विज्ञापन
Story ProgressBack

Chhattisgarh : शराबी अधीक्षक ने बच्चों को पीटा, फिर आधीरात हॉस्टल से बाहर निकाल दिया, मचा बवाल 

Chhattisgarh : जशपुर जिले के फरसाबहार ब्लॉक के ग्राम पंचायत डुमरिया में प्री मैट्रिक छात्रावास में रहने वाले बच्चों के साथ हॉस्टल अधीक्षक ने शराब के नशे में गालियां देकर मारपीट की. रात के अंधेरे में छात्रावास से बाहर निकाल दिया.  

Read Time: 3 mins
Chhattisgarh : शराबी अधीक्षक ने बच्चों को पीटा, फिर आधीरात हॉस्टल से बाहर निकाल दिया, मचा बवाल 

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक शराबी हॉस्टल अधीक्षक ने आधीरात को मासूम बच्चों की पिटाई कर दी और फिर उन्हें हॉस्टल से निकाल दिया. हॉस्टल अधीक्षक की आधीरात को की गई इस करतूत से कई बच्चे पैदल चलकर घर पहुंचे और परिजनों को इसकी जानकारी दी. इसके बाद हड़कंप मच गया है. ग्रामीणों में जमकर नाराजगी देखी जा रही है. 

ये है मामला 

दरअसल, फरसाबहार विकासखंड से महज 10 किलोमीटर दूर संचालित प्री मैट्रिक छात्रावास के अधीक्षक नरसिंह मलार्ज ने 10 से 12 साल के अध्यनरत बच्चों की शराब के नशे में जमकर पिटाई कर दी. वहीं रात के अंधेरे में हॉस्टल से बाहर निकाल दिया. अधीक्षक की इस करतूत के बाद बच्चे पैदल अपने-अपने घर चले गए.

Latest and Breaking News on NDTV

इस घटना की जानकारी मिलते ही कुछ बच्चों के परिजन और ग्रामीण एकत्रित हुए और उन्होंने खूब नाराजगी व्यक्त करते हुए  कानूनी कार्रवाई की मांग की. साथ ही ऐसा कृत्य करने वाले अधीक्षक के खिलाफ जमकर हंगामा भी मचाया. 

हॉस्टल अधीक्षक ने शराब के नशे में ऐसा कृत्य करने की बात स्वीकार की. नशेड़ी अधीक्षक ने कहा कि बच्चों ने उसकी बात नहीं मानी, इसलिए बच्चों की पिटाई कर रात के अंधेरे में बाहर भगा दिया था. 

इधर इस पूरे मामले की जानकारी मिलने के बाद मंडल संयोजक लालदेव भगत घटना स्थल पर पहुंचे और उन्होंने ग्रामीणों से पंचनामा बनाकर शीर्ष अधिकारियों को प्रेषित कर कार्यवाही करने की बात कही है.  

ये भी पढ़ें बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ मिलेगी व्यावसायिक शिक्षा भी, दो बोर्ड Exam भी होंगे, जानें CM साय ने और क्या कहा?

ग्रामीणों ने लगाए ये आरोप 

ग्रामीणों ने कहा कि जब रात को बच्चे खाना खा रहे थे, उस दौरान उनसे जमकर मारपीट के साथ रात के अंधेरे में बाहर निकाल दिया. सबसे बड़ी बात तो यह है कि जो स्थानीय बच्चें हैं.वो अपने घर निकल गए. लेकिन जो बच्चे दूर-दराज के रहने वाले हैं. वे परेशान होते रहे.

इन दिनों जंगली जानवर हाथी और सर्पदंश से लगातार घटनाएं सामने आ रही हैं. ऐसे में आधीरात को बच्चों को हॉस्टल  बाहर निकालना सरासर गलत है. इतना ही नहीं ग्रामीणों का आरोप है कि इसके पूर्व भी छात्रावास अधीक्षक नरसिंह मलार्ज ऐसी घटना कर चुके हैं. उसके बाद भी उन्हें पहाड़ों से घिरे छात्रावास में दायित्व दिया जाना विभागीय अधिकारियों की उदासीनता को उजागर करता हैं. ग्रामीणों ने छात्रावास अधीक्षक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है 

ये भी पढ़ें चमड़ी उधड़ते तक वन विभाग के रेंजर को लोगों ने पीटा, अर्धनग्ध हालत में जान बचाकर भागे, जानें पूरा मामला

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Chhattisgarh: बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ मिलेगी व्यावसायिक शिक्षा भी, दो बोर्ड Exam भी होंगे, जानें CM साय ने और क्या कहा? 
Chhattisgarh : शराबी अधीक्षक ने बच्चों को पीटा, फिर आधीरात हॉस्टल से बाहर निकाल दिया, मचा बवाल 
bilaspur-Rahul Sarathi made a new record in powerlifting game, will represent India in Australia.
Next Article
Chhattisgarh: राहुल सारथी ने पावर लिफ्टिंग गेम में बनाया नया रिकॉर्ड, ऑस्ट्रेलिया में करेंगे भारत का प्रतिनिधित्व
Close
;