विज्ञापन
Story ProgressBack

छत्तीसगढ़ : चमड़ी उधड़ते तक वन विभाग के रेंजर को लोगों ने पीटा, अर्धनग्ध हालत में जान बचाकर भागे, जानें पूरा मामला 

Chhattisgarh Crime News: छत्तीसगढ़ के गरियाबंद में वन विभाग के रेंजर और 3  अन्य कर्मी की बेदम पिटाई का मामला सामने आया है. अतिक्रमणकारियों ने उन्हें घेरकर चमड़ी उधड़ते तक पीटा. 

छत्तीसगढ़ : चमड़ी उधड़ते तक वन विभाग के रेंजर को लोगों ने पीटा, अर्धनग्ध हालत में जान बचाकर भागे, जानें पूरा मामला 

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में अतिक्रण रोकने के लिए गए रेंजर समेत 3 कर्मियों के  कपड़े उतार लाठी डंडे से बेदम पिटाई कर दी. जान बचाकर जैसे-तैसे ये सभी इनके चंगुल से निकले और गांव में ही अन्य लोगों से मदद मांगी।  इन सभी का मैनपुर  में प्राथमिक इलाज के बाद सभी को गरियाबंद रेफर किया गया है. 

ये है मामला 

शनिवार को उदंती सीता नदी अभ्यारण्य के बफर जोन के तौरेंगा वन परिक्षेत्र में अतिक्रमण की सूचना मिली थी. इसके बाद वन परिक्षेत्र अधिकारी राकेश परिहार अपनी सरकारी गाड़ी से कर्मी पिताम्बर डोंगरे के साथ अवैध अतिक्रमण को रोकने  पहुंचे थे। गोना नवापारा निवासी अशोक पिता देवीसिंह नेताम ट्रेक्टर से वन भूमि में अवैध रूप से जोताई कर रहा था. जिसे रेंजर ने रोकने का प्रयास  किया.  वन अमला को देख चालक ट्रेक्टर सहित गांव की ओर  भाग गया. घटना स्थल का मुआयना अमला कर रहा था, तभी गांव की ओर से  25 से 30 महिला-पुरूष पहुंच गए. रेंजर और वन कर्मचारियों को चारों ओर से घेरकर पकड़ लिया. रेंजर परिहार और अन्य तीनों कर्मियों के कपड़े उतरवाए, मोबाइल, पैसा भी छीना लिया. फिर भीड़  लाठी व डंडे से तब तक पीटती रही जब तक शरीर से चमड़ी न उधड़ गई. 

घायल वन परिक्षेत्र अधिकारी राकेश परिहार ने बताया कि हम लोग अवैध अतिक्रमण रोकने के लिए गए थे और 25-30 महिला पुरूषों ने हमें पकड़कर जमकर मारपीट की. साथ ही हमारे कपडे़ उतार दिए मोबाईल, पर्स, जूता, चप्पल, पैसा सब छीन लिया हम लोग अपने जान बचाने भागने लगे फिर एक महिला ने  सिर्फ सरकारी गाड़ी की ही चाबी दी. 

इनसे मांगा सहयोग 

अर्ध नग्न हालत में वे रक्शापत्थरा लघु वनोपज सहकारी समिति के प्रबंधक के घर पहुंचे और उनसे सहयोग मांगा. वहां सहयोगी कर्मियों ने धोती, साड़ी में लपेट कर पहले शोभा थाना पहुंचाया. जहां रेंजर परिहार ने मामले की लिखित शिकायत दर्ज कराई. घायलों को मैनपुर अस्पताल में भर्ती कर कर प्रारम्भिक उपचार किया गया. फिर यहां से जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया. इधर  मिलते ही उप संचालक वरुण जैन व पुलिस अफसर अस्पताल पहुंच गए थे. 

ये भी पढ़ें Naxalite Surrendered: दक्षिण बस्तर में PPCM सहित 6 नक्सलियों ने किया सरेंडर, इतने लाख रुपये के हैं इनामी

अफसर बोले- कार्ऱवाई होगी

उदंती सीता नदी टाइगर रिजर्व फॉरेस्ट के उप संचालक वरुण जैन ने कहा कि वन कर्मी अफसरों के साथ अतिक्रमण कारियों ने मारपीट की है. इस मामले उचित कानूनी कार्रवाई करने के लिए आला अफसरों को कहा गया है. घायलों का उचित उपचार कराया जा रहा है. आरोपियों की यह कायराना हरकत है. अतिक्रम हटाओ अभियान सतत जारी रहेगा. मैनपुर के SDOP पुलिस बाजीलाल सिंह ने बताया कि वन विभाग ने मामले की सूचना दी है. रिपोर्ट दर्ज होने तक बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. 

ये भी पढ़ें नौनिहालों के मिड डे मील पर डाका... स्कूल में बच्चों की थाली में न सब्ज़ी, न दाल, सिर्फ़ चावल और हल्दी!

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सड़क पर लुढ़कते हुए केंद्रीय मंत्री गडकरी के आवास में घुसा सरपंच, अब छत्तीसगढ़ से लेकर दिल्ली तक हो रही चर्चा..
छत्तीसगढ़ : चमड़ी उधड़ते तक वन विभाग के रेंजर को लोगों ने पीटा, अर्धनग्ध हालत में जान बचाकर भागे, जानें पूरा मामला 
EOW registered a new case against jailed suspended IAS Ranu Sahu Sameer Vishnoi and Saumya Chaurasia under new law BNS and Prevention of Corruption Act
Next Article
Coal Scam: निलंबित IAS रानू साहू, समीर विश्नोई और सौम्या चौरसिया की बढ़ी मुश्किलें, EOW ने नया मामला किया दर्ज
Close
;