विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 07, 2023

Korba News: दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में से एक किंग कोबरा का होगा सर्वे, इसके बाद उठाया जाएंगे ये खास कदम

छत्तीसगढ़ सरकार ने दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में से एक किंग कोबरा के संरक्षण का फैसला किया. इसके तहत प्रदेश के कोरबा जिले में बाकायदा सांपों का सर्वे कराया जाएगा. इसके लिए बाकायदा निविदा आमंत्रित कर एक कंपनी को यह काम सौंपा गया है.

Read Time: 4 mins
Korba News: दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में से एक किंग कोबरा का होगा सर्वे, इसके बाद उठाया जाएंगे ये खास कदम

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ का कोरबा जिला (Korba District) मध्य भारत में किंग कोबरा (king cobra) का एक मात्र घर है. यह दुनिया का सबसे लंबा विषैला सर्प प्रजाति है, जो 18 फीट तक लंबा होता हैं. दो साल पहले इसके संरक्षण के लिए वन विभाग ने एक पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया था. इसके जरिए राज्य में पहली बार किंग कोबरा और इसके रहवास के बारे में विस्तृत जानकारियां इकठ्ठा की गई थी. इस दौरान छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले  के अलग-अलग क्षेत्र से किंग कोबरा की केंचुली और रहवास बिलों की जानकारी  इकट्ठा की गई. इससे इस बात की पुष्टि हुई कि  किंग कोबरा आम तौर पर कोरबा जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में उनके रहवास है.

Latest and Breaking News on NDTV

बारीकी से अध्ययन के लिए बुलाई निविदा

इस खास प्रजाति के सांप के बारे और बारीकी से अध्ययन करने  एवं इनके रहवास का सर्वेक्षण करने के लिए बाकायदा निविदा आमंत्रित की गई थी. इस निविदा का उद्देश्य स्थानीय लोगों को जागरूक करना और उनके माध्यम से इस दुर्लभ सरीसृप का संरक्षण करना और कोरबा जिले में बेहतर सर्पदंश में प्रबंधन करना आदि शामिल किया गया था. निविदा में भाग लेने वाली संस्था नोवा नेचर वेलफेयर सोसायटी रायपुर का चयन किया गया. यह संस्था अगले एक साल तक कोरबा जिले के शहर, ग्रामीण इलाकों  और आसपास के वनों में इस दुर्लभ सरीसृप और साथ ही साथ अन्य सरीसृपों पर अध्ययन कर विस्तृत रिपोर्ट वन विभाग को देगी.

ये भी पढ़ें- Raipur News : पूर्व CM डॉ. रमन सिंह ने PM नरेन्द्र मोदी को लिखा पत्र, CGPSC में हुए भ्रष्टाचार की CBI जांच कराने का किया आग्रह 

इन सवालों के ढूंढे जाएंगे जवाब

इस संस्था के कोरबा जिले में कार्यक्रम अधिकारी जितेंद्र सारथी ने बताया कि इस प्रोजेक्ट में  किंग कोबरा के बारे में विस्तृत अध्ययन कर  इससे  जुड़े कई सवाल जैसे क्यों यह जीव सिर्फ कोरबा में ही मिल रहे है. क्या इनकी संख्या घट रही या बढ़ रही है. इनकी  संख्या को लेकर कोई समस्याएं तो नहीं है.  ऐसे तमाम  सवालों की  रिपोर्ट और डेटा इकठ्ठा किया जाएगा.

ये भी पढ़ेंः दादी की सलाइन बॉटल पकड़ कर खड़ा 8 साल का पोता, सिस्टम को शर्मसार करने वाली तस्वीर
 

रिपोर्ट आने के बाद ये है कार्ययोजना

साथ ही किंग कोबरा के रहवास क्षेत्रों के आसपास बसी हुई  स्थानीय आबादी  को  प्रशिक्षण दिया जाएगा कि कैसे उस क्षेत्र में रहते हुए समन्वय बनाकर रहे और  मानव और वन्यजीव संघर्ष की स्थिति  में काम किया जाए. साथ ही स्कूली बच्चों में इसके बारे में  जागरुकता लाने के उद्देश्य से  स्कूलों में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिससे सर्प दंश के पीड़ितों को कैसे तात्कालिक इलाज किया जाए, इसकी जानकारी  आदि शामिल हैं. इस प्रोजेक्ट के दौरान संस्था द्वारा स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग एवं अन्य शासकीय विभागों के साथ समन्वय बना कर एक बेहतर कार्य प्रणाली तैयार किया जाएगा. यह छत्तीसगढ़ राज्य शासन एवं छत्तीसगढ़ वन विभाग द्वारा राज्य के कुछ बेहद दुर्लभ और विलुप्तप्राय जीवों के संरक्षण में एक अनुकरणीय पहल है.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MCB News: पति के मौत के बाद सालों भटकती रही पत्नी, फिर कहीं जाकर ऐसे मिली मुआवजे की राशि
Korba News: दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में से एक किंग कोबरा का होगा सर्वे, इसके बाद उठाया जाएंगे ये खास कदम
Deputy Chief Minister Arun Sao inaugurated works worth three crores and performed Bhoomi Pujan planted trees for environmental protection
Next Article
Chhattisgarh News: डिप्टी सीएम साव ने दुर्ग जिले को दिया तीन करोड़ का तोहफा, बोले-शहर के लिए तैयार है स्पेशल प्लान
Close
;