विज्ञापन
Story ProgressBack

Financial Distress: पैसों की तंगी के चलते जेपी सीमेंट प्लांट के कर्मचारी ने लगाई फांसी, कहा- "जमीन बेच कर...."

Job Loss Tragedy: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना (Satna District) से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है. ज़िले के भिलाई जेपी सीमेंट प्लांट बाबूपुर (Bhilai JP Cement Plant Babupur) में तैनात एक कर्मचारी ने वेतन नहीं मिलने पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

Read Time: 3 min
Financial Distress: पैसों की तंगी के चलते जेपी सीमेंट प्लांट के कर्मचारी ने लगाई फांसी, कहा-
Satna District Tragedy

Cement Plant Employee Attempted Suicide: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना (Satna District) से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है. ज़िले के भिलाई जेपी सीमेंट प्लांट बाबूपुर (Bhilai JP Cement Plant Babupur) में तैनात एक कर्मचारी ने वेतन नहीं मिलने पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इस घटना के बाद प्लांट कर्मचारी के परिजनों में आक्रोश भड़क गया और वे गेट पर इकट्ठा होकर हंगामा करने लगे. हंगामा की खबर मिलते ही कोलगवां के SHO सुदीप सोनी समेत भारी तादाद में पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई. वहीं, मृतक की तरफ से कांग्रेस (Congress) के सतना विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा (Siddharth Kushwaha) भी पहुंच गए. काफी देर तक परिजनों का हंगामा चलता रहा. इसके बाद भी प्रबंधन उनकी बात सुनने को राजी नहीं हुआ ऐसे में उन्होंने सतना-सेमरिया मार्ग (Satna-Semaria Route) जाम करने की कोशिश की.

8 महीने से नहीं मिली थी सैलरी 

परिजनों ने बताया कि सत्यम सिंह पिछले पांच सालों से भिलाई जेपी सीमेंट बाबूपुर में काम करता था. लेकिन बीते 8 महीने से उन्हें कोई वेतन नहीं दी गई. ऐसे में उसकी माली हालत बेहद खराब हो गई. इसके चलते बीती रात उसने आत्महत्या कर अपनी जान दे दी. वहीं, मंगलवार को जब पोस्टमार्टम हुआ उसके बाद परजिनों ने उसका शव ले जाकर प्लांट बाबूपुर के गेट में रखकर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया.

** छत्तीसगढ़: किसान सम्मान निधि में बड़ा घपला...फर्जी नामों से निकाले जा रहे हैं करोड़ों, 854 केस आए सामने

जमीन के बदले दी थी नौकरी

गांववालों ने बताया कि भिलाई जेपी सीमेंट प्लांट बाबूपुर के आसपास के किसानों की जमीन नौकरी देने के बदले ली थी. इस दौरान तमाम लोगों को कंपनी ने जमीन लेने के बाद नौकरी दी. इसके बाद कई लोगों का ट्रांसफर छत्तीसगढ़ के भिलाई प्लांट में कर दिया. आरोप यह भी है कि वहां के प्लांट में काम करने वाले कर्मचारियों को मुश्किल से पांच से दस प्रतिशत का वेतन हर महीने दिया जाता है. इसके अलावा रहने-खाने की सुविधा भी सही नहीं है. ऐसे में तमाम कर्मचारी आत्महत्या के लिए विवश हो चुके हैं.

यह भी पढ़ें: RSS को ISI का एजेंट कहने वाले मामले में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को बड़ी राहत, MP-MLA कोर्ट ने किया बरी

कांग्रेस विधायक ने भी रखा पक्ष

कर्मचारी की आत्महत्या के मामले में हंगामा होने के बाद भी प्रबंधन ने गंभीरता नहीं दिखाई. जिसके बाद नाराज सतना विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा और मृतक के परिजन विरोध प्रदर्शन करने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंच गए. विधायक ने कहा कि किसानों की जमीन का कब्ज़ा कर प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं. इसके बाद उन्हें आत्महत्या का मजबूर किया जा रहा है. इसके लिए अन्न-जल भी त्यागना पड़ेगा तो हम उससे भी नहीं चूकेंगे.

** फर्जीवाड़ा: अगर आप ब्रांडेड कपड़े पहनने के हैं शौकीन तो हो जाएं सावधान, यहां डुप्लीकेट ब्रांडों की हो रही है सप्लाई

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close