विज्ञापन
Story ProgressBack

ऐसे कैसे होगा बाल कल्याण! बेसहारा बच्चों को क्यों नहीं मिल रही CM Covid-19 Bal Kalyan Yojana की राशि

MP CM Covid-19 Bal Seva Yojana: कोरोना संक्रमण के भयावह दौर में कईयों ने अपनों को खोया था. इस खतरनाक बीमारी के चलते कई मासूमों के ऊपर से उनके माता-पिता का साया उठ गया था. इन बच्चों के पालन-पोषण, दैनिक जरूरतों और शिक्षा के लिए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल कल्याण सहायता योजना प्रारंभ की थी, जिसके तहत अनाथ बच्चों को प्रतिमाह पांच हजार रुपए सहायता राशि प्रदान की जाती है.

Read Time: 4 mins
ऐसे कैसे होगा बाल कल्याण! बेसहारा बच्चों को क्यों नहीं मिल रही CM Covid-19 Bal Kalyan Yojana की राशि

Chief Minister Covid Child Welfare Scheme Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश में इन दिनों बजट का संकट कई योजनाओं में देखने को मिल रहा है. इस समय कई शासकीय विभाग आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं. बजट के आभाव में अनेकों योजनाएं प्रभावित हो रही हैं. ऐसे में इन योजनाओं पर आश्रित हितग्राही परेशान हैं. कोरोना (Covid-19) संक्रमण काल में अनाथ यानी बेसहारा हुए बच्चों की देखभाल (Child Care) और शिक्षा (Education) के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) द्वारा मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना (Mukhyamantri Covid-19 Bal Kalyan Yojna) शुरु की गई थी. अब यह योजना बजट के आभाव में दम तोड़ती नजर आ रही है. हालात ऐसे हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री के गृह जिले सीहोर में बेसहारा हुए बच्चों के खातों में इस योजना की अप्रैल और मई माह की सहायता राशि नहीं आई है. ऐसे में इन बच्चों का जीवन कठिनाईयों से गुजर रहा है.

पहले जानिए क्या है इस नियम की शर्तें : 

माता-पिता की कोविड-19 से मृत्यु हुई हो या माता-पिता का निधन पूर्व में हो गया था तथा उनके वैध अभिभावक की कोविड-19 से मृत्यु हुई हो. माता-पिता में से किसी एक का पूर्व में निधन हो चुका है तथा अब दुसरे की कोविड-19 से मृत्यु हुई है. "कोविड-19 से मृत्यु" का मतलब यह है कि ऐसी किसी भी मृत्यु से है, जो 1 मार्च, 2021 से 30 जून, 2021 तक की अवधि में हुई हो.

कोरोना संक्रमण के भयावह दौर में कईयों ने अपनों को खोया था. इस खतरनाक बीमारी के चलते कई मासूमों के ऊपर से उनके माता-पिता का साया उठ गया था. इन बच्चों के पालन-पोषण, दैनिक जरूरतों और शिक्षा के लिए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल कल्याण सहायता योजना प्रारंभ की थी, जिसके तहत अनाथ बच्चों को प्रतिमाह पांच हजार रुपए सहायता राशि प्रदान की जाती है. इस योजना में सीहोर जिले में 19 बच्चे पंजीकृत हैं, वहीं पीएम केयर फार चिल्ड्रन योजना (PM CARES for Children Scheme) में 4 बच्चे पंजीकृत हैं.

MP CM Covid-19 Bal Seva Yojana में मार्च माह तक राशि मिली

इस योजना के तहत सहायता राशि बच्चे और संरक्षक के संयुक्त खाते में डाली जाती है. शुरुआती महीनों तक योजना नियमित संचालित की जा रही थी, लेकिन कुछ महीनों से योजना डगमगा रही है. बच्चों के खातों में प्रतिमाह राशि नहीं पहुंच रही है. वर्तमान में मार्च महीने तक ही सहायता राशि बच्चों के खातों में पहुंची है, जबकि अप्रैल और मई माह की राशि खातों में नहीं आ सकी है.

जिम्मेदारों का क्या कहना है?

सीहोर के महिला बाल विकास अधिकारी प्रफुल्ल खत्री बताते हैं कि मार्च महीने तक की राशि बच्चों के खातों में आ चुकी है. अप्रैल-मई माह का बजट प्राप्त नहीं हुआ है. अचार संहिता के कारण बजट रुका है. बजट मिलने पर तुरंत खातों में राशि भेज दी जाएगी.

लाड़ली बहना में नियमित राशि / Chief Minister Ladli Behna Yojana

मुख्‍यमंत्री लाड़ली बहना योजना (Ladli Behna Yojana) भी महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित होती है. अचंभित करने वाली बात तो यह है कि अनाथ बच्चों संबंधी योजना बजट के आभाव में ड़गमगा रही है जबकि इस विभाग से ही संचालित योजना लाड़ली बहना नियमित रूप से संचालित हो रही है. योजना के तहत महिलाओं के खातों में प्रतिमाह राशि हितग्राही तक पहुंच रही है. लाड़ली बहना योजना में मई माह की राशि भी महिलाओं के खातों में पहुंच चुकी है.

यह भी पढ़ें : सावधान! मौत की घंटी बन रही पानी की टंकी... दहशत के साए में रहते हैं यहां के रहवासी

यह भी पढ़ें : गिरफ्त में "पुलिस"! छाछ-आम जैसे कोडवर्ड, 2 से 10 लाख में मान्यता का सौदा, देखिए NDTV नर्सिंग कॉलेज पड़ताल

यह भी पढ़ें : Narayanpur Naxal Encounter: नारायणपुर में सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच ज़बरदस्त मुठभेड़

यह भी पढ़ें : PoK लेकर रहेंगे! रांची में शिवराज ने कहा-राहुल गांधी को थोपा गया, CONG, JMM, RJD तीन तिगाड़ा काम बिगाड़ा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP News: महिला डॉक्टर ने लगाया सिविल सर्जन पर मानसिक प्रताड़ना के आरोप, कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश
ऐसे कैसे होगा बाल कल्याण! बेसहारा बच्चों को क्यों नहीं मिल रही CM Covid-19 Bal Kalyan Yojana की राशि
MPSC Result 2021 Gwalior Pawan Ghuriya passed PAC exam in first attempt became Deputy Collector
Next Article
MPPSC के 1st Attempt में पवन बने डिप्टी कलेक्टर, गरीब बच्चों पर कही बड़ी बात 
Close
;