विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 25, 2023

Skin Care : ठंड में अगर आप भी रहते हैं स्किन रैशेज से परेशान, जानिए कैसे करना है इसका समाधान?

ठंड में जहां ड्राई स्किन (Dry Skin) की समस्या बढ़ जाती है, वहीं इस मौसम में कुछ लोगों के स्किन पर विंटर रैशेज (Winter Rashes) निकल आते हैं. कई लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें विंटर रैशेज के बारे में जानकारी नहीं होती, आइए हम इस समस्या और इससे बचने के उपाय जानते हैं. 

Read Time: 5 mins
Skin Care : ठंड में अगर आप भी रहते हैं स्किन रैशेज से परेशान, जानिए कैसे करना है इसका समाधान?

Skin Care Tips & Tricks : सर्दियों की शुरूआत (Winter Season Starts) हो चुकी है, इस बदलते मौसम में त्वचा संबंधित तमाम समस्याओं (Skin Related Problems) का खतरा बढ़ जाता है. ठंड में जहां ड्राई स्किन (Dry Skin) की समस्या बढ़ जाती है, वहीं इस मौसम में कुछ लोगों के स्किन पर विंटर रैशेज (Winter Rashes) निकल आते हैं. कई लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें विंटर रैशेज के बारे में जानकारी नहीं होती, आइए हम इस समस्या और इससे बचने के उपाय जानते हैं. 

पहले जानते हैं आखिर विंटर रैशेज है क्या?

ठंडी हवा के संपर्क में आने और वातावरण में अधिक ठंड होने से त्वचा ड्राई हो जाती है. वहीं ठंड में जब स्किन पर रेड पैच (लाल चक्कते) दिखने लगते हैं और त्वचा पपड़ी जैसी फील होने लगती है. इसके अलावा  त्वचा के कुछ हिस्सों में छोटे-छोटे लाल रंग के दाने निकल आते हैं, तब इस स्थिति काे विंटर रैशेज कहते हैं.

क्यों होते हैं विंटर रैशेज?

ठंड के मौसम में ड्राई विंटर एयर के कारण यह समस्या होती है. गर्म और ठंडी हवा दोनों ही त्वचा से पानी यानी कि नमी को छीन लेती है. विंटर रैश को आम भाषा में ड्राई और डिहाइड्रेटेड स्किन भी कहते हैं. वहीं यदि आपकी त्वचा अधिक संवेदनशील है, तो विंटर रैश का खतरा अधिक होता है. इतना ही नहीं सर्दियों का मौसम एक्जिमा और सोरायसिस से पीड़ित व्यक्ति में लक्षणों को ट्रिगर करता है, जिससे की त्वचा संबंधी कई परेशानियां बढ़ जाती हैं.

विंटर रैशेज से कैसे करें बचाव? 

1. शॉवर रूटीन पर ध्यान दें

ठंड के मौसम में अधिक फ्रिक्वेंटली शॉवर न लें. वहीं गर्म पानी (Warm Water) से शॉवर लेने से बचें, क्योंकि यह आपके त्वचा से नमी छीन सकत है. ठंड में सामान्य तापमान वाले पानी से दिन में एक बार शॉवर लें. इसके अलावा नहाने के बाद हल्के गीले शरीर पर मॉइश्चराइजर (Moisturizer) अप्लाई करें, यह हाइड्रेशन लॉक करने में मदद करेगा और विंटर रैशेज को भी नहीं होने देगा.

2. कंफर्टेबल कपड़े चुनिए

ठंड में हम अक्सर कई सारे कपड़े पहन लेते हैं, जिससे हमारे कपड़ों से एयर पास नहीं हो पाती. ऐसे में मुलायम और हवा पास होने वाले कपड़ों को प्राथमिकता दें.  ऊनी कपड़े पहनने से पहले बॉडी पर कॉटन के कपड़े (Cotton Cloths) पहनना न भूले. कई बार ऊनी कपड़े भी स्किन को इरिटेट कर देते हैं और विंटर रैश का कारण बन सकते हैं.

3. इंडोर एयर को मॉइस्ट रखें

घर के अंदर की हवा में मॉइश्चर को बनाए रखने के लिए ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल कर सकते हैं, इससे हवा ड्राई नहीं होती और त्वचा में भी नमी बनी रहती है.

4. विंटर सनबर्न 

ठंड में हम धूप देखकर कुछ देर रुक जाते हैं. कई लोग दिन के समय पार्क या छत पर समय बिताना पसंद करते हैं. ऐसे में सनबर्न (Sunburn) विंटर रैशेज के खतरे को बढ़ा देता है. इसलिए घर के बाहर सूरज की किरणों (UV Rays) के संपर्क में आने से पहले सनस्क्रीन जरूर लगाएं. एसएफ 30 या इससे अधिक एसएफ वाले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें.

विंटर रैशेज का उपचार

1. मॉइश्चराइजर है सबसे जरूरी 

मॉइश्चराइजर अप्लाई करने से आपकी त्वचा में नमी बनी रहती है, जिससे की विंटर रैशेज का खतरा सीमित हो जाता है. विंटर रैश होने पर आपको दिन में हर 2 घंटे पर मॉइश्चराइजर अप्लाई करने की आवश्यकता होती है. वहीं नहाने के बाद इसे अप्लाई करना अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है. इसे चेहरे के साथ-साथ अपने हाथ, पैर एवं गर्दन की त्वचा पर भी अप्लाई करें.

2. पेट्रोलियम जेली से मिलेगी मदद

पेट्रोलियम जेली (Petroleum jelly) स्किन बैरियर की तरह काम करती है, यह मॉइश्चराइजर को त्वचा से बाहर नहीं आने देती. मॉइश्चराइजर लगाने के बाद पेट्रोलियम जेली अप्लाई करें. वहीं आप चाहे तो केवल पेट्रोलियम जेली का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, यह भी स्किन रैशेज से राहत देगी.

3. नेचुरल ऑयल करें अप्लाई

नेचुरल ऑयल (Natural Oil) जैसे ऑलिव ऑयल, कोकोनोट ऑयल जोकि मॉइश्चराइजिंग प्रॉपर्टी से युक्त होते हैं, इनको त्वचा पर अप्लाई करने से स्किन में मॉइश्चर लॉक हो जाता है. यह विंटर रैशेज के खतरे को कम कर देते हैं.

4. दूध भी है फायदेमंद

दूध (Milk) आपकी खुजलीदार त्वचा को शांत करने में मदद करता है. कॉटन के कपड़े को दूध में डुबोएं और प्रभावित जगह लगाएं. बेहतर परिणाम के लिए रात को प्रभावित जगहों पर दूध अप्लाई करके सो जाएं. दूध में मॉइश्चराइजिंग प्रॉपर्टी के साथ-साथ कई अन्य खास प्रॉपर्टीज भी पाई जाती हैं, जो त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए बेहद कारगर होते हैं.

यह भी पढ़ें : Beauty Tips : बेसन में छिपे हैं चेहरे को निखारने के राज़, घर पर आसानी से बनाएं ये FacePack

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Kalki 2898 AD: बॉक्स ऑफिस पर कुल कमाई 1000 करोड़ पार, पीछे छूटा बॉलीवुड का “पठान”, आख़िर बिग बी के घर महाभारत ने क्यों मचाई घमासान
Skin Care : ठंड में अगर आप भी रहते हैं स्किन रैशेज से परेशान, जानिए कैसे करना है इसका समाधान?
If you want to detox your liver then drink the water of this dry fruit, know the recipe here
Next Article
Liver को करना है Detox, तो पिएं इस ड्राईफ्रूट का पानी, जानिए बनाने का तरीका
Close
;