विज्ञापन
Story ProgressBack

Mahadev Betting App Case: छत्तीसगढ़ के कई जिलों में EOW की टीम कर रही बड़ी कार्रवाई, गायब पुलिस कर्मी- कारोबारी का मकान सील

Mahadev Satta App Case: छत्तीसगढ़ में महादेव सट्टा एप के मामले में छत्तीसगढ़ के कई जिलों में एकसाथ बड़ी कार्रवाई चल रही है. प्रदेश के कई जिलों में एक केस से जुड़े लोगों के ठिकानों तक ईओडब्ल्यू की टीम ने दबिश दी है. सुबह से चल रही इस कार्रवाई से हड़कंप मचा है.

Read Time: 2 mins
Mahadev Betting App Case: छत्तीसगढ़ के कई जिलों में EOW की टीम कर रही बड़ी कार्रवाई, गायब पुलिस कर्मी- कारोबारी का मकान सील
कांकेर में पुलिस कर्मी के घर के बाहर इंतज़ार करती टीम.

Mahadev Betting App Case : छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित महादेव सट्टा ऐप (Mahadev Satta App) मामले में एक बड़ी छापेमार कार्रवाई चल रही है. आर्थिक अपराध शाखा  (ईओडब्ल्यू) की टीम प्रदेश के कई जिलों में एक साथ कार्रवाई कर रही है. टीम के साथ सुरक्षा बलों के भी जवान बड़ी संख्या में तैनात हैं. प्रदेश के रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, कांकेर, बिलासपुर जिले में एक साथ ये कार्रवाई चल रही है. कांकेर और धरमजयगढ़ जिले के गायब कारोबारी और पुलिसकर्मी के घर को सील कर दिया गया है. 

लोकसभा चुनाव (Loksabha Election)  का तीसरा चरण पूरा होते ही छत्तीसगढ़ में महादेव सट्टा ऐप (Mahadev Betting App Case)  मामले में एक बार फिर से हड़कंप मचा है.15000 करोड़ रुपये के महादेव बुक सट्टेबाजी ऐप मामले ईओडब्ल्यू ने गुरुवार की सुबह एक बड़ी कार्रवाई करते हुए छत्तीसगढ़ के कई जिलों में एक साथ छापा मारा है. प्रदेश के अलग-अलग जिलों में ईओडब्ल्यू की टीम इस मामले से जुड़े लोगों के ठिकानों में दबिश देकर कार्रवाई कर रही है. इनमें पुलिस कर्मचारी,व्यापारी सहित अन्य लोग शामिल हैं. टीम ने कांकेर जिले के हवलदार विजय पांडे के घर पर दबिश दी. घर पर टाला लगा होने के कारण टीम बाहर ही मौजूद है. घर के अंदर और बाहर टीम का कोई सदस्य नहीं होने के कारण टीम बाहर खड़ी रही. लम्बे इंतजार के बाद कोई नहीं पहुंचा तो घर को सील कर दिया.

ये भी पढ़ें PBKS Vs RCB: पंजाब और बेंगलुरु के बीच आज होगी भिड़ंत, जानें प्लेइंग इलेवन, पिच रिपोर्ट और मैच प्रेडिक्शन

पूर्व CM सहित 16 लोगों के खिलाफ FIR 

बता दें कि महादेव सट्टा ऐप केस में करीब महीने भर पहले पूर्व सीएम भूपेश बघेल सहित 16 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी. आरोप लगे थे कि पूर्व राज्य सरकार और प्रशासन ने प्रोटेक्शन मनी लेकर महादेव ऐप के अवैध कारोबार में मदद की थी. हालंकि इस पूरे मामले पर भूपेश बघेल ने कहा था कि FIR की कॉपी में कहीं भी उनका नाम नहीं है. 

ये भी पढ़ें छत्तीसगढ़ व्यापम ने प्रवेश और पात्रता परीक्षा की डेट बदली, यहां देखें कौन से एग्जाम कब होंगे ? 

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कोरिया में RTI आवेदन में सामने आ रही गड़बड़ी, 2700 बच्चों ने दिया आवेदन
Mahadev Betting App Case: छत्तीसगढ़ के कई जिलों में EOW की टीम कर रही बड़ी कार्रवाई, गायब पुलिस कर्मी- कारोबारी का मकान सील
If British Built Dams Were Maintained There Wouldnt Be Such a Water Crisis
Next Article
अंग्रेजों के बनाए डैम को संभाल लेते तो.... पानी की नहीं होती इतनी किल्लत
Close
;