विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 07, 2023

Balaghat News: शासकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण को प्रशासन ने सख्ती से हटवाया

बताया जाता हैं कि वारासिवनी के शासकीय महाविद्यालय के पीछे स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी सिकन्द्रा की खाली पड़ी जमीन पर कुछ लोंगो ने कब्जा कर मूर्ति की स्थापना कर दी थी.

Balaghat News: शासकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण को प्रशासन ने सख्ती से हटवाया
अतिक्रमण को प्रशासन ने सख्ती से हटवाया
बालाघाट:

Balaghat News: जिले की वारासिवनी तहसील के अंतर्गत हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में एक समुदाय द्वारा शासकीय भूमि पर किये गए अतिक्रमण को तोड़ दिया गया. इस दौरान समाज विशेष के लोगों ने मौके पर पहुंचकर प्रशासन की कार्रवाई का विरोध प्रारंभ कर दिया, जिसके बाद प्रशासन ने वारासिवनी रामपायली और खैरलांजी से पुलिस बल मौके पर बुला ली, जिससे मौके पर कानून व्यवस्था बनी रही.

Latest and Breaking News on NDTV

बताया जाता हैं कि वारासिवनी के शासकीय महाविद्यालय के पीछे स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी सिकन्द्रा की खाली पड़ी जमीन पर कुछ लोंगो ने कब्जा कर डॉ. आंबेडकर की मूर्ति की स्थापना कर दी थी, जिसकी जानकारी शुक्रवार सुबह प्रशासन को मिलने के बाद एसडीएम अपने अधीनस्थ कर्मचारियों एवं वारासिवनी पुलिस को साथ लेकर गए, जहां उन्होंने मूर्ति को सम्मान पूर्वक हटाने का कार्य किया.

Latest and Breaking News on NDTV

ये भी पढ़ें- चुनाव से पहले एक्शन में MP पुलिस, छतरपुर में पुलिस ने बोलेरो गाड़ी से बरामद किए 13 लाख रुपए, जांच जारी

समुदाय के लोगों ने मौके पर पहुंच किया मूर्ति हटाने का विरोध
प्रशासन द्वारा मूर्ति हटाए जाने की खबर लगते ही समुदाय विशेष की महिला और पुरुष मौके पर पहुंच गए और विरोध करने लगे, जिसको देखते हुए अधिकारियों ने रामपायली खैरलांजी से अतिरिक्त पुलिस बल सावधानी बतौर बुलवा लिया, लेकिन अधिकारियों  के समझाने की वजह से स्थिति कंट्रोल में रही. अधिकारियों और समाज के पदाधिकारियों के बीच हुई सौहार्दपूर्ण माहौल में चर्चा के बाद प्रशासन द्वारा जमीन प्रदान करने के बाद मूर्ति स्थापना करने का निर्णय लिया है.

Latest and Breaking News on NDTV

सार्वजनिक अम्बेडकर फुले जयंती समारोह के अध्यक्ष अशोक वासनिक ने कहा कि शहर में सभी समाजों के खुद के निजी भवन सरकारी जमीनों पर बने हुए हैं, लेकिन हमारे बौद्ध समाज का भवन नही है, जिसके लिए हमने स्थानीय विधायक सहित प्रशासन में बैठे अधिकारियों से इस जमीन की मांग समाज के भवन के लिए करते हुए ग्राम पंचायत को भी आवेदन दिया था, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई न होने पर हमने गुरुवार को खाली पड़ी सरकारी जमीन पर संविधान निर्माता डॉ. आंबेडकर की मूर्ति की स्थापना की थी, जिसे प्रशासन ने हटा दिया. हमारी प्रशासन से सौहार्दपूर्ण माहौल में चर्चा हो रही है. उम्मीद है कि जिम्मेदार हमारी भावनाओं को समझेंगे और हमें मूर्ति स्थापना एवं भवन के लिए जगह उपलब्ध करवाएंगे.

Latest and Breaking News on NDTV

ये भी पढ़ें- Shajapur: ट्रैक्टर से टकराने के बाद ट्रक ने सड़क किनारे चल रहे लोगों को रौंदा, 4 की मौत

वारासिवनी एसडीएम कामिनी ठाकुर ने कहा कि कुछ लोंगो ने सरकारी जमीन पर सामुदायिक भवन बनाने के लिए कुछ निर्माण कार्य किया था, जिसे हटा दिया गया है और समाज के लोंगो से निवेदन किया गया हैं कि शासन के नियमानुसार जमीन प्राप्त करें और निर्माण कार्य करें, जिसे समाज के लोंगो द्वारा मान लिया गया है.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
नर्सिंग स्टूडेंट्स ने फीस और डाक्यूमेंट्स वापस दिलाने के लिए लगाई थाने में गुहार, हाईकोर्ट ने निरस्त की थी कॉलेज की मान्यता
Balaghat News: शासकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण को प्रशासन ने सख्ती से हटवाया
Amarwara By Elections Congress spokesperson Pawan Khera made these serious allegations on MP Government
Next Article
Amarwara By Elections: हार के बाद कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने लगाए ये गंभीर आरोप, बोले-नेताओं ने नहीं, इन्होंने हमें हराया
Close
;