विज्ञापन
Story ProgressBack

Chhattisgarh NAN Scam के आरोपी टुटेजा और शुक्ला के मामले में घिरी ED, सुप्रीम कोर्ट ने हलफनामा देकर मांगा जवाब

Raipur Latest News: न्यायमूर्ति अभय एस ओका और न्यायमूर्ति अगस्टीन जॉर्ज मसीह की पीठ ने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि 2019 में प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) दाखिल किए जाने के बावजूद मामले में जांच अभी तक पूरी नहीं हुई है और पीएमएलए के तहत कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है.

Read Time: 3 mins
Chhattisgarh NAN Scam के आरोपी टुटेजा और शुक्ला के मामले में घिरी ED, सुप्रीम कोर्ट ने हलफनामा देकर मांगा जवाब

Chhattisgarh Liquor Scam News: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने मंगलवार को  छत्तीसगढ़ 'नागरिक आपूर्ति निगम' (Chhattisgarh NAN Scam ) के आरोपियों अनिल टुटेजा (Anil Tuteja) और आलोक शुक्ला (Alok Shukla) की जमानत की विरोध कर रही ईडी (ED) से सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को इस मामले में हलफनामा देकर जवाब मांगा है. कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) से कहा कि वह अपने इस दावे के समर्थन में दो सप्ताह के भीतर हलफनामा दाखिल करे कि पूर्व आईएएस अधिकारी अनिल टुटेजा ने छत्तीसगढ़ में कथित 'नागरिक आपूर्ति निगम' (NAN) घोटाले में उन्हें दी गई अग्रिम जमानत का दुरुपयोग किया था. 

न्यायमूर्ति अभय एस ओका और न्यायमूर्ति अगस्टीन जॉर्ज मसीह की पीठ ने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि 2019 में प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) दाखिल किए जाने के बावजूद मामले में जांच अभी तक पूरी नहीं हुई है और पीएमएलए के तहत कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है. आपको बता दें कि ईसीआईआर ईडी में दर्ज प्राथमिकी को कहा जाता है.

कोर्ट ने हलफनामा दाखिल करने के लिए दिया 15 दिन का वक्त

पीठ ने कहा कि विद्वान अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एएसजी का बयान दर्ज कर लिया गया है कि याचिकाकर्ता अपने तर्क के समर्थन में एक हलफनामा पेश करेंगे कि प्रतिवादियों (अनिल टुटेजा और आलोक शुक्ला) को दी गई अग्रिम जमानत की सुविधा का उन्होंने दुरुपयोग किया था. न्यायाधीश ने याद दिलाया कि अग्रिम जमानत देने का यह आदेश 14 अगस्त, 2020 का है. लिहाजा, हम याचिकाकर्ता को हलफनामा दायर करने के लिए दिए गए समय को आज से दो सप्ताह का और समय देते हैं.

ये भी पढ़ें- यहां उगाए जा रहे हैं 3.50 लाख रुपये किलो वाले आम, सीसीटीवी कैमरे से की जाती है रखवाली

हलफनामा दायर करने से की बचने की कोशिश

ईडी की ओर से अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) एसवी राजू ने कहा कि वह हलफनामा दायर नहीं करना चाहते हैं, क्योंकि इससे न्यायपालिका की बहुत खराब तस्वीर पेश होगी. इस पर जब शीर्ष अदालत ने राजू से पूछा कि आरोपी की ओर से अग्रिम जमानत का दुरुपयोग करने के आरोपों से न्यायपालिका के पास क्या सबूत है, तब जाकर सरकारी वकील ने कहा कि वह हलफनामा दायर करेंगे.

ये भी पढ़ें- CG News: छत्तीसगढ़ में अब नहीं भटकेंगे शहीदों के परिवार, राज्य सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम...

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Indian Railway: रेलवे डिपो में करंट लगने से छात्र की हुई मौत, ट्रेनी युवकों ने किया प्रदर्शन, लगाया बड़ा आरोप
Chhattisgarh NAN Scam के आरोपी टुटेजा और शुक्ला के मामले में घिरी ED, सुप्रीम कोर्ट ने हलफनामा देकर मांगा जवाब
Deputy CM Vijay Sharma issued instructions for formation of Martyr Police Cell kawardha news
Next Article
CG News: छत्तीसगढ़ में अब नहीं भटकेंगे शहीदों के परिवार, राज्य सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम..
Close
;