विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Sep 11, 2023

बेटे का इलाज कराने आए पिता और डॉक्टर में हुई मारपीट, 5 लोगों पर ST-SC का मामला हुआ दर्ज

डॉक्टर की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 294, 323, 353, 458, 506, 34 व एससी एसटी एक्ट की धारा 3/4 और डॉक्टर प्रोटेक्शन एक्ट 2008 की धारा 3(1)द, 3(1)घ, 3(2)va के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

बेटे का इलाज कराने आए पिता और डॉक्टर में हुई मारपीट, 5 लोगों पर ST-SC का मामला हुआ दर्ज
पुलिस ने बताया कि डॉक्टर की शिकायत पर मामला दर्ज करने की कार्रवाई की गई है. वहीं मरीज के पिता द्वारा भी एक आवेदन दिया गया जिसकी विवेचना की जा रही है.
छतरपुर:

छतरपुर से 40 किमी दूर हरपालपुर नगर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टर व मरीज के पिता के बीच इलाज कराने को लेकर विवाद हो गया. ये विवाद इतना बढ़ गया कि बात मारपीट तक पहुंच गई. डॉक्टर की शिकायत पर पुलिस ने पांच लोगों पर मारपीट, एससी एसटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. वहीं मरीज के परिजनों ने भी डॉक्टर पर मारपीट के आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई है.

यह है पूरा मामला

हरपालपुर नगर के गलान रोड पर रहने वाले प्रेम सिंह राजपूत अपने 17 वर्षीय बेटे की अचानक तबियत बिगड़ने पर देर रात अस्पताल इलाज कराने आए थे. अस्पताल में रात में ड्यूटी पर कोई डॉक्टर मौजूद नहीं था, जबकि एएनएम सहित वार्डबॉय उपस्थित थे. मरीज के पिता द्वारा डॉक्टर को बुलाने की गुहार अस्पताल में मौजूद स्टाफ से की गई. जिसके बाद स्टाफ द्वारा डॉक्टर को दो-तीन बार कॉल किया गया, लेकिन डॉक्टर जगदीश अहिरवार ने नींद में होने के चलते फोन रिसीव नहीं किया.

ये भी पढ़ें - भारत जोड़ो यात्रा की तर्ज पर कांग्रेस मध्य प्रदेश में निकालेगी जनआक्रोश यात्रा

बेटे की तबियत लगातार बिगड़ने से उसके पिता और अन्य परिजन परेशान हो उठे. जिसके बाद परिजन डॉक्टर को बुलाने उसके घर पहुंच गए. जहां जोर-जोर से दरवाजा खटखटाने के बाद डॉ. जगदीश अहिरवार बाहर आए. जिसके बाद मरीज के इलाज और देर रात डॉक्टर के बंगले की कुंडी खटखटाने को लेकर परिजनों और डॉक्टर के बीच तीखी बहस हुई. इसी बीच मरीज के पिता प्रेम सिंह राजपूत ने डॉक्टर से अभद्रता की. इसको लेकर डॉक्टर और मरीज के पिता में विवाद शांत होने की बजाय बढ़ गया और दोनों में धक्कामुक्की और मारपीट शुरू हो गई. विवाद बढ़ता देख शोर सुन कर डॉक्टर की पत्नी भी बाहर निकल आई और वह भी विवाद में उलझ गईं.

डॉक्टर ने की थाने में शिकायत, ST-SC एक्ट के तहत मामला दर्ज

विवाद के बाद प्रथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी मेडिकल ऑफिसर डॉ. जगदीश अहिरवार और उनकी पत्नी ने घटना की लिखित शिकायत थाने में दर्ज करवाई है. उनका कहना है कि मरीज के परिजन के द्वारा गाली-गलौच करते हुए मारपीट की गई. इसके अलावा जाति सूचक शब्दों का प्रयोग भी किया गया है. जिसके बाद दंपति की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 294, 323, 353, 458, 506, 34 व एससी एसटी एक्ट की धारा 3/4 और डॉक्टर प्रोटेक्शन एक्ट 2008 की धारा 3(1)द, 3(1)घ, 3(2)va के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. मामले में प्रेम सिंह राजपूत, धनंजय राजपूत, संध्या राजपूत, आकाश राजपूत और आरिफ खान को आरोपी बनाया गया है.

डॉक्टर पर की गई शिकायत

मरीज के पिता प्रेमसिंह राजपूत ने भी शिकायती पत्र पुलिस को देकर डॉक्टर के खिलाफ मारपीट करने का आरोप लगाया है. मामले में हरपालपुर थाना टीआई राकेश साहू ने बताया कि डॉक्टर की शिकायत पर मामला दर्ज करने की कार्रवाई की गई है. वहीं मरीज के पिता द्वारा भी एक आवेदन दिया गया जिसकी विवेचना की जा रही है. उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें - चंद्रयान, सूर्ययान के बाद अब समुद्रयान की बारी... अगले साल पानी में उतरेगा सबमर्सिबल 'मत्स्य'

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Gwalior: बालिका गृह में फिल्मी स्टाइल में घुसे नकाबपोश, किशोरी को नींद से जगाया और अगवा कर ले गए, CCTV में कैद हुई घटना
बेटे का इलाज कराने आए पिता और डॉक्टर में हुई मारपीट, 5 लोगों पर ST-SC का मामला हुआ दर्ज
Bhojshala dispute: ASI presented 2000 page report in High Court Indore, next hearing will be on July 22
Next Article
भोजशाला विवादः ASI ने हाई कोर्ट में पेश की 2000 पन्नों की रिपोर्ट, जानें- कितनी मूर्तियां मिलने का है दावा
Close
;