विज्ञापन
Story ProgressBack

Paris Paralympic Games के लिए भिंड की पूजा ओझा का चयन, कायकिंग कैनोइंग में लेंगी हिस्सा

Bhind Pooja Ojha selected Paris Paralympic Games: देशभर से चयनित चार खिलाड़ियों में मध्य प्रदेश से 3 महिला पैरा खिलाड़ियों का पेरिस पैरालंपिक खेल में चयन हुआ है, जिसमें भिंड की पूजा, ग्वालियर से प्राची यादव और रजनी झा शामिल हैं.

Read Time: 3 mins
Paris Paralympic Games के लिए भिंड की पूजा ओझा का चयन, कायकिंग कैनोइंग में लेंगी हिस्सा

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भिंड (Bhind) की रहने वाली पूजा ओझा (Pooja Ojha) का चयन पेरिस पैरालंपिक खेल (Paris Paralympic Games) के लिए हुआ है. पूजा कायकिंग कैनोइंग में हिस्सा लेगी. देशभर से चयनित चार खिलाड़ियों में मध्य प्रदेश से तीन महिला पैरा खिलाड़ियों में भिंड की रहने वाली पूजा ओझा, ग्वालियर से प्राची यादव, रजनी झा शामिल हैं. बता दें कि पेरिस पैरालंपिक खेल का आयोजन 26 जुलाई से 11 अगस्त, 2024 तक किया जा रहा है.

कयाक सेंटर भिंड से प्रशिक्षित खिलाड़ी अपना नाम कर रहे हैं रोशन

दरअसल, पैरा खेलों में बेटियों को पहचान दिलाने के लिए जिले में साल 2017 में स्थानीय गौरी सरोवर स्थित वोट क्लब पर पहला केनो, कयाक सेंटर स्थापित किया गया. इसी क्लब में प्रशिक्षण लेकर पूजा ओझा प्रदेश की पहली अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी बनी है.

Latest and Breaking News on NDTV

खेल प्रशिक्षक राधे गोपाल यादव ने कहा कि यहां विभिन्न राज्यों के खिलाड़ियों को भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है. आज देश के चार खिलाड़ियों में से तीन महिला और एक पुरुष खिलाड़ी शामिल हैं. इन खिलाड़ियों में भिंड से पूजा ओझा, ग्वालियर से प्राची यादव और रजनी झा शामिल हैं. वहीं आगरा के यश तोमर का भी ओलंपिक खेल में चयन हुआ है.

गौरतलब है कि ये सभी खिलाड़ी भिण्ड के वोट क्लब में ही प्रशिक्षण लिया है. 

30 खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बना चुके पहचान

राधे गोपाल यादव ने कहा कि भिण्ड के लिए ये गौरव का विषय है कि यहां से प्रारंभ हुआ यह खेल इन सबके लिए वरदान साबित हुआ. उन्होंने बताया इस क्लब के निर्माण के बाद से लगभग 30 खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बना चुके हैं. आगे आने वाले समय में पूजा ओझा से प्रेरणा लेकर भिंड में और प्रतिभाएं निकल कर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी चमक बिखेरेंगी.

Latest and Breaking News on NDTV

बेटियों की हत्याओं के लिए था बदनाम

दरअशल, भिंड की तस्वीरें अब लगातार बदल रही है. समय के साथ ही भिंडवासियों की सोच भी बदली. कभी ये जिला नवजात बेटियों की हत्याओं के लिए बदनाम रहा, लेकिन अब लड़कों की तरह हर क्षेत्रों में आगे आ रही है. साथ ही यहां की बेटियां कई स्तर पर अपने जिले का नाम रोशन कर रही है.

ये भी पढ़े: Kishore Kumar Award: बॉलीवुड अभिनेता धर्मेंद्र को किशोर कुमार अवॉर्ड से सम्मानित, बोले- 'मैं शुक्रगुजार हूं...'

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
किशोरी ने मासूम को दिया जन्म, 8 महीने बाद हुआ दुष्कर्म का खुलासा 
Paris Paralympic Games के लिए भिंड की पूजा ओझा का चयन, कायकिंग कैनोइंग में लेंगी हिस्सा
MP High Court acquitted the husband in the unnatural sexual abuse case High court made big comment on the allegations of the wife
Next Article
अप्राकृतिक यौन शोषण मामले में MP हाईकोर्ट ने पति को किया बरी, पत्नी के आरोपों पर की यह बड़ी टिप्पणी
Close
;