विज्ञापन
Story ProgressBack

Lok Sabha Election से पहले पूर्व विधायक को सात साल पुराने मामले में भेजा जेल, जानिए क्या था...

Madhya Pradesh Breaking News: रीवा जिले के सिरमौर विधानसभा से किसी जमाने में बीएसपी से विधायक रहे राजकुमार उरमलिया को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के अनुसार उन्हें सात साल पुराने मामले मे जेल भेजा गया है.

Read Time: 3 min
Lok Sabha Election से पहले पूर्व विधायक को सात साल पुराने मामले में भेजा जेल, जानिए क्या था...
Lok Sabha Election 2024: राजकुमार बीएसपी के बाद कई दलों में शामिल हुए थे. विधानसभा चुनाव तक वो कांग्रेस में थे

Madhya Pradesh News: 7 साल पुराने चेक बाउंस मामले में पूर्व विधायक को जेल भेजा गया है. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के रीवा जिले (Rewa) के सिरमौर विधानसभा (Sirmour Vidhansabha) के पूर्व विधायक राजकुमार उरमालिया (Rajkumar Urmalia) को पहले तो पुलिस ने गिरफ्तार किया. और उसके बाद उन्हें न्यायालय में पेश किया गया. जहां से उन्हें  जेल भेज दिया गया है.

बीएसपी के टिकट पर हासिल की थी जीत

ये वही राजकुमार उरमालिया (Rajkumar Urmalia)हैं, जिन्होंने बीएसपी के टिकट पर लड़ते हुए उस समय के विधानसभा अध्यक्ष स्वर्गीय श्रीनिवास तिवारी को हराकर जीत हासिल की थी. अभी कुछ दिन पहले ही कांग्रेस छोड़कर भोपाल में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी.

चेक बाउंस मामले में स्थाई वारंट डभौरा थाने में था

रीवा जिले के सिरमौर विधानसभा से किसी जमाने में बीएसपी से विधायक रहे राजकुमार उरमलिया को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के अनुसार 7 साल पुराने चेक बाउंस मामले में स्थाई वारंट डभौरा थाने में था. वर्तमान पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते सभी थानों को वारंट तामिल करने का आदेश जारी किया था जिसके चलते डभौरा पुलिस ने पूर्व विधायक को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस करा चुकी है 300 वारंट तामील

फिलहाल पुलिस लोकसभा चुनाव को ध्यान मे रखते हुए अभी तक 300 के आसपास वारंट तामील करा चुकी है. जिसमें से कुछ को जेल की हवा भी खानी पड़ रही है. उसी में से एक है पूर्व विधायक राजकुमार उरमलिया जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार करने के बाद न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हे न्यायालय ने जेल भेज दिया. यह वही राजकुमार उरमलिया है, जिन्होंने अभी हाल ही में भोपाल में एक कार्यक्रम में कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा था.

ये भी पढ़ें LokSabha 2024: कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, दो पूर्व विधायक और पूर्व सांसद, 600 समर्थकों के साथ BJP में शामिल

विधानसभा चुनावों तक कांग्रेस के सदस्य थे

राजकुमार बीएसपी के बाद कई दलों में शामिल हुए थे. विधानसभा चुनाव तक वो कांग्रेस में थे. गिरफ्तारी के समय भारतीय जनता पार्टी में राजकुमार उरमलिया ने कभी जेसीबी मशीन खरीदी थी, जिसका भुगतान बाकी था. जिसके लिए उन्होंने कंपनी को चेक दिया था, लेकिन उनके खाते में पैसे नहीं थे. जिसकी वजह से उनका दिया हुआ चेक बाउंस हो गया. इस मामले में कंपनी ने न्यायालय में परिवाद दायर किया गया था. राजकुमार उरमालिया जमानत पर थे, लेकिन कोर्ट में हाजिर नहीं हो रहे थे. जिसके चलते न्यायालय ने स्थाई वारंट जारी कर दिया था, जिन्हें पुलिस ने आचार संहिता लगने के बाद हिरासत में ले लिया और जेल वारंट बनाकर जेल भेज दिया.

ये भी पढ़ें Lok Sabha 2024: जानिए MP के विंध्य का हाल, 2019 में चार लाख से ज्यादा वोटों से इन्होंने हासिल की थी जीत

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close