विज्ञापन
Story ProgressBack

छत्तीसगढ़ में नज़र आया दुर्लभ सफेद भालू, देखने के लिए दूर-दूर से लगी भीड़ 

Chhattisgarh News in Hindi, White Bear : छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के गौरेला पेंड्रा मरवाही ज़िले में गुरुवार को एक सफ़ेद भालू का शावक मिलने से हर कोई हैरान रह गया. बता दें कि ये भालू आज अपनी मां से बिछड़ गांव आ गया था. जिसके बाद आस-पास के लोगों ने इसकी खबर वन विभाग को दी.

छत्तीसगढ़ में नज़र आया दुर्लभ सफेद भालू, देखने के लिए दूर-दूर से लगी भीड़ 
छत्तीसगढ़ में नज़र आया दुर्लभ सफेद भालू, देखने के लिए दूर-दूर से लगी भीड़ 

White Bear: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के गौरेला पेंड्रा मरवाही ज़िले में गुरुवार को एक सफ़ेद भालू का शावक मिलने से हर कोई हैरान रह गया. बता दें कि ये भालू आज अपनी मां से बिछड़ गांव आ गया था. जिसके बाद आस-पास के लोगों ने इसकी खबर वन विभाग को दी. इसके बाद वन विभाग मौके पर पहुंचीं और तीन डॉक्टरों की टीम ने इसका इलाज कर इसके स्वस्थ बताया. दरअसल, अपनी मां से बिछड़ने और भटकने के कारण भूख प्यास से असहज हो गया था, अब वन मंडल अधिकारी इसे इसकी मां के पास प्राकृतिक रहवास में छोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. जानकारी के लिए बता दें कि  सफेद भालू दुर्लभ प्रजाति का जानवर है. लेकिन ये वाला भालू Polar Bear नहीं हैं. ऐसे भालू कुछ जेनेटिक कारणों से सफ़ेद होते हैं. 

देखने के लिए जमा हुई भीड़ 

बहुत छोटे होने के कारण आसपास के लोगों इसे देखने के लिए भीड़ लगा दी. दिखने में ये भालू बेहद प्यारा है. इन सफेद भालुओं के सभी बाल पूरी तरह सफेद होते हैं जबकि आंखें सुर्ख लाल होती है. भालू लैंड के नाम से जाने जाने वाले मरवाही मंडल में काले भालू तो अक्सर देखने को मिल जाते हैं. लेकिन सफ़ेद भालू मिलना अपने आप में बड़ी बात है. हालांकि यह भालू पोलर बियर दक्षिणी ध्रुव का नहीं है फिर भी जेनेटिक कारणों से यहां कभी-कभी सफेद भालू देखने को मिल जाते हैं. सफेद भालू मरवाही वन मंडल में मिलने से हर कोई हैरान रह गया है. 

वन विभाग ने दिए ये आदेश 

बेहद नन्हे से इस भालू को लोगों ने उठाकर अपने पास रख लिया. फिर वन विभाग को इसकी इत्तिला दी गई. खबर मिलते ही वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे. जिसके बाद लोगों ने शावक को वन विभाग के अधिकारियों को सौंप दिया. शावक को सही-सलामत बरामद करने के बाद उसे स्वास्थ्य चेकअप के लिए भेजा गया. इसके बाद शावक को शहद दिया गया जिसे उसने खा लिया. इसके बाद पानी देने अपर लगभग 1 लीटर पानी भी पी गया. इसके बाद डॉक्टरों की सलाह पर  भालू के शावक को फल खिलाने के लिए कहा गया है. वन मंडल अधिकारी ने वन अमले को भालू की विशेष निगरानी करने के आदेश दिए है और ग्रामीणों को भालू से दूर रहने की सलाह दी है, ताकि भालू जल्द अपनी मां के पास चला जाए. बता दें कि छत्तीसगढ़ के कई ज़िलों के जंगल में पहले भी दुर्लभ सफेद भालू देखे गए हैं.

 ये भी पढ़ें : 

जंगल किनारे सूने मकान में मिले नन्हे भालू, ग्रामीणों की लगी भीड़, वन विभाग मौके पर मौजूद

कोरिया में मिला बर्फीले भालू का शावक, वन विभाग ने रेस्क्यू करके भेजा जंगल सफारी

  
 

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Union Budget: ऐसे देख सकते हैं बजट 2024 की घोषणा का सीधा प्रसारण, जानें पूरी डिटेल
छत्तीसगढ़ में नज़र आया दुर्लभ सफेद भालू, देखने के लिए दूर-दूर से लगी भीड़ 
Why Are Assam Wild Buffaloes Still Captive in Chhattisgarh High Court Demands Answers
Next Article
Chhattisgarh : असम के वन भैंसे अब तक कैद क्यों ? हाई कोर्ट ने जवाब किया तलब
Close
;