विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 08, 2023

Kabirdham: भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा 3 करोड़ की लागत से बना एनीकट, एक साल के भीतर ही रेत के टीले की तरह ढहा

सरकार द्वारा जल संसाधन विभाग कवर्धा के माध्यम से 2021 में 447.95 लाख रुपये की लागत से यह एनीकट और सेफ्टी वॉल बनाने के लिए स्वीकृत प्रदान की गई. लेकिन सेफ्टी वॉल के बिना ही एनीकट बनवा दिया गया.

Kabirdham: भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा 3 करोड़ की लागत से बना एनीकट, एक साल के भीतर ही रेत के टीले की तरह ढहा
एनीकट का ठेका 15 प्रतिशत कम दर पर यानी 302.65 लाख के काम को 256 लाख रुपये में दिया गया था.
कबीरधाम:

Chhattisgarh News : कबीरधाम जिले में 3 करोड़ की लागत से बना एनीकट कम काजवे महज एक साल के भीतर ही टूट गया. यह एनीकट कम काजवे जल संसाधन विभाग (Department of Water Resources Chhattisgarh) द्वारा बीजाबैरागी और डोमाटोला गांव के बीच कर्रा नदी पर बनाया गया था. बताया जा रहा है कि नदी में बाढ़ आने के चलते एनीकट टूटकर बह बह गया. एनीकट का निर्माण इतनी कमजोर और गुणवत्ताविहीन हुआ था कि वह एक साल भी नहीं चल सका. इसके साथ ही जल संसाधन विभाग और ठेकेदार की ओर से इसके निर्माण में किया गया भ्रष्टाचार सामने आ गया है. एनीकट के टूटने से इसका खामियाजा स्थानीय लोगों को भुगतना पड़ रहा है. वहीं, दूसरी तरफ भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए अधिकारी ज्यादा बाढ़ की वजह से एनीकट टूटने का राग अलाप रहे हैं.

टेंडर में हुई थी गड़बड़ी

सरकार (Chhattisgarh Government) की ओर से जल संसाधन विभाग कवर्धा के माध्यम से 2021 में 447.95 लाख रुपये की लागत से यह एनीकट और सेफ्टी वॉल बनाने के लिए स्वीकृत प्रदान की गई थी. बताया जा रहा है कि इस एनीकट कम काजवे के साथ सेफ्टी वॉल भी बनना था, जिसका एनीकट के साथ टेंडर नहीं लगाया गया. एनीकट कम काजवे बनाने के लिए 302.65 लाख रुपये का टेंडर लगाया गया. जिसे बिलासपुर पेंड्रा के ठेकेदार मोहम्मद सिराज खान के द्वारा 15 प्रतिशत कम दर पर यानी 302.65 लाख से कम 256 लाख रुपये में करने का ठेका दिया गया.

एनीकट का ठेका 15 प्रतिशत कम दर पर यानी 302.65 लाख के काम को 256 लाख रुपये में दिया गया था.

बताया जा रहा है कि इस एनीकट कम काजवे के साथ सेफ्टी वॉल भी बनना था, जिसका टेंडर ही नहीं लगाया गया.

ये भी पढ़ें - रायगढ़ पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 9 लाख की लूटपाट करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार

प्रोटेक्शन वॉल का नहीं किया गया निर्माण

बताया जा रहा कि एनीकट को पूरा कराने के लिए 447.95 लाख रुपये की राशि स्वीकृत हुई थी. जिसमें से लगभग 145 लाख रुपये का प्रोटेक्शन वॉल बनना था, लेकिन निर्माण कार्य के लिए पूरी राशि का एक साथ टेंडर नहीं दिया गया. जानकारी के मुताबिक प्रोटेक्शन वॉल का टेंडर अभी तक जारी नहीं हुआ है, जिसके चलते एनीकट के बचाव के लिए प्रोटेक्शन वॉल अभी तक नहीं बन पाया है. इस बीच प्रोटेक्शन वॉल के अभाव में एनीकट का एक बड़े हिस्से का कटाव हुआ, जिसकी वजह से एनीकट टूटकर बह गया.

एनीकट बनाने के लिए जगह के चुनाव में भी हुई गड़बड़ी

एनीकट जिस जगह पर बनाया गया है, उसके दूसरे तरफ आने-जाने का रास्ता ही नहीं है. अधिकारियों द्वारा गलत ढंग से जगह का चयन किया गया और स्वीकृत राशि का बंदर बांट करने के लिए नदी के वास्तविक चौड़ाई के अनुरूप प्राकलन तैयार नहीं किया गया. वहीं, अधिकारियों पर आरोप लग रहे हैं कि प्रोटेक्शन वॉल की राशि का बंदरबांट करने के लिए अब तक टेंडर नहीं लगाया गया.

ये भी पढ़ें - NCB के अधीक्षक ने की आत्महत्या, कोल्ड ड्रिंक में सल्फास मिलाकर पिया...फिर खा ली नींद की गोलियां

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
छत्तीसगढ़ में कैसे होगा शिक्षा का विकास ? जब बिना टीचर के चलेंगे स्कूल
Kabirdham: भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा 3 करोड़ की लागत से बना एनीकट, एक साल के भीतर ही रेत के टीले की तरह ढहा
Chhattisgarh  Weather Updates today less than average water fall in 20 districts when Badra will rain heavily rains have increased the worries of farmers
Next Article
बारिश ने बढ़ाई किसानों की चिंता... छत्तीसगढ़ के 20 जिलों में औसत से कम गिरा पानी, जानें कब तेज बरसेगा बदरा?
Close
;