विज्ञापन
Story ProgressBack

Bilaspur: लंबे समय से नदारद रहे 20 शिक्षकों पर गिरी गाज, कलेक्टर ने सेवा समाप्ति का नोटिस जारी करने के दिए निर्देश

Bilaspur News: बिलासपुर कलेक्टर ने ड्यूटी से नदारद रहे 20 शिक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं. इनमें से जो शिक्षक तीन साल से अधिक समय से नदारद हैं उनके सेवा समाप्ति का नोटिस जारी करने का आदेश दिया गया है.

Read Time: 3 min
Bilaspur: लंबे समय से नदारद रहे 20 शिक्षकों पर गिरी गाज, कलेक्टर ने सेवा समाप्ति का नोटिस जारी करने के दिए निर्देश

Termination of Service of Teachers: बिलासपुर (Bilaspur) में लंबे समय से स्कूल से नदारद रहे 20 शिक्षकों पर प्रशासन की गाज गिरी है. जिला कलेक्टर (Bilaspur Collector) ने इन शिक्षकों के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए सेवा समाप्ति (Termination of Service) के लिए नोटिस जारी करने के आदेश दे दिए हैं. जिसके बाद जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer) इन शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे. आपको बता दें कि ये शिक्षक जिले की विभिन्न स्कूलों में पदस्थ हैं, जो कि लंबे समय से अनधिकृत रूप से स्कूल से नदारद रहे हैं.

बीते दिनों ऐसे शिक्षकों की शिकायत मिलने पर कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को ड्यूटी से नदारद रहे शिक्षकों की सूची बनाने के आदेश दिए थे. जिसके बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने ऐसे 20 शिक्षकों की सूची सौंपी जो स्कूलों में ड्यूटी करने के बजाय पिछले कई साल से नदारद रहे. कलेक्टर अवनीश शरण ने सोमवार को इन शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए. आपको बता दें कि लगातार तीन साल से अधिक समय से शासकीय सेवा से बाहर रहने पर कर्मचारी की सेवा समाप्ति के निर्देश हैं.

गायब रहे शिक्षकों पर होगी कार्रवाई

कलेक्टर अवनीश शरण के आदेश के तहत तीन साल की अवधि से अधिक समय तक गायब रहे शिक्षकों के खिलाफ सेवा समाप्ति का नोटिस जारी किया जाएगा, जबकि तीन साल के कम समय के लिए ड्यूटी से नदारद रहे शिक्षकों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि कलेक्टर ने जिन शिक्षकों के खिलाफ नोटिस जारी करने के आदेश दिए हैं उनमें से 13 शिक्षक पिछले तीन साल से गैरहाजिर हैं, जबकि 7 शिक्षक एवं कर्मचारी 3 साल से कम अवधि के स्कूल नहीं पहुंच रहे हैं. जानकारी के मुताबिक, इनमें से कुछ शिक्षक तो 10-11 साल से बिना किसी सूचना के स्कूल से नदारद हैं.

ये शिक्षक रहे नदारद

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के अनुसार, बिल्लीबंद (कोटा) के शिक्षक बत्तीलाल मीना 11 वर्ष से, मनोरमा तिवारी रिस्दा 10 साल से, प्रेमलता पाण्डेय नवागांव 9 साल से, राकेश उरांव दर्रीघाट 8 साल से, अल्का महतो फरहदा 7 साल से, नलिनी अग्रवाल दर्रीघाट 6 साल से, दिव्यनारायण रात्रे 6 साल से, स्टेनली मार्क एक्का तिफरा 5 साल से, बसंत कुमार लकड़ा ओखर 5 साल से, शारदा सिंह मोढ़े 5 साल से, यशवंत कुमार साहू डण्डासागर 3 साल से, मेघा यादव परसापानी 3 साल से, हरीराम पटेल भटचैरा 3 साल से, शिवकुमार बछाली खुर्द 2 साल से, अमन मिरी 22 महीने से, श्याम सुंदर तिवारी सीपत 18 माह से, राकेश मिश्रा बेलसरा 18 माह से, मदनलाल श्यामले कंआंजति 17 माह से, रामबिहारी ताम्रकार मस्तरी 15 माह से और शशिकान्त यादव सीस 11 महीने से स्कूल नहीं पहुंच रहे हैं.

ये भी पढ़ें - Jagdalpur: टहकवाड़ा हमले के आरोपी चार नक्सलियों को आजीवन कारावास की सजा, 15 जवानों की हुई थी शहादत

ये भी पढ़ें - ग्राउंड रिपोर्ट : करोड़ों खर्च, दिनभर की मेहनत और चुल्लू भर पानी... जीवन का 'मिशन' बना 'जल'

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close