विज्ञापन
Story ProgressBack

मोहन सरकार में जनप्रतिनिधि की भी नहीं सुनते अफसर? विधायक जी को करनी पड़ी SDM साहब की चरण वंदना...

विधायक उमाकांत ने कहा जिले के कुछ अधिकारी अब अधिकारी नही रहे वो नेता बन गए हैं. अधिकारियों का काम छोड़कर वो नेता बनने में लगे हुए हैं. भ्रष्ट ठेकेदारों को बचाने का काम अधिकारी करते हैं.

Read Time: 3 min
मोहन सरकार में जनप्रतिनिधि की भी नहीं सुनते अफसर? विधायक जी को करनी पड़ी SDM साहब की चरण वंदना...
विधायक ने पकड़े एसडीएम के पैर

Madhya Pradesh News: कहा जाता है कि लोकतंत्र की व्यवस्था में जन प्रतिनिधि का पद सबसे बड़ा होता है. आखिर ऐसा हो भी क्यों ना, लोकतंत्र में जनता का राज होता है और जनता जिसे चुनेगी वो सर्वोपरि तो होना ही चाहिए, लेकिन विदिशा जिले के एक विधायक को एसडीएम के पैरों में गिरना पड़ गया. आपको ये सुनने में बेशक अजीब लगे लेकिन विदिशा जिले की सिरोंज सीट के विधायक को ऐसा ही करना पड़ गया. सिरोंज विधानसभा से भाजपा विधायक (BJP-- MLA) उमाकांत शर्मा अपनी विधानसभा में जल संकट की समस्या को लेकर ग्रामीणों के साथ एसडीएम के पास गए. यहां पहुंचकर विधायक ने पहले एसडीएम को अपनी समस्याओं के बारे में बताया, फिर वो उनके आगे गिड़गिड़ाने लगे और अंत में उन्होंने अपने शहर की समस्याओं को दूर करने के लिए एसडीएम के पैर पकड़ लिए.

30 से 40 बार आवेदन के बाद भी कुछ नहीं हुआ

विधायक उमाकांत शर्मा ने कहा कि शहर में पानी की समस्या है. इसके लिए प्रशासनिक अधिकारियों को 30 से 40 बार आवेदन दे चुका हूं, जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो अधिकारियों के पैर पड़कर ही उनसे अपनी विधानसभा की समस्याओं का समाधान करवा लूं. अब विधायक का पैर पड़ने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो 

सिरोंज विधानसभा विधायक उमाकांत शर्मा का एसडीएम हर्षल चौधरी का पैर पड़ने वाला वीडियो जमकर वायरल हो रहा है. वहीं कई लोग भाजपा विधायक पर सवाल खड़े करते नजर आए अपनी ही सत्ता में विधायक जी अधिकारियों के पैर पड़ रहे हैं तो जनता की क्या सुनवाई होती होगी.

ठेकेदारों पर लगे संरक्षण देने के आरोप 

विधायक उमाकांत शर्मा यही नहीं रुके उन्होंने नल जल योजना पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा लोक स्वास्थ यांत्रिक विभाग द्वारा ठेकेदारों को संरक्षण दिया जा रहा है. ठेकेदारों पर विभाग कार्यवाही से बचाता है नल जल योजना का कार्य कर रहे ठेकेदार अधिकारियों से मिलकर इस योजना में धांधली कर रहे है बहुत सारे ग्राम ऐसे हैं जहां आज भी ग्रामीण नल जल योजना का लाभ नहीं ले पा रहे हैं.
विधायक उमाकांत ने कहा जिले के कुछ अधिकारी अब अधिकारी नही रहे वो नेता बन गए हैं. अधिकारियों का काम छोड़कर वो नेता बनने में लगे हुए हैं. वहीं ठेकेदारों को बचाने का काम अधिकारी करते हैं. अगर अधिकारी से कोई कुछ कहता है तो उस पर एफआईआर की धमकी दी जाती है.

ये भी पढ़ें Coal Mine Rescue : कोयला चोरी करने गए युवक का नहीं मिल पा रहा कोई भी सुराग, 50 घंंटे से चल रहा है रेस्क्यू ऑपरेशन

एसडीएम के जवाब पर विधायक जी ने दागा सवाल

विधायक जी आप चार- पांच गांव का नाम बता दो, मैं चुनाव के पहले इन गांव में पानी की समस्या दूर करने का प्रयास करूंगा. विधायक ने कहा एसडीएम आप हो यह काम आपका है, किस गांव में पानी की समस्या है पता करवाइए और पानी की समस्या को दूर कीजिए.

ये भी पढ़ें Kisan Samman Nidhi: 9 करोड़ किसानों को मिलेगा आज 16वीं किस्त का तोहफा, इस तरह कर सकते हैं आप अपने नाम की जांच

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close