विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 31, 2023

Satna News: ठंड में ठिठुरती हुई छात्राएं पहुंचीं स्कूल- टीचर गायब, ऐसा है मंत्री प्रतिमा के गृह क्षेत्र का स्कूल

MP News : सतना जिले के करसरा संकुल केन्द्र के हनुमान नगर करसरा की बसाहट में बच्चों की पढ़ाई के लिए कई साल पहले प्राथमिक स्कूल खोला गया था. कक्षा एक से लेकर पांचवी तक के छात्रों को पेड़ के नीचे बैठाकर पढ़ाई कराई जाती है. लेकिन कई बार ऐसा होता है कि शिक्षिका स्कूल ही नहीं जाती है.

Satna News: ठंड में ठिठुरती हुई छात्राएं पहुंचीं स्कूल- टीचर गायब, ऐसा है मंत्री प्रतिमा के गृह क्षेत्र का स्कूल
सतना - शिक्षिका के इंतज़ार में ठंड में ठिठुरते बच्चे

Satna : मध्यप्रदेश  (Madhya Pradesh) में शिक्षा व्यवस्था को पुख्ता बनाने के तमाम प्रयासों के बाद भी सुधार नहीं हो सका है. सतना (Satna) जिले में कई ऐसे स्कूल हैं, जिनका संचालन भगवान भरोसे हो रहा है. ऐसा ही एक स्कूल राज्यमंत्री प्रतिमा के गृह विधानसभा क्षेत्र रैगांव के करसरा गांव में है. कड़ाके की ठंड के बीच शनिवार को यहां पढ़ने वाले छात्र और छात्राएं सुबह नौ बजे स्कूल पहुंच गए, जबकि पढ़ाने के नाम पर मोटी रकम पाने वाली शिक्षिका विद्यालय ही नहीं पहुंचीं. बताया जाता है कि ठंड और बरसात के मौसम में अक्सर ऐसा होता है कि बच्चे शिक्षकों का इंतजार करते रह जाते हैं. 

पेड़ के नीचे लगता है स्कूल 

यहां का स्कूल पेड़ के नीचे मंदिर के चबूतरे पर संचालित होता है. यहां स्कूल के नाम पर एक बिल्डिंग तक उपलब्ध नहीं है. ठंड, बारिश के वक़्त बच्चों को सबसे ज़्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. लेकिन इसके समाधान के लिए कोई भी रुचि नहीं दिखा रहा है. विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चे हर परिस्थिति से जूझते हुए भी स्कूल पहुंच जाते हैं, लेकिन यहां पदस्थ शिक्षक कभी कभार ही पहुंचती हैं. ऐसे में ग्रामीणों में भी अक्सर नाराजगी देखी जाती है. 

स्कूल में हैं सिर्फ 8 बच्चे

बताया जाता है कि करसरा संकुल केन्द्र के हनुमान नगर करसरा की बसाहट में बच्चों की पढ़ाई के लिए कई साल पहले प्राथमिक स्कूल खोला गया था. इस स्कूल में बच्चों की संख्या सिर्फ 8 है. इन बच्चों को पढ़ाने का जिम्मा एक महिला शिक्षिका पर है. कक्षा एक से लेकर पांचवीं तक के छात्रों को पेड़ के नीचे बैठकर पढ़ाई कराई जाती है. लेकिन कई बार ऐसा होता है कि शिक्षिका स्कूल ही नहीं जाती हैं. कमाल इस बात का भी है कि इतने के बाद भी यहां का कभी किसी वरिष्ठ अधिकारी ने निरीक्षण नहीं किया. इसके अलावा संकुल प्राचार्य भी इस बात से अनभिज्ञ रहते हैं.

ये भी पढ़ें मध्य प्रदेश में हुआ मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, CM के पास रहेगा गृह विभाग, जानें किसे क्या मिला

अधिकारी भी अनजान

इस मामले में बड़ी बात ये है कि इस स्कूल के संचालन को लेकर सोहावल विकासखंड के समन्वयक दिवाकर तिवारी को कोई जानकारी ही नहीं है. ऐसे में उन्हें  इस स्कूल की शैक्षणिक व्यवस्था की गतिविधि के बारे में जानकारी का तो सवाल ही पैदा नहीं होता है. 

ये भी पढ़ें  छत से टूटकर गिरता प्लास्टर और नीचे खौफ में बच्चे, MP के सरकारी स्कूलों का हाल बेहाल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP News: छेड़छाड़ के आरोपी के पक्ष में लामबंद हुए जन प्रतिनिधि, कलेक्ट्रेट पहुंचकर की ये मांग
Satna News: ठंड में ठिठुरती हुई छात्राएं पहुंचीं स्कूल- टीचर गायब, ऐसा है मंत्री प्रतिमा के गृह क्षेत्र का स्कूल
MP District Erupts in Chaos Women Strip in Protest Clash with Police Over Custodial Death
Next Article
MP के इस जिले में बड़ा हंगामा, महिलाओं ने उतारे कपड़े... पुलिस से भी झूमाझटकी
Close
;