गया. उसने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि प्रकरण में दोषी सचिव को निलंबित कर उच्च स्तरीय जांच कराई जाए. उसने यह भी कहा कि गांव वालों की सहूलियत के लिए उसके द्वारा एक कच्चा रास्ता बनाया गया था. जिसका भुगतान जानबूझकर रोका जा रहा है.

मौके पर जमा हुए सैकड़ों लोग

फिल्मी स्टाइल में जनपद की छत पर चढ़े उप सरपंच विनोद यादव को देखने के लिए जनपद कार्यालय के बाहर भीड़ जमा हो गई. हालांकि इस दौरान जनपद कार्यालय का कोई कर्मचारी उसकी बात सुनने के लिए नहीं पहुंचा. जनपद सीईओ प्रतिपाल बागरी हंगामे के समय बैठक में व्यस्त थे. जबकि मौके पर सैकड़ों की संख्या में लोग जमा हो गए थे.

सचिव ने दी सफाई

इस मामले में ग्राम पंचायत गुगड़ी के सचिव रावेन्द्र गौतम ने कहा कि उप सरपंच और सरपंच के द्वारा पिछले दिनों शिकायत की गई थी. सरपंच का जब हकीकत से सामना हुआ तो उसने अपनी शिकायत वापस ले ली. अब उसी जांच के लिए उप सरपंच के द्वारा दबाव बनाया जा रहा है. चूंकि उप सरंपच नियम विरूद्ध भुगतान कराना चाहता है. जिस मिट्टीकरण के भुगतान की बात उप सरपंच के द्वारा कही जा रही है उसकी कोई मंजूरी नहीं है. जिस काम की मंजूरी नहीं यदि उसका भुगतान करूंगा तो मेरी गर्दन फंस जाएगी. सचिव ने उप सरपंच के आरोपों को निराधार बताया. साथ ही आरोप लगाया कि उप सरपंच विकास कार्यों में बाधा पहुंचाते हुए कमीशन मांगता है. न देने पर ऐसी शिकायतें की जा रही हैं.

सुरक्षित है उप सरपंच, जांच कराई जाएगी

इस मामले में जब मैहर एसडीएम सुरेश जाधव से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उप सरपंच को सुरक्षित नीचे उतारने के बाद उसकी बात सुनी गई. उसके आवेदनों के संबंध में जांच कराई जाएगी. यदि कोई भी भ्रष्टाचार पाया गया तो संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई होगी. वहीं जनपद सीईओ प्रतिपाल बागरी की व्यस्तता के चलते जांच न होने का पक्ष सामने नहीं आ सका.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
पतंजलि की नकल करना पड़ा भारी! दिल्ली कोर्ट से आदेश पर सतना पहुंची टीम तो बिगड़ गया तेल का खेल
सतना : गले में रस्सी बांधकर छत पर चढ़ गया उप सरपंच, मांग पूरी ना होने से था नाराज
Mohan Yadav Cabinet Know who is MP's new Minister of State Pratima Bagri Her political journey is interesting
Next Article
Mohan Yadav Cabinet: जानिए कौन हैं MP की नई राज्यमंत्री प्रतिमा बागरी? दिलचस्प है इनकी सियासी कहानी
Close
;