विज्ञापन
Story ProgressBack

Madhya Pradesh: खंडवा में इंडियन मुजाहिदीन के आंतकी मिलने के बाद MP में मचा बवाल, जानें इसको लेकर किसने क्या कहा   

Terrorists arrested from Madarsa: खंडवा में एक मदरसे से पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया. कथित तौर पर ये सभी इंडियन मुजाहिदीन के आतंकी हैं. इसको लेकर भाजपा विधायक ने बड़ा बयान दिया है.

Read Time: 3 mins
Madhya Pradesh: खंडवा में इंडियन मुजाहिदीन के आंतकी मिलने के बाद MP में मचा बवाल, जानें इसको लेकर किसने क्या कहा   
File Photo

BJP on Terrorist Arrest: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खंडवा (Khandwa) से इंडियन मुजाहिदीन (Indian Mujahideen) के कथित आतंकी को पकड़े जाने के बाद प्रदेश BJP के नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है. मामले को लेकर नेताओं ने बड़े और कठोर बयान दिए है. बीजेपी विधायक उषा ठाकुर (Usha Thakur) का कहना है कि राज्य में मदरसों को बंद होना चाहिए क्योंकि मदरसे आतंकी कनेक्शन का केंद्र रहे हैं. बीजेपी विधायक अभिलाष पांडे (Abhilash Pandey), जो विधानसभा में अशासकीय संकल्प लेकर आए हैं - मांग की है ... संविधान का अनुच्छेद 30 (Article 30) जो अल्पसंख्यकों को धार्मिक या भाषाई आधार पर शैक्षणिक संस्थाओं की स्थापना और प्रबंधन का अधिकार प्रदान करता है को समाप्त किया जाए. बता दें कि MP में सरकारी मान्यता प्राप्त कुल 1505 मदरसे हैं, जिसमें 9417 गैर मुस्लिम बच्चे भी पढ़ते हैं.

मदरसा का मतलब होता है – पढ़ने का स्थान यानि जहां पर शिक्षण कार्य होता है. मूल रूप से यह हिब्रू भाषा से अरबी में आया है, जिसे हिब्रू में मिदरसा कहा जाता है. विश्व का पहले मदरसे का नाम निज़ामिया मदरसा था जिसे सलजूक़ वज़ीर निज़ाम-उल-मुल्क ने बनवाया था. सालों पहले भी इस मदरसे में शिक्षा और भोजन के साथ आवासीय व्यवस्था पूरी तरह से निःशुल्क थी. 

अशासकीय संकल्प लेकर आए अभिलाष पांडे 

पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक खंडवा में पकड़े गए कथित आतंकी का कनेक्शन मदरसों से ढूंढ लाई हैं, तो वहीं बीजेपी विधायक अभिलाष पांडे इसके लिये बकायदा अशासकीय संकल्प ले आए है. अभिलाष पांडे की मांग है कि संविधान का अनुच्छेद 30 को समाप्त किया जाना चाहिए. यह अनुच्छेद अल्पसंख्यकों को धार्मिक या भाषाई आधार पर शैक्षणिक संस्थाओं की स्थापना और प्रबंधन का अधिकार प्रदान करता है.

मदरसा बोर्ड का संचालन सरकारी स्कूल की तरह होता है जो उर्दू माध्यम में पढ़ाई कराता है, वहीं स्वतंत्र मदरसे जो दर्स-ए-निजामी प्रणाली का पालन करते हैं, विश्वविद्यालय/कॉलेज की तरह काम करते हैं और अक्सर उच्च इस्लामी मदरसों जैसे दारुल उलूम देवबंद और नदवतुल उलेमा से संबद्ध होते हैं. ये मदरसे वैसे उसी पाठ्यक्रम को पढाते हैं जिसकी मान्यता सरकार देते हैं.

ये भी पढ़ें :- Vidhan Sabha Session: ये BJP विधायक लेकर आएंगे संविधान के आर्टिकल 30 को खत्म करने का अशासकीय संकल्प

उषा ठाकुर ने उठाए मदरसों पर सवाल

बीजेपी विधायक उषा ठाकुर का इस मामले पर बयान है कि राज्य में मदरसों को बंद होना चाहिए क्योंकि मदरसे आतंकी कनेक्शन का केंद्र रहे हैं. इसके बाद से पूरे मुद्दे ने तूल पकड़ ली है. कांग्रेस का कहना है कि ये संविधान से छेड़छाड़ है.

ये भी पढ़ें :- खंडवा से IM का आतंकी पकड़ाने के बाद, BJP विधायक ने मदरसों को लेकर दिया बड़ा बयान

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
PM College of Excellence: इंदौर से केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह 55 जिलों में करेंगे शुभारंभ, जानिए क्यों खास हैं ये संस्थान
Madhya Pradesh: खंडवा में इंडियन मुजाहिदीन के आंतकी मिलने के बाद MP में मचा बवाल, जानें इसको लेकर किसने क्या कहा   
IMD weather forecast Meteorological Center Bhopal issued an alert of heavy rain and lightning in Madhya Pradesh, know how to protect yourself
Next Article
MP Weather News: भारी बारिश और बिजली गिरने को लेकर IMD ने जारी किया अलर्ट, कैसे करें खुद का बचाव
Close
;