विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Sep 02, 2023

छिंदवाड़ा के गांव में उल्टी-दस्त का कहर, 12 से ज्यादा बीमार और 2 ने तोड़ा दम; हो रही पानी की जांच

गांव में दूषित पानी की वजह से करीब 10 से 12 लोग उल्टी और दस्त के शिकार हो गए. शुक्रवार रात को इनमें से 2 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गई. गांव में पीने के पानी की सप्लाई हैंडपंप और बोरवेल से होती है. अब पानी की जांच की जा रही है.

छिंदवाड़ा के गांव में उल्टी-दस्त का कहर, 12 से ज्यादा बीमार और 2 ने तोड़ा दम; हो रही पानी की जांच

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में पीने के गंदे पानी की वजह से शुक्रवार रात करीब एक दर्जन से ज्यादा लोग अचानक बीमार पड़ गए. सभी को उल्टी और दस्त की शिकायत के बाद तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया. जिनमें दो लोगों की हालात काफी गंभीर थी. उन्होंने इलाज के दैरान दम तोड़ दिया. यह घटना छिंदवाड़ा के कोसमी गांव की है. अमरवाड़ा तहसील के कोसमी गांव में शुक्रवार शाम को अचानक के कुछ घरों के दर्जनों लोगों को उल्टी और दस्त शुरू हो गए. देखते ही देखते उनकी तबीयत काफी बिगड़ने लगी, जिनमें एक लड़के और एक बुजुर्ग महिला ने दम तोड़ दिया. 

ये भी पढ़ें- 'जनदर्शन नहीं जनमाफी यात्रा निकालें', कमलनाथ का तंज- चुनाव आते ही घोषणा मशीन बनी बीजेपी

एक दर्जन से ज्यादा लोग उल्टी-दस्त से बेहाल

उल्टी और दस्त से पीड़ित सभी लोगों को तुरंत अमरवाड़ा सिविल अस्पताल समेत जिला अस्पताल में एडमिट कराया गया.  देर रात 21 साल के युवक और 65 साल की वृद्ध महिला की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई. इस घटना की जानकारी जिला अस्पताल के सिविल सर्जन ने दी. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को देर रात अमरवाड़ा के कोसमी गांव के  4 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सभी को  उल्टी और दस्त की शिकायत थी. इलाज के दौरान गणेशी बाई नाम की बुजुर्ग महिला की मौत हो चुकी है. 

गंदा पानी पीने से बीमार पड़ने की आशंका

वहीं अमरवाड़ा एसडीएम हेमकरण धुर्वे ने भी गांव के लोगों के उल्टी और दस्त से पीड़ित होने की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पीड़ितों का इलाज लगातार चल रहा है. जिला अस्पताल में एक महिला की मौत हो चुकी है. उन्होंने पाीने के पानी की वजह से लोगों के बीमार होने की आशंका जताई है. एसडीएम ने कहा कि गांव में पेयजल की जांच के लिए पीएचई विभाग की टीम पहुंची है. वहीं गांव के ही रहने वाले सुनील चंद्रवंशी ने बताया कि गांव में दूषित पानी की वजह से ही करीब 10 से 12 लोग उल्टी और दस्त के शिकार हुए हैं. शुक्रवार रात को इनमें से 2 लोगों की मौत हो गई. बता दें कि गांव में पीने के पानी की सप्लाई हैंडपंप और बोरवेल से होती है..दूषित पानी की वजह से ही बड़ी संख्या में लोगों के बीमार होने की आशंका जताई जा रही है.

अब हो रही पीने के पानी की जांच

गांव में नल जल योजना के जरिए टंकी से आने वाले पीने के पानी की जांच पीएचई विभाग की टीम कर रही है. साथ ही गांव में दवाएं बांटी जा रही हैं. बड़ी संख्या में लोगों की गंभीर हालत को देखते हुए उपचार के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा कैंप लगाया गया है. गांव में फैली बीमारी की जानकारी मिलते ही छिंदवाड़ा सांसद नकुल नाथ तुरंत हरकत में आए. उन्होंने कलेक्टर से फोन पर बात कर बीमार लोगों के उचित उपचार और  गांव में कैंप लगाने के निर्देश दिए. जिला अस्पताल की सिविल सर्जन डॉक्टर सोनिया में बताया कि कल देर रात उल्टी दस्त से कोसमी गांव की 3 महिला और एक बच्चे को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. देर रात गंभीर अवस्था में भर्ती 1 महिला की मौत हो गई. 

ये भी पढ़ें-शिवपुरी: जोरदार धमाके के साथ 14 गैस सिलेंडर में विस्फोट, मकान भरभराकर गिरा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Gwalior: बालिका गृह में फिल्मी स्टाइल में घुसे नकाबपोश, किशोरी को नींद से जगाया और अगवा कर ले गए, CCTV में कैद हुई घटना
छिंदवाड़ा के गांव में उल्टी-दस्त का कहर, 12 से ज्यादा बीमार और 2 ने तोड़ा दम; हो रही पानी की जांच
Bhojshala dispute: ASI presented 2000 page report in High Court Indore, next hearing will be on July 22
Next Article
भोजशाला विवादः ASI ने हाई कोर्ट में पेश की 2000 पन्नों की रिपोर्ट, जानें- कितनी मूर्तियां मिलने का है दावा
Close
;