विज्ञापन
Story ProgressBack

MP News: सेना और नेवी प्रमुख के बीच गजब का कनेक्शन आया सामने, दोनों ही रह चुके हैं सहपाठी

Rewa News: लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी द्विवेदी को भारतीय सेना का प्रमुख बनाया गया है. उनके साथ ही, वर्तमान में सतना जिला निवासी एड्रिमल दिनेश त्रिपाठी जल सेना की कमान संभाल रहे हैं. दोनों सहपाठियों ने सेना के क्षेत्र में पहली बार ऐसा कुछ करके दिखाया है.

MP News: सेना और नेवी प्रमुख के बीच गजब का कनेक्शन आया सामने, दोनों ही रह चुके हैं सहपाठी
सेना प्रमुख और नेवी प्रमुख के बीच है गहरा नाता

Army Chief from MP: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) का रीवा (Rewa) संभाग देश में रक्षा के क्षेत्र (Defense Sector) में शिखर पर पहुंच चुका है. यहां के लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी (Lt. Gen. Upendra Dwivedi) सेना प्रमुख बने है. उन्होंने वर्तमान आर्मी चीफ (Army Chief) मनोज पांडे की जगह ली. वहीं दूसरी तरफ वर्तमान में सतना (Satna) जिला निवासी एडमायरल दिनेश त्रिपाठी (Admiral Dinesh Tripathi) जल सेना (Navy) की कमान संभाल रहे हैं. इस तरीके का अनोखा कारनामा सेना में पहली बार हुआ है, जब चंद कदमों की दूरी पर रहने वाले, एक साथ पढ़ने वाले दो दोस्तों ने सेना में इस तरीके का मुकाम हासिल किया हो. उपेंद्र द्विवेदी और दिनेश त्रिपाठी रीवा ने सैनिक स्कूल (Army School) से एक ही बैच में पढ़ाई की थी. 

एक साथ छोड़ा था रीवा सैनिक स्कूल

आपस में सहपाठी लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी और एड्रिमल दिनेश त्रिपाठी ने रीवा सैनिक स्कूल को 1981 में एक साथ छोड़ा था. उसके बाद सेना की नौकरी में शामिल हो गए. सैनिक स्कूल के नर्मदा हॉस्टल में रहने वाले छात्र बेहद खुश हैं, वहीं दूसरी ओर राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित उनको पढ़ने वाले शिक्षक भी उपेंद्र द्विवेदी के सेना प्रमुख बनाए जाने की बात सुनकर गदगद है. उपेंद्र द्विवेदी के ग्रह ग्राम के विधायक नरेंद्र प्रजापति भी इसे ऐतिहासिक लम्हा मान रहे हैं. 

आज के छत्तीसगढ़ में हुई थी प्रारंभिक शिक्षा 

लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी की प्रारंभिक शिक्षा आज के अंबिकापुर छत्तीसगढ़ में हुई थी. पांचवी के बाद इन्होंने रीवा के सैनिक स्कूल में दाखिला ले लिया. 1981 में रीवा सैनिक स्कूल से पास आउट हुए, उसके बाद सैनिक स्कूल रीवा के दो पास आउट छात्रों ने सेना में जाने का फैसला किया. उन दो पास आउट हुए छात्रों में से एक का नाम उपेंद्र द्विवेदी तो दूसरे का दिनेश त्रिपाठी था. इसका सीधा सा अर्थ, आज के वर्तमान समय में एक बन गया जल सेना प्रमुख, तो दूसरा बन गया थल सेना प्रमुख... 

उपेंद्र द्विवेदी का पारिवारिक परिदृश्य

लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी रीवा श्याम शाह मेडिकल कॉलेज के डीन प्रसिद्ध नेत्र सर्जन डॉक्टर पी. सी. द्विवेदी के छोटे भाई हैं. उनके पिता कृष्ण द्विवेदी रीवा जिले के पहले माइनिंग ऑफिसर हुआ करते थे. बड़े भाई नेत्र चिकित्सक, बीच के भाई रिटायर्ड चीफ इंजीनियर और छोटा भाई थल सेना प्रमुख बनने जा रहा है. लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी के खाते में बेशुमार उपलब्धियां दर्ज हैं. जम्मू कश्मीर राइफल्स बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर रह चुके उपेंद्र द्विवेदी, इंस्पेक्टर जनरल असम राइफल्स मणिपुर के अलावा डायरेक्टर जनरल सेना मुख्यालय रहने के अलावा यूनाइटेड नेशंस के साथ सोमालिया में भारत का प्रतिनिधित्व भी कर चुके हैं. 

ये भी पढ़ें :- Vidisha: रेलवे स्टेशन पर बड़ा हादसा, ओवर ब्रिज के निर्माण में लगा मजदूर ट्रेन की चपेट में आया

अमेरिका से ली है खास ट्रेनिंग

यू. एस  वार आर्मी कॉलेज, वाशिंगटन से उन्होंने विशेष प्रशिक्षण प्राप्त किया है. नवंबर 2021 को भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी को अति विशिष्ट सेवा सम्मान से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है. आज पूरा रीवा, पूरा द्विवेदी परिवार और पूरा सैनिक स्कूल बेहद खुश है. खुशी का यह लम्हा लंबे अरसे बाद आया है. जब सेना के सर्वोच्च पद पर रीवा के एक नहीं दो-दो लाल दिखाई देगा. इस उपलब्धि को लेकर हमने उपेंद्र द्विवेदी के भाई डॉक्टर पीसी द्विवेदी जिनके पास रहकर उपेंद्र द्विवेदी ने पूरी पढ़ाई लिखाई की थी.

ये भी पढ़ें :- PMI: अर्थव्यवस्था और रोजगार को लेकर आई अच्छी खबर, जून में मैन्युफैक्चरिंग PMI और नौकरियों का ऐसा आया आंकड़ा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
भाजपा पार्षद पर आर्थिक सहायता के बहाने महिला से दुष्कर्म का लगा आरोप, एक्टिव हुई पुलिस
MP News: सेना और नेवी प्रमुख के बीच गजब का कनेक्शन आया सामने, दोनों ही रह चुके हैं सहपाठी
167 year old tradition was followed in Rewa Tajia was taken out on the day of Moharram know the history of Moharram month of islam religion
Next Article
रीवा में निभाई गई 167 साल पुरानी परंपरा, मोहर्रम के दिन निकाली गई ताजिया, जानें इन दिन का इतिहास
Close
;